• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • 64 साल के रिटायर SBI मैनेजर ने क्लियर किया NEET, MBBS में दाखिला लेकर कायम की मिसाल

64 साल के रिटायर SBI मैनेजर ने क्लियर किया NEET, MBBS में दाखिला लेकर कायम की मिसाल

सांकेतिक तस्वीर.

सांकेतिक तस्वीर.

“यह चिकित्सा शिक्षा के इतिहास में दुर्लभ घटनाओं में से एक है. उन्होंने निश्चित रूप से इतनी उम्र में मेडिकल छात्र के रूप में प्रवेश पाकर एक मिसाल कायम की है. ”

  • Share this:
    नई दिल्ली. इरादे मज़बूत हो तो सब कुछ संभव है. ऐसा ही कुछ ओडिशा के 64 वर्षीय सेवानिवृत्त बैंक अधिकारी ने साबित कर दिया है, जिन्होंने NEET 2020 की परीक्षा को क्रैक किया और अब वह राज्य के एक सरकारी कॉलेज में MBBS में दाखिला लेने के लिए तैयार हैं.

    ओडिशा के बारगढ़ जिले के अताबीरा के एक 64 वर्षीय सेवानिवृत्त बैंक अधिकारी जय किशोर प्रधान ने चार साल के एमबीबीएस कोर्स में सरकार द्वारा संचालित मेडिकल कॉलेज वीर सुरेन्द्र साईं इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज एंड रिसर्च (VIMSAR) में दाखिला लिया है. यह वही कॉलेज है जहाँ उनके पिता ने सालों पहले दाखिला लिया था.

    प्रधान जो हमेशा डॉक्टर बनने के इच्छुक थे, भारतीय स्टेट बैंक में डिप्टी मैनेजर के पद से सेवानिवृत्त हुए. प्रधानों ने पत्रकारों से बात करते हुए कहा, “मैं 1970 के दशक में अपनी इंटरमीडिएट परीक्षा के बाद मेडिकल प्रवेश परीक्षा में उपस्थित हुआ था, लेकिन तब मैं इसे क्रैक करने में असफल रहा. बाद में मैंने विज्ञान में स्नातक किया. हालांकि, मैं हमेशा मेडिकल प्रवेश पर एक और बार देना चाहता था और 2016 में बैंक से सेवानिवृत्त होने के बाद इसकी तैयारी शुरू की।.''

    “इसके अलावा, मैं चिकित्सा विज्ञान के लिए indebted हूं. मेरे पिता को 1982 में urinal ulcer के लिए मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था, जहां मैं पढ़ रहा हूं. 1987 में, उनकी दूसरी सर्जरी की थी और आगे के इलाज के लिए वेल्लोर ले जाया गया था. सफल उपचार के परिणामस्वरूप, मेरे पिता जनवरी 2010 तक जीवित रहे.

    ये भी पढ़ें-
    सीएस फाउंडेशन परीक्षा 2020 (CS Foundation 2020 Exam) कल यानी कि आयोजन 26 दिसंबर से शुरू
    दिल्ली गेस्ट टीचर जॉब: 28 दिसंबर से 8 जनवरी तक कराएं दस्तावेजों का सत्यापन


    प्रधान ने अपनी जुड़वां बेटियों से मदद ली, जो मेडिकल प्रवेश परीक्षा की तैयारी कर रही थीं. उन्होंने तैयारी में उनकी सहायता की. VIMSAR के निदेशक प्रोफेसर ललित मेहर ने कहा कि प्रधान मेडिकल कॉलेज में प्रवेश लेने वाला सबसे पुराना छात्र है. “यह चिकित्सा शिक्षा के इतिहास में दुर्लभ घटनाओं में से एक है. उन्होंने निश्चित रूप से इतनी उम्र में मेडिकल छात्र के रूप में प्रवेश पाकर एक मिसाल कायम की है. ”

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज