DU Admission: दिल्ली के दंगा प्रभावित इलाके के छात्रों को DU ने दाखिले में दी ये छूट

डुप्लीकेट मार्क्सशीट या प्रमाणपत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया लंबी है जिसमें काफी समय लगता है.
डुप्लीकेट मार्क्सशीट या प्रमाणपत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया लंबी है जिसमें काफी समय लगता है.

डुप्लीकेट मार्क्सशीट या प्रमाणपत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया लंबी है जिसमें काफी समय लगता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 21, 2020, 1:56 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली सरकार ने अपने विश्वविद्यालयों और अन्य उच्च शिक्षण संस्थानों को निर्देश दिया है कि वह शहर के दंगा प्रभावित उत्तरी-पूर्वी दिल्ली से आने वाले छात्रों को मूल दस्तावेज जमा करने के लिए तीन महीने का अतिरिक्त समय दे.

छात्रों की मार्क्सशीट और प्रमाणपत्र दंगों के दौरान गुम 
सरकार ने कहा है कि संभव है कि छात्रों की मार्क्सशीट और प्रमाणपत्र दंगों के दौरान गुम गए हों और उनकी दूसरी प्रति प्राप्त करना लंबी प्रक्रिया है. उच्च शिक्षा विभाग के उपनिदेशक नरेन्द्र पासी ने कहा, ‘‘दिल्ली सरकार के तहत आने वाले विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में दाखिला शुरू हो गया है. मूल दस्तावेजों के सत्यापन के बाद दाखिला दिया जाएगा.’’

मूल दस्तावेज उपलब्ध नहीं 
उन्होंने कहा, ‘‘ऐसी संभावना है कि कई छात्रों के मार्क्सशीट और प्रमाणपत्र उत्तरी-पूर्वी दिल्ली में दंगों के दौरान खो गए होंगे और मूल दस्तावेज उपलब्ध नहीं होने के कारण उन्हें दाखिला नहीं मिल सकेगा.’’



ये भी पढ़ें-
School Re-Open: मुंबई में स्कूल 31 दिसम्बर तक बंद रहेंगे, बीएमसी ने की घोषणा
जवाहर नवोदय विद्यालयों में छठीं कक्षा में दाखिले के लिए 15 दिसंबर तक करें आवेदन

 डुप्लीकेट मार्क्सशीट या प्रमाणपत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया लंबी
उन्होंने कहा कि डुप्लीकेट मार्क्सशीट या प्रमाणपत्र प्राप्त करने की प्रक्रिया लंबी है जिसमें काफी समय लगता है. साथ ही ऐसे भी कई छात्र होंगे जिनके पास इसके लिए संसाधन नहीं होंगे क्योंकि वे अपना घर बनाने और जीवन को पटरी पर लाने में जुटे हुए होंगे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज