Home /News /education /

MBBS Course : एमबीबीएस फर्स्ट ईयर में हुए फेल तो सेकेंड ईयर में नहीं मिलेगा एडमिशन

MBBS Course : एमबीबीएस फर्स्ट ईयर में हुए फेल तो सेकेंड ईयर में नहीं मिलेगा एडमिशन


MBBS Course : आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में एबीबीएस फर्स्ट ईयर के छात्रों ने याचिका दायर की थी.

MBBS Course : आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में एबीबीएस फर्स्ट ईयर के छात्रों ने याचिका दायर की थी.

MBBS Course : नेशनल मेडिकल कमीशन ने यह एडवाइजरी आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में दायर एक याचिका के बाद जारी किया है. हाईकोर्ट में एनटीआर यूनिवर्सिटी के एमबीबीएस फर्स्ट ईयर में फेल हुए छात्रों ने याचिका दायर की थी. उन्होंने हाईकोर्ट से फेल हुए छात्रों को सेकेंड ईयर में प्रमोट करने के लिए निर्देश जारी करने का आग्रह किया था. याचिककर्ताओं ने पहले सिंगल बेंच में याचिका दायर किया और फिर यहां खारिज होने के बाद डिवीजन बेंच में. लेकिन यहां भी निराशा हाथ लगी.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. MBBS Course : नेशनल मेडिकल कमीशन यानी एनएमसी (NMC) ने मेडिकल के अंडर ग्रेजुएट कोर्स की पढ़ाई कर रहे छात्रों के लिए महत्वपूर्ण एडवाइजरी जारी की है. एमबीबीएस फर्स्ट ईयर में फेल हुए तो सेकेंड ईयर में एडमिशन नहीं मिल सकेगा. इस फैसले से एमबीबीएस फर्स्ट ईयर के 83 हजार छात्र प्रभावित होंगे. मेडिकल एजुकेशन के एक्सपर्ट की इस नए नियम को लेकर मिली-जुली राय है. फायदे की बात करें तो एक्सपर्ट का कहना है कि इससे फर्स्ट ईयर की पढ़ाई को छात्र गंभीरता से लेंगे. वहीं, नुकसान यह है कि यदि कोई मेडिकल यूनिवर्सिटी सप्लीमेंट्री एग्जाम देरी से करवाती है और रिजल्ट आने में देरी होती है तो सेकेंड ईयर की पढ़ाई का नुकसान होगा. सेकेंड ईयर की क्लासेज पहले ही शुरू हो चुकी होंगी.

    रिपोर्ट के अनुसार, नेशनल मेडिकल कमीशन ने यह एडवाइजरी आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में हुई एक सुनवाई के बाद लिया है. आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट में डॉ. एनटीआर यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज के उन छात्रों ने याचिका दायर की थी जो फर्स्ट ईयर में पास नहीं हो सके थे. उन्होंने याचिका में कोर्ट से फर्स्ट ईयर में फेल छात्रों को प्रमोट करने के लिए एनटीआर यूनिवर्सिटी और एनएमसी को निर्देश देने की मांग की थी. आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट की एकल पीठ ने याचिका खारिज कर दी थी.

    इसके बाद छात्रों ने एकल पीठ के फैसले को डिवीजन बेंच में चुनौती दी थी. उनका कहना था कि एकल पीठ छात्रों की उन मुश्किलों को समझ पाने में असफल रही है जो उन्होंने महामारी के दौरान झेला है. हालांकि डिवीजन बेंच ने भी एकल पीठ के फैसले पर रोक लगाने से इनकार कर कर दिया.

    ये भी पढ़ें 

    Sarkari Naukri 2021 : क्लर्क, टैक्स असिस्टेंट की नौकरियों से अप्रेंटिस और इंटर्न तक की बंपर वैकेंसी
    बिहार: कर लें तैयारी! 45, 852 शिक्षकों की BPSC से होगी नियुक्ति, देखें जिलावार रिक्तियों की स्थिति

    Tags: Education, MBBS, MBBS student

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर