Pariksha Pe Charcha LIVE Updates : मोदी सर ने बच्चों को दिए सफल होने के 10 मंत्र, आप भी पढ़ें

परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम

परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम

Pariksha Pe Charcha 2021 : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए छात्रों, उनके अभिभावकों और शिक्षकों से संवाद किया. इस दौरान उन्होंने परीक्षा को लेकर कई सुझाव दिए.

  • Share this:
नई दिल्ली.  पीएम नरेन्द्र मोदी ने परीक्षाओं को लेकर 'परीक्षा पे चर्चा' के दौरान बच्चों को कई सारे मंत्र दिए. उन्होंने बच्चों को तनावमुक्त रहने के साथ साथ कई सारे टिप्स भी दिए. पढ़ें खास बातें...

  • परीक्षा आखिरी पड़ाव नहीं है

  • जो लोग सफल होते हैं वे सभी विषयों में पारंगत नहीं होते, बल्कि वे किसी एक विषय में निपुण होते हैं. इसलिए किसी एक विषय में महारथ हासिल करें

  • परीक्षा में समय को बराबर-बराबर बांटना चाहिए

  • खाली समय को खाली न समझें, ये खजाना है. ये एक अवसर है. आपकी दिनचर्या में खाली समय के पल होने ही चाहिए वरना जिंदगी नीरस हो जाती है.

  • क्रिएटिविटी का दायरा नॉलेज से बहुत दूर ले जाता है मोदी सर ने कहा, "जहां न पहुंचे रवि, वहां पहुंचे कवि"



  • खाली समय में हमें जिज्ञासा बढ़ाने वाली चीजें करनी चाहिए. इसका असर सीधे दिखाई नहीं देता लेकिन जीवन पर इसका गहरा प्रभाव पड़ता है.

  • अपने जीवन के कठिन रहे लेकिन अब आप उसे आसानी से कर पा रहे हैं. ऐसे कामों की लिस्ट बनाएं तो कभी आपको किसी से भी कठिन वाला सवाल नहीं पूछना पड़ेगा क्योंकि आपको कुछ भी कठिन लगेगा ही नहीं.

  • भले ही आपको कुछ विषय मुश्किल लगते हों आपको बस उनसे भागना नहीं है.

  • जब कठिन के साथ एडजस्ट करेंगे तो सरल अपने आप और सरल हो जाता था. इसलिए पहले कठिन चीजों को हल करना चाहिए.

  • पंसद-नापसंद मनुष्य का स्वभाव है. जब आपको कुछ चीजें ज्यादा अच्छी लगती हैं तो उनके साथ हम सहज हो जाते हैं लेकिन जिनके साथ हम सहज नहीं होते उनके साथ 80 प्रतिशत एनर्जी लगा देते हैं. ऐसे में स्टूडेंट्स को अपनी एनर्जी समान रूप से बांटनी चाहिए


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को 'परीक्षा पे चर्चा' कार्यक्रम के चौथे एडिशन में करीब 14 लाख छात्रों, उनके अभिभावकों और शिक्षकों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए संवाद किया. यह पहला 'परीक्षा पे चर्चा' कार्यक्रम था जिसका वर्चुअल आयोजन किया गया था. कार्यक्रम में प्रधानमंत्री ने छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के साथ मूल्यवान सुझाव साझा किए. इस दौरान पीएम ने शिक्षकों और अभिभावकों से भी संवाद किया. इस कार्यक्रम का मकसद यह सुनिश्चित करना था कि छात्र तनावमुक्त होकर आगामी बोर्ड एवं प्रवेश परीक्षाएं दें.

परीक्षा पे चर्चा कार्यक्रम के लिए शिक्षा मंत्रालय की ओर से इसी साल 17 फरवरी से 24 मार्च के बीच अलग-अलग विषयों पर नौंवी से 12वीं तक के छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के लिए एक ऑनलाइन रचनात्मक प्रतियोगिता आयोजित की गई थी.

81 विदेशी देशों के छात्र

इसमें 10.5 लाख छात्रों, 2.6 लाख शिक्षकों और 92 हजार अभिभावकों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया. भाग लेने वाले 60 प्रतिशत से ज्यादा छात्र 9वीं और 10वीं कक्षा के हैं. पहली बार 81 विदेशी देशों के छात्रों ने ‘परीक्षा पे चर्चा’ के क्रिएटिव राइटिंग कम्पटीशन में भाग लिया था.

ये भी पढ़ें- 

CBSE Board Exam 2021 : सीबीएसई बोर्ड की 10वीं, 12वीं की परीक्षाएं होगी रद्द ?,देखें डिटेल
General Knowledge: सरकारी नौकरी के लिए पढ़ें बार-बार पूछे जाने वाले जनरल नॉलेज के टॉप-10 सवाल

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज