NISP 2021 : UGC ने देगा स्टार्टअप की ट्रेनिंग, विश्वविद्यालयों से 25 मई तक मांगे फैकल्टी के नाम

उच्च शिक्षण संस्थानों को नई शिक्षा नीति 2020 के तहत अपने यहां इनोवेशन व स्टार्टअप पॉलिसी लागू करनी है.

उच्च शिक्षण संस्थानों को नई शिक्षा नीति 2020 के तहत अपने यहां इनोवेशन व स्टार्टअप पॉलिसी लागू करनी है.

NISP 2021 : नई शिक्षा नीति 2020 के तहत उच्च शिक्षण संस्थानों में नेशनल इनोवेशन एंड स्टार्टअप पॉलिसी लागू करवाने के लिए यूजीसी ने विश्वविद्यालयों और कॉलेजों से एंटरप्रोन्योरशिप में रुचि रखने वाले फैकल्टी के नाम मांगे हैं. इन्हें ऑनलाइन इनोवेशन और स्टार्टअप की ट्रेनिंग दी जाएगी.

  • Share this:

रांची. विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) ने इनोवेशन और स्टार्टअप को बढ़ावा देने के लिए सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को पत्र लिखा है. पत्र में कहा गया है कि वे अपने यहां से वैसे फैकल्टी का नाम भेजें जो इनोवेशन व एंटरप्रेन्योरशिप में रुचि रखते हों. ऐसे फैकल्टी की पूरी जानकारी 25 मई तक mic.gov.in पर जाकर सबमिट करनी है. इन शिक्षकों को जून-जुलाई में ऑनलाइन ट्रेनिंग दी जाएगी. ट्रेनिंग में इनोवेशन व स्टार्टअप पॉलिसी और उनके विभिन्न पहलुओं पर विस्तृत जानकारी दी जाएगी. ताकि वे छात्रों को स्टार्टअप से जोड़ सकें. झारखंड के रांची विश्‍वविद्यालय व डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी विवि भी इसी तैयारी में जुटे हुए हैं.

दरअसल, उच्च शिक्षण संस्थानों को नई शिक्षा नीति 2020 के तहत अपने यहां इनोवेशन व स्टार्टअप पॉलिसी लागू करनी है. इसके साथ शिक्षण संस्थान एक्शन प्लान भी तैयार करेंगे. शिक्षण संस्थानों द्वारा इनोवेशन व स्टार्टअप पॉलिसी लागू करने और फिर एक्शन प्लान तैयार करने के बाद इस दिशा में हो रहे कार्यों की मॉनिटरिंग भी की जाएगी. इसके बाद इससे संस्थान पर पड़ने वाले प्रभाव का भी आंकलन किया जाएगा.

3000 सीनियर फैकल्टी कर चुके हैं ज्वाइन 

केंद्र सरकार ने शिक्षा मंत्रालय ने उच्च शिक्षण संस्थानों के लिए नेशनल इनोवेशन एंड स्टार्टअप पॉलिसी (NISP) शुरू की है. इसके तहत तीन फेज में फैकल्टी को ट्रेनिंग देकर तैयार किया जाएगा. ये फैकल्टी अपने संस्थान में इनोवेशन व स्टार्टअप के लिए कार्य करेंगे. छात्र-छात्राओं से लेकर फैकल्टी तक को इनोवेशन के प्रति जागरूक किया जायेगा ताकि इसका फायदा समाज व देश को मिले. दो फेज के तहत देशभर से 1980 संस्थानों के 3000 सीनियर फैकल्टी इसे ज्वाइन कर लिए हैं. अब तीसरे फेज में वे विश्‍वविद्यालय फैकल्टी का नाम देंगे, जिन्होंने पूर्व के दो फेज में नाम नहीं भेजे हैं.
ये भी पढ़ें- 

Assam, SEBA 10th Board Exam 2021: असम में होंगी 10वीं बोर्ड की परीक्षाएं, बोर्ड ने किया ये ऐलान

Success Story: पिता चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारी, बेटा 7वीं रैंक हासिल कर बना PCS

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज