Rajasthan Board: राजस्थान में बंद हो सकती हैं ये 11 स्कॉलरशिप, बोर्ड ने सरकार को भेजा प्रस्ताव

शिक्षा विभाग के अनुसार, इन स्कॉलरशिप में धनराशि अल्प होने के कारण बहुत कम आवेदन आते हैं.

शिक्षा विभाग के अनुसार, इन स्कॉलरशिप में धनराशि अल्प होने के कारण बहुत कम आवेदन आते हैं.

Rajasthan Board: राजस्थान का माध्यमिक शिक्षा बोर्ड छात्रों को झटका देने की तैयारी में है. बोर्ड ने 11 स्कॉलरशिप को बंद करने का प्रस्ताव भेजा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 28, 2021, 3:13 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. राजस्थान में माध्यमिक शिक्षा बोर्ड कई स्कॉलरशिप बंद करके छात्रों को झटका देने की तैयारी में है. रिपोर्ट के अनुसार स्कूल शिक्षा बोर्ड के आयुक्त और प्रदेश के परियोजना निदेशक ने 11 स्कॉलरशिप को बंद करने का सुझाव भेजा है.

शिक्षा विभाग के अनुसार, इन स्कॉलरशिप में कम धनराशि मिलती है. जिसके कारण कम आवेदन आते हैं. लेकिन विभाग को मेहनत बाकी जैसी ही करनी पड़ती है. इसलिए इन स्कॉलरशिप को Merge करके मुख्यमंत्री उच्च शिक्षा स्कॉलरशिप की तर्ज पर एक स्कॉलरशिप करने की योजना है.

Merge होकर एक हो सकती हैं ये स्कॉलरशिप
-कारगिल शहीदों के आश्रितों को 300 रु./माह.
-स्वतंत्रता सेनानियों के बच्चों/ पौत्र-पौत्रियों को 60 रु./महीना.


-महिला योग्यता 120-240 रुपए प्रति माह.
-मृतक राज्य कर्मचारी के बच्चों को 500-750 प्रति 10 माह.
-उर्दू के छात्रों के लिए 100-150 रुपए माह, से 120-240 रुपए/माह.
-पूर्व सैनिकों की पुत्रियों को 5 हजार वार्षिक.
-ललित कला विशारद को 60 रु.
-ललित कला निपुण को 120 रु.
-मिलिट्री कॉलेज देहरादून 2700 रु./साल, शोध ( स्वीकृत होने पर).
-भारत-पाक युद्ध के शहीदों के मृतक आश्रित.
-भारत-चीन युद्ध मृतक आश्रितों को स्कॉलरशिप मिलती है.

सीएम स्कॉलरशिप स्कीम में कटौती
सत्र 2021-2022 के लिए सीएम स्कॉलरशिप स्कीम के तहत 87300 से अधिक आवेदन आए हैं. लेकिन इस बार उच्च शिक्षा विभाग ने फर्स्ट ईयर को छोड़कर यूजी और पीजी में प्रमोट हुए छात्रों को ही मुख्यमंत्री स्कॉलरशिप नहीं देने का फैसला किया है. इस स्कीम के तहत एक लाख छात्रों को प्रति वर्ष पांच हजार रुपये की आर्थिक सहायता दी जाती है. इस फैसले का प्रदेश भर के कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में विरोध हो रहा है.

हालांकि कॉलेज शिक्षा आयुक्त संदेश नायक का कहना है कि धनराशि 5000 रुपये की बजाए 2500 करने या प्रमोट ईयर व पहले साल के अंक जोड़कर स्कॉलरशिप देने जैसे विकल्प हैं. इस पर विचार किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें-
AISSEE Result 2021: आंसर की और रिजल्ट aissee.nta.nic.in पर जल्द होगा जारी, ऐसे करें चेक
Convocation 2021 : DU ने 97वें दीक्षांत समारोह में बांटी डिजिटल डिग्री, बना यह इतिहास

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज