8393 टीचर्स को मिलेगी नौकरी, यहां खुले 1467 स्मार्ट स्कूल, जानिए पूरी डिटेल

ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से डिजिटल शैक्षिक बुनियादी ढांचे को मजबूत करना है.
ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से डिजिटल शैक्षिक बुनियादी ढांचे को मजबूत करना है.

मुख्यमंत्री ने राज्य में COVID-19 संकट के बावजूद 100 प्रतिशत परिणाम प्राप्त करने के लिए स्कूलों को सशक्त बनाने के लिए शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए मिशन शत प्रतिशत की शुरुआत की.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2020, 8:37 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने शनिवार को 372 प्राथमिक सरकारी स्कूलों में छात्रों को लगभग 2,625 tablets बांटकर 'मिशन शत प्रतिशत' (Mission 100 per sent) के तहत 1,467 स्मार्ट स्कूलों का उद्घाटन किया. मुख्यमंत्री ने राज्य में COVID-19 संकट के बावजूद 100 प्रतिशत परिणाम प्राप्त करने के लिए स्कूलों को सशक्त बनाने के लिए शैक्षणिक वर्ष 2020-21 के लिए मिशन शत प्रतिशत की शुरुआत की.


8393  pre-primary स्कूल शिक्षकों के पदों को क्रिएट करने के लिए कहा
वर्चुअल इवेंट में, जिसमें उन्होंने 4,000 से अधिक स्कूलों के शिक्षकों, छात्रों और उनके माता-पिता से जोड़ा. ये इवेंट WebEx, Facebook और YouTube के माध्यम से हुआ. इसमें मंत्रियों, विधायकों, अधिकारियों और गैर-शिक्षण कर्मचारियों को मुख्यमंत्री ने 8393  pre-primary स्कूल शिक्षकों के पदों को क्रिएट करने के लिए कहा, साथ ही कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा इन्हें जल्द ही भरा जाएगा.


उद्देश्य डिजिटल शिक्षा के बुनियादी ढाँचे को मजबूत करना
COVID-19 स्थिति के मद्देनजर शिक्षा में चुनौतियों की ओर इशारा करते हुए, कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि मिशन शत प्रतिशत का उद्देश्य डिजिटल शिक्षा के बुनियादी ढाँचे को मजबूत करना था.




ये भी पढ़ें-
NEET स्टेट काउंसलिंग 2020: MBBS, BDS काउंसलिंग के लिए स्टेट-वाइज शेड्यूल चेक करें
CBSE CTET 2020: आज से बदल सकेंगे परीक्षा केंद्र, जनवरी में होगी परीक्षा, जानें डिटेल


मिशन का उद्देश्य जूम ऐप, रेडियो चैनल, टीवी के माध्यम से व्याख्यान का प्रसारण और शिक्षकों द्वारा तैयार वीडियो के माध्यम से ई-बुक्स, EDUSAT व्याख्यान, ई-सामग्री और ऑनलाइन कक्षाओं के माध्यम से डिजिटल शैक्षिक बुनियादी ढांचे को मजबूत करना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज