UP Board Exams 2021: कोरोना के बीच कैसे परीक्षा देंगे यूपी बोर्ड के 56 लाख छात्र! परीक्षा टालने की मांग

UP Board Exams 2021: यूपी में 8 मई से बोर्ड परीक्षाएं प्रारंभ होनी हैं

UP Board Exams 2021: यूपी में 8 मई से बोर्ड परीक्षाएं प्रारंभ होनी हैं

Cancel Board Exams 2021 सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित और रद्द होने के बाद उत्तर प्रदेश में भी 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं टालने की मांगें उठने लगी हैं. पीएसपी लोहिया प्रमुख शिवपाल यादव और भाजपा के एमएलसी उमेश द्विवेदी ने परीक्षाएं टालने की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 14, 2021, 10:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं रद्द व स्थगित होने के बाद यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं पर सवाल उठने लगे हैं. कहा जा रहा है कि कोरोना महामारी से सीबीएसई बोर्ड के करीब 30 लाख छात्रों को खतरा था. ऐसे में यूपी बोर्ड के भी 56 लाख से अधिक छात्रों को खतरे में कैसे डाला जा सकता है. यूपी बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित करने मांग जोर पकड़ने लगी है. इसी क्रम में पीएसपी लोहिया प्रमुख शिवपाल यादव ने भी बोर्ड परीक्षाओं को लेकर सरकार से मांग की है. शिवपाल यादव ने कहा है कि कोरोना के प्रकोप को देखते हुए 8 मई से शुरू होने वाली 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं का आगे बढ़ाया जाना चाहिए.

शिवपाल यादव ने ट्वीट करते हुए कहा कि यूपी में कोरोना संक्रमण और इससे होने वाली मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है. कोरोना के बढ़ते प्रकोप और अनिश्चितता व संशय के मद्देनजर 08 मई से शुरू होने वाली बोर्ड परीक्षाओं को स्थिति सामान्य होने तक स्थगित कर देना चाहिए. शिवपाल यादव ने ट्वीट किया है, “उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण और इससे होने वाली मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है. कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप, वर्तमान हालात, अनिश्चितता व संशय को देखते हुए 8 मई से शुरू होने वाली यूपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं को स्थिति सामान्य होने तक आगे बढ़ाया जाना चाहिए.”

भाजपा के एमएलसी ने लिखा पत्र 

उत्तर प्रदेश में विपक्षी दल ही नहीं, भाजपा नेताओं ने भी बोर्ड परीक्षाएं स्थगित करने की मांग शुरू कर दी है. केंद्र सरकार द्वारा सीबीएसई बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित करने का फैसला लेने के बाद यूपी में भाजपा एमएलसी, शिक्षक लखनऊ उमेश द्विवेदी ने उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा को पत्र लिखा है. जिसमें उन्होंने सीबीएसई की तर्ज पर यूपी बोर्ड की हाई स्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षाएं स्थगित करनेकी मांग की है.
56 लाख से अधिक छात्र देंगे परीक्षा

इस बार हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा में कुल 56,03,813 छात्रों ने रजिस्ट्रेशन कराया है. इसमें हाइस्कूल के 29,94,312 और इंटरमीडिएट के 26,09,501 छात्र शामिल हैं. दोनों परीक्षाओं में कुल 31,47,793 बालक और 24,56,020 बालिकाएं रजिस्टर्ड हैं. हाईस्कूल परीक्षा में 16,74,022 बालक तथा 1320290 बालिकायें कुल 2994,312 परीक्षार्थी एवं इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा में 14,73,771 बालक तथा 11,35,730 बालिकायें कुल 26,09,501 परीक्षार्थी रजिस्टर्ड हैं.

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी हुए संक्रमित



उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण की स्थिति का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी संक्रमित हो गए हैं. इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के भी संक्रमित होने की खबर है. उत्तर प्रदेश इस वक्त देश में कोरोना के बढ़ रहे केस के मामले में दूसरे स्थान पर है. यहां पिछले एक सप्ताह में कोरोना संक्रमितों की संख्या में 204 फीसदी का इजाफा हुआ है. बुधवार को रिकॉर्ड 1800 से अधिक मामले रिपोर्ट हुए हैं. यह अभी तक का सबसे बड़ा आंकड़ा है.

ये भी पढ़ें- 

UPSC Topper Story : चार बार असफल होने के बाद भी विक्रम ने नहीं मानी हार, बने आईएएस

कोरोना की वजह से CBSE समेत कैंसिल हुए कौन-कौन से एग्जाम, यहां देखिए

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज