कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन, प्राइवेट स्कूल ले रहा है रेगुलर क्लास

छोटे बच्चों को स्कूल में आने की अनुमति नहीं है. (सांकेतिक फोटो)
छोटे बच्चों को स्कूल में आने की अनुमति नहीं है. (सांकेतिक फोटो)

कोरोना वायरस का कहर जारी है, ऐसे में छोटे बच्चों को स्कूल में आने की अनुमति नहीं है. लेकिन स्कूल को किसी की कोई फिक्र नहीं है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 4:57 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हरियाणा में भिवानी जिले के बडेसरा गांव में कोविड-19 के नियमों का उल्लंघन करते हुए एक निजी स्कूल द्वारा कक्षा एक से 12वीं तक कक्षाओं का संचालन करने का मामला सामने आया है. ‘सीएम फ्लाइंग’ की टीम द्वारा शुक्रवार को निजी स्कूल में मारे गये छापे के दौरान यह मामला सामने आया है.

स्कूल खोलने से जुड़ा दिशा-निर्देश जारी नहीं किया है 
जिला शिक्षा अधिकारी अजित श्योराण और सब इंस्पेक्टर सुनील कुमार ने इस संबंध में कहा कि सरकार ने अभी तक कोई भी ऐसा दिशा-निर्देश जारी नहीं किया है जिसके तहत पहली से आठवीं तक के छात्रों को स्कूल में बुलाया जाये लेकिन स्कूल प्रबंधन ने नियमों का उल्लंघन किया है.

छोटे बच्चों को स्कूल में आने की अनुमति नहीं
उन्होंने कहा, ‘‘इनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी क्योंकि कोरोना वायरस का कहर जारी है, ऐसे में छोटे बच्चों को स्कूल में आने की अनुमति नहीं है. लेकिन स्कूल को किसी की कोई फिक्र नहीं है.’’ (भाषा के इनपुट के साथ)



अनलॉक 5.0 के मुताबिक स्कूलों को 15 अक्टूबर से खोला जाना था
पिछले कई महीनों से देश भर में स्कूल कॉलेज बंद हैं. कोरोना वायरस महामारी अभी पूरी तरह से खत्म नहीं हुई है लेकिन फिर भी स्कूलों को खोलने की कोशिश जारी है. अनलॉक 5.0 के मुताबिक स्कूलों को 15 अक्टूबर से खोला जाना था लेकिन इस मामले में अंतिम फैसला राज्य सरकारों को ही लेना था. इसलिए कुछ राज्यों ने अपने यहां कोरोना वायरस की स्थिति को देखते हुए स्कूलों को 15 अक्टूबर से न खोलने का फैसला किया.

ये भी पढ़ें-
RRB Exam Date 2020: रेलवे मिनिस्ट्रियल व आइसोलेटेड कैटेगिरी पोस्ट के लिए एग्जाम डेट जारी
SSC MTS पेपर-2 रिजल्ट ssc.nic.in पर जारी, 20 हजार से ज्यादा कैंडिडेट्स क्वालीफाई

स्कूलों को पूरी सावधानी के साथ ही खोलना चाहिए
हालांकि, इस वक्त भारत में कोरोना वायरस महामारी के कम होने के संकेत मिल रहे हैं लेकिन अभी भी यह पूरी तरह से खत्म नहीं हुआ है ऐसे में स्कूलों को पूरी सावधानी के साथ ही खोलना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज