Ranchi University Webinar: एनएसएस और यूनिसेफ के वेबिनार में बताए होम आइसोलेशन के ये लाभ

रांची विवि की कुलपति डॉ कामिनी कुमार ने एनएसएस वालेंटियर्स से मास्क पहनने को लेकर जागरूकता फैलाने की अपील की.

रांची विवि की कुलपति डॉ कामिनी कुमार ने एनएसएस वालेंटियर्स से मास्क पहनने को लेकर जागरूकता फैलाने की अपील की.

Ranchi University Webinar: रांची विवि के एनएसएस यूनिट और यूनिसेफ झारखंड ने मिलकर होम आइसोलेशन तकनीक विषय पर वेबिनार का आयोजन किया. इसमें एनएसएस वालेंटियर्स से कोरोना से बचाव के लिए मास्क पहनने और वैक्सीन लगवाने को लेकर जागरूकता फैलाने की अपील की गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 30, 2021, 8:03 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. रांची विश्वविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई (NSS) और यूनिसेफ, झारखंड के संयुक्त तत्वाधान में होम आइसोलेशन तकनीक विषय पर एकदिवसीय वेबिनार का आयोजन किया गया. वेबिनार में मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय की कुलपति डॉ. कामिनी कुमार थीं. उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि हमें स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से जारी कोविड गाइडलाइन का पालन करना चाहिए. प्रतिदिन 15 से 20 मिनट योग और प्राणायाम करके इम्युनिटी मजबूत कर सकते हैं. कुलपति ने एनएसएस के स्वयंसेवकों से घर में भी मास्क पहनने के लिए जागरूता फैलाने की अपील की.

वेबिनार कार्यक्रम में एनएसएस, गुवाहाटी के क्षेत्रीय निदेशक दीपक कुमार ने कहा कि वर्तमान चुनौती को अवसर में बदलना होगा. आज आप एनएसएस के कार्यकर्ता के रूप में ऑनलाइन कितनी सेवा दे सकते हैं यह महत्वपूर्ण है. एक या दो मिनट का वीडियो बनाकर यूट्यूब और सोशल मीडिया पर आप डालें. वॉट्सएप पर जागरूकता अभियान चलाएं. एनएसएस के कार्यकर्ताओं को कोरोना वैक्सीन लगवाने के प्रेरित करने वाले अभियान भी चलाना चाहिए.

104 पर कॉल करके ले सकते हैं चिकित्सकीय परामर्श

यूनीसेफ की कम्युनिकेशन पदाधिकारी आस्था अलंग ने कहा कि जिन कोरोना पीड़ितों को चिकित्सकों ने घर पर आइसोलेट होने को कहा है, उन्हें दिए गए निर्देशों को पालन करना चाहिए. राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, झारखंड और यूनिसेफ की तरफ से डॉ. वनेश माथुर ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से बताया कि कोरोना संक्रमित के घर पर इलाज से कई फायदे हैं.
उन्होंने बताया कि माइल्ड संक्रमण से ग्रसित मरीज घर पर ही इलाज करके कई अन्य तरह के संक्रमणों से बच सकता है. झारखंड सरकार के होम आइसोलेशन सिस्टम मैनेजमेंट की वेबसाइट swaraksha.nic.in पर जाकर होम आइसोलेशन से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारियां हासिल कर सकते हैं. इसके अलावा टोल फ्री नंबर 104 पर कॉल करके चिकित्सकीय परामर्श ले सकते हैं.

सभी विश्वविद्यालयों में बने हैं स्ट्रेस मैनेजमेंट सेल

एनएसएस पटना के क्षेत्रीय निदेशक पीयूष परांजपे ने कहा कि रांची विश्वविद्यालय का यह प्रयास सराहनीय है.  डरना नहीं, लड़ना है. कार्यक्रम में यूनिसेफ से आस्था अलंग, एचआरडीसी, रांची विश्वविद्यालय के निदेशक डॉ ज्योति कुमार, डी एस डब्ल्यू डॉ राजकुमार शर्मा, डॉ कमल कुमार बोस, डॉ कुमारी उर्वशी, डॉ सुषमा एक्का, डॉ भारती द्विवेदी, डॉ सुब्रतो सिन्हा, डॉ हेमंत कुमार, प्रो. अपर्णा मिश्रा, अनुभव चक्रवर्ती, डॉ प्रियंका सिंह सहित कुल 55 कार्यक्रम पदाधिकारी एवं 270 स्वयंसेवक शामिल हुए.



कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन एन एस एस , रांची विश्वविद्यालय के कार्यक्रम समन्वयक डॉ ब्रजेश कुमार ने किया. कार्यक्रम के अंत में डॉ ब्रजेश कुमार  ने यह घोषणा की कि राज्य के सभी विश्वविद्यालयों ने एक स्ट्रेस मैनेजमेंट सेल का निर्माण किया है जिसके तहत हेल्पलाइन नंबर जारी किए गए हैं.

ये भी पढ़ें-

UP: कोरोना संक्रमण के चलते 20 मई तक कक्षा 1 से 8 तक के सभी सरकारी विद्यालय बंद किए गए

सोनू सूद की सरकार से नेक अपील- कोरोना से मां-बाप खोने वाले बच्‍चों को दीज‍िए मुफ्त श‍िक्षा

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज