कौन हैं इलाहाबाद विश्वविद्यालय के नए कुलाधिपति आशीष कुमार चौहान

इलाहाबाद विश्वविद्यालय.

इलाहाबाद विश्वविद्यालय.

विश्वविद्यालय के और उसके सहायक कॉलेजों के सभी शिक्षकों एवं कर्मचारियों ने इस बात पर खुशी व्यक्त की है कि उन्हें आशीष चौहान जैसे लब्ध प्रतिष्ठित और डायनामिक सेप्टिक का नेतृत्व मिलेगा.

  • Share this:

प्रयागराज. इलाहाबाद विश्वविद्यालय के कुलाधिपति के रूप में आशीष कुमार चौहान को नियुक्त किया गया है. आशीष कुमार चौहान बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज के एम डी एवं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के संस्थापक सदस्य रहे हैं. उन्हें भारत में फाइनेंशियल डेरिवेटिव्स का जनक भी कहा जाता है. वे 2009 से बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज से जुड़े. उनके नेतृत्व में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज दुनिया का सबसे तेज गति से चलने वाला एक्सचेंज बन गया. उसने अपना आईपीओ भी पूरा किया.

बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज की राजस्व आय सुधारने तथा mobile stock trading लाने और करेंसी कमोडिटी इक्विटी डेरिवेटिव और स्टार्टअप में सहित अनेक नई दिशाओं में अपना कार्यक्षेत्र बढ़ाने का कार्य भी उन्ही के नेतृत्व में हुआ.

जब मुम्बई इंडियंस की आई पी एल टीम बनाई गई थी तो उसके सीईओ आशीष कुमार चौहान से उन्होंने इसके साथ ही रिलायंस ग्रुप के प्रेसिडेंट और सीआईए के रूप में वर्ष 2000 से 2009 तक काम किया. इस अवधि में कंपनी आई टी ई-कॉमर्स पब्लिक रिलेशंस मीडिया टेलीकॉम स्पोर्ट्स ऑर्गेनाइज्ड रिटेल आईपीओ पेट्रोकेमिकल रिफायनिंग ऑयल और गैस आदि क्षेत्रों में कंपनी को नेतृत्व दिया.

आशीष कुमार चौहान के करियर की शुरुआत
आशीष कुमार चौहान ने अपने करियर की शुरुआत आईडीबीआई में बैंकर के तौर पर की. वह यूएन, यू इन सी टी ऐ डी, ओ ई सी डी, कॉमनवेल्थ आदि अनेक संगठनों द्वारा आयोजित कांफ्रेंस में एक्सपर्ट के तौर पर आमंत्रित किए जा चुके हैं. वे राजस्व मंत्रालय एम एस एम ई मंत्रालय, सी बीडीटी, आर बी आई सेबी की पॉलिसी कमिटी के सदस्य भी रह चुके हैं. उन्होंने साउथ एशिया फेडरेशन आफ एक्सचेंज का नेतृत्व भी किया है, जिसमे 20 से ज़्यादा एक्सचेंज सदस्य हैं.

आशीष कुमार चौहान को अनेकों पुरुस्कार मिले हैं जिनमे प्रमुख हैं डिजिटल आइकॉन ऑफ द ईयर, एशियन टॉप बैंकर, टॉप 50 सी ई ओ इन द वर्ल्ड आदि हैं. वे अनेक लब्धप्रतिष्ठ संस्थानों के बोर्ड से भी सदस्य के रूप में जुड़े रहे हैं जिनमे प्रमुखतः हसीन आई आई एम ए जे एन आई एफ एम , निट, इन आई आई टी.

इस किताब के सह लेखक भी



वे रेयरसन यूनिवर्सिटी टोरंटो के विजिटिंग फैकल्टी और नॉटिंघम यूनिवर्सिटी बिज़नेस स्कूल के विशिष्ट प्रोफेसर भी हैं. वे बी एस ई पर लिखी किताब BSE A temple of wealth creation" के सह लेखक भी हैं. उनके अपने जीवन पर "स्थितप्रज्ञ The Process Unki of maintaining equilibrium" नामक पुस्तक लिखी गई है.

विश्वविद्यालय के और उसके सहायक कॉलेजों के सभी शिक्षकों एवं कर्मचारियों ने इस बात पर खुशी व्यक्त की है कि उन्हें आशीष चौहान जैसे लब्ध प्रतिष्ठित और डायनामिक सेप्टिक का नेतृत्व मिलेगा. उन्होंने चौहान का विद्यालय परिवार में स्वागत किया.

ये भी पढ़ें-

Sarkari Naukri: बिहार में हो सकती है 1.25 लाख शिक्षकों की बहाली, पढ़ें परा मामला

UP Board 12th Exam: यूपी बोर्ड की 12वीं की परीक्षा पर कब होगा फैसला, डिप्टी सीएम ने बताया

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज