Home /News /education /

MP में 100% क्षमता के साथ खुलेंगे स्कूल, टीचर्स को वैक्सनी की डबल डोज लेना जरूरी, जानें- नई गाइडलाइन?

MP में 100% क्षमता के साथ खुलेंगे स्कूल, टीचर्स को वैक्सनी की डबल डोज लेना जरूरी, जानें- नई गाइडलाइन?

School Reopen: मध्य प्रदेश में स्कूलों को 100 फीसदी क्षमता के साथ फिर से खोलने को लेकर नई गाइडलाइन जारी कर दी गई है.

School Reopen: मध्य प्रदेश में स्कूलों को 100 फीसदी क्षमता के साथ फिर से खोलने को लेकर नई गाइडलाइन जारी कर दी गई है.

Madhya Pradesh Latest News: मध्य प्रदेश में सभी स्कूल और हॉस्टल को 100 फीसदी क्षमता के साथ खोलने को लेकर नई गाइडलाइन जारी कर दी गई है. छात्र-छात्राओं को स्कूल और हॉस्टल में भेजने के लिए माता-पिता की अनुमति-सहमति अनिवार्य होगी. इतना ही नहीं सभी टीचर्स को कोरोना वैक्सीन की डबल डोज लगवानी अनिवार्य कर दी गई है.

अधिक पढ़ें ...

भोपाल. मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में 100 फीसदी क्षमता के साथ स्कूल (School) खोलने के आदेश के गाइडलाइन (Guideline) हो गयी है. स्कूल शिक्षा विभाग ने स्कूलों को लेकर गाइडलाइन जारी की है. गाइडलाइन के तहत प्रदेश में पहली से लेकर कक्षा बारहवीं तक के स्कूल और हॉस्टल 100 फीसदी क्षमता के साथ शुरू किए जाएंगे. ऑनलाइन क्लासेज पहले की तरह ही जारी रहेगी. स्कूल और हॉस्टल में छात्र- छात्राओं को भेजने के लिए पेरेंट्स (माता-पिता) की अनुमति अनिवार्य होगी. स्कूलों में बच्चों को भेजने के लिए माता-पिता की अनुमति अनिवार्य होगी. पहले की तरह ही अभी भी स्टूडेंट्स कक्षा और हॉस्टल में माता पिता की अनुमति से ही पहुंचेंगे.

नई गाइडलाइन में पेरेंट्स की अनुमति को लेकर स्कूल शिक्षा विभाग ने अपनी गाइडलाइन में प्रावधान किया है तो वही पहले की तरह ही ऑनलाइन क्लासेस का विकल्प भी जारी रहेगा. हालांकि इससे पहले स्कूल खोलने के आदेश के साथ ही ऑनलाइन क्लासेस को बंद करने की बात कही गई थी. बाद में जारी की गई गाइडलाइन में शासन ने ऑनलाइन क्लासेस को जारी रखने का निर्णय लिया है.

जानें क्या है नई गाइडलाइन
स्कूल शिक्षा विभाग की जारी गाइडलाइन के मुताबिक कक्षा पहली से लेकर कक्षा 12वीं तक की सभी क्लासेस पूरी क्षमता के साथ संचालित होंगी. सभी हॉस्टल वाले स्कूल कक्षा पहली से लेकर कक्षा बारहवीं तक 100% छात्र-छात्राओं की उपस्थिति के साथ खुलेंगे. स्कूल और हॉस्टल में स्टूडेंट्स की उपस्थिति के लिए पेरेंट्स की अनुमति अनिवार्य होगी. स्कूल प्रबंधन समिति आवश्यकता के अनुसार ऑनलाइन और डिजिटल माध्यम से पढ़ाई के संबंध में खुद निर्णय ले सकेंगे. स्कूलों में दूरदर्शन और व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से अभी भी शैक्षणिक सामग्री भेजी जाएगी. सभी स्कूलों शिक्षक/स्टाफ और हॉस्टल में सभी स्टाफ का डबल डोज टीकाकरण अनिवार्य है. टीकाकरण के संबंध में विभागीय आदेश पहले की तरह ही रहेंगे. किसी शिक्षक या छात्र के संक्रमित होने पर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग की सहमति से जारी विभागीय आदेश माने जाएंगे. भारत सरकार राज्य स्तर के समय-समय पर जारी s&op एवं कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन किया जाना अनिवार्य होगा.

कोरोना के ग्राफ के कम होते बदला निर्णय
मध्यप्रदेश में कोरना का संक्रमण धीरे-धीरे काम हो रहा है. पॉजिटिव केसेस में भी लगातार कमी आ रही है. सरकार ने 2 दिन पहले ही प्रदेश भर से तमाम प्रतिबंधों को हटा दिया है. कोरोना के तमाम प्रतिबंधों के हटने के साथ ही मध्यप्रदेश में कक्षा पहली से लेकर कक्षा बारहवीं तक के स्कूल शत प्रतिशत क्षमता के साथ खोलने का निर्णय लिया गया है. हालांकि कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के बीच अभी भी पैरेंट्स बच्चों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हैं. बच्चों की सुरक्षा के लिहाज स्कूल भेजने के पक्ष में नही है.

Tags: Bhopal news, Corona news, Government primary schools, Madhya pradesh news, School Fees

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर