• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • QS WORLD UNIVERSITY RANKINGS 3 INDIAN INSTITUTES IN WORLD TOP 200 RANKING UNIVERSITIES

QS World University Rankings : टॉप-200 में भारत के तीन विश्वविद्यालय, देखें डिटेल

आईआईटी गुवाहाटी ने 41वीं और आईटाईटी दिल्ली ने 185वीं रैंकिंग हासिल की है.

QS World University Rankings : क्यूएस वर्ल्ड रैंकिंग में आईआईटी बॉम्बे ने 41वीं रैंक हासिल करके भारत का शीर्ष विश्वविद्यालय बन गया है. जबकि आईआईटी दिल्ली 185वीं रैंक हासिल की है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. लंदन बेस्ड क्यूएस (क्वाक्वेरेली साइमंड्स) ने बुधवार को दुनिया के टॉप-200 विश्वविदयालयों की रैंकिंग जारी की. इसमें तीन भारतीय शिक्षण संस्थानों ने जगह बनाई है. बेंगलुरु स्थित भारतीय विज्ञान संस्थान (IISC) ने साइटेशन पर फैकल्टी मीट्रिक यानी शोध पेपर प्रति संकाय सदस्य के लिए 100 में से 100 स्कोर हासिल किया है. यह 100 में से 100 स्कोर करने वाला भारत का पहला इंस्टीट्यूट बन गया है. इसकी रैंकिंग 186 रही है. जबकि आईआईटी गुवाहाटी ने साइटेशन पर फैकल्टी मीट्रिक में 41वीं रैंक हासिल की है. क्यूएस वर्ल्ड रैंकिंग में आईआईटी बॉम्बे भारत का शीर्ष शिक्षण संस्थान रहा है. उसने 177वीं रैंक के साथ यह जगह कायम रखी है. आईटाईटी दिल्ली ने 185वीं रैंकिंग हासिल की है. आईआईटी दिल्ली भारत का दूसरा सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय बन गया है.

    क्यूएस वर्ल्ड यूनिवर्सिटी रैंकिंग में आईआईटी बॉम्बे लगातार चौथे साल भारत का शीर्ष संस्थान रहा है. लेकिन 2021 के मुकाबले इस बार आईआईटी बॉम्बे की रैंकिंग चार पायदान फिसलकर 177 पर चली गई है. हालांकि आईआईटी दिल्ली की रैंकिंग में सुधार हुआ है. पिछले साल इसकी रैंकिंग 193 थी लेकिन इस बार 185 रही है. इसके अलावा इस पहली बार विश्व के शीर्ष 400 विश्वविद्यालयों में आईआईटी मद्रास ने भी 20 पायदान की छलांग लगाई है. इसकी रैंकिंग अब 255 हो गई है. यह आईआईटी मद्रास की 2017 के बाद सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग है. वहीं, आईआईटी खड़गपुर की रैंकिंग 280 और आईआईटी गुवाहाटी संयुक्त रूप से 395वें नंबर पर हैं. आईआईटी गुवाहाटी पहली बार वैश्विक स्तर पर शीर्ष-400 संस्थानों में शामिल हुआ है.
    प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाई

    क्यूएस वर्ल्ड रैंकिंग में अच्छे परफॉर्म को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईआईएससी बेंगलुरु, आईआईटी बॉम्बे को बधाई दी है. उन्होंने ट्वीट करके कहा कि भारत के और विश्वविद्यालय व संस्थान वैश्विक उत्कृष्ठता में जगह सुनिश्चित करें और युवाओं में बौद्धिक कौशल को सहयोग मिले. इसके लिए प्रयास किए जा रहे हैं.

    (भाषा के इनपुट के साथ)
    Published by:Praveen Singh
    First published: