SPPU Exams 2020: पुणे विश्वविद्यालय के नॉन फाइनेंशियल ईयर बैकलॉग एग्जाम 3 दिसंबर से

इस वर्ष 70, 291 छात्रों को बैकलॉग परीक्षा में शामिल होना है.
इस वर्ष 70, 291 छात्रों को बैकलॉग परीक्षा में शामिल होना है.

जिन लोगों के पास नेटवर्क या गैजेट की कमी है, उन्हें ऑनलाइन मोड में परीक्षा के लिए निकटतम परीक्षा केंद्र पर जाने का अवसर दिया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 7, 2020, 8:18 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. सावित्रीबाई पुले पुणे विश्वविद्यालय, एसपीपीयू दिसंबर 2020 में प्री-फाइनल ईयर और फ़र्स्ट ईयर के एक्सटर्नल स्टूडेंट्स बैकलॉग एग्जाम आयोजित करेगा. 3 से 16 दिसंबर, 2020 तक कक्षा सुधार कार्यक्रम (class improvement programme) और गैर-अंतिम वर्ष (non-final year) के लिए छात्र चुने जाएंगे.

हर छात्र की निगरानी
सावित्रीबाई फुले पुणे विश्वविद्यालय में ऑनलाइन प्रचलित प्रौद्योगिकी के माध्यम से शर्तें, एटीकेटी या बैकलॉग परीक्षाओं को रखने की अनुमति दी जाएगी. इसके कारण हर छात्र की निगरानी 'ऑनलाइन निगरानी प्रणाली' और 'लाइव वीडियो स्ट्रीमिंग' स्रोत का उपयोग करके की जाएगी. परीक्षा की विश्वसनीयता और प्रामाणिकता सुनिश्चित करने के लिए यह विविधता प्रत्येक छात्र को नियंत्रित करने में सक्षम होगी.

70, 291 छात्रों बैकलॉग परीक्षा में
यूनिवर्सिटी द्वारा जारी विवरण के अनुसार 61.501 छात्र इंजीनियरिंग परीक्षा में, 1109 छात्र लॉ फैकेल्टी में असफल रहे हैं, 6753 छात्र प्रबंधन स्ट्रीम में और 72 एमएमएस परीक्षा में असफल हुए हैं. इस वर्ष 70, 291 छात्रों को बैकलॉग परीक्षा में शामिल होना है.



परीक्षा में कुल 2 लाख 29 हजार छात्र शामिल 
30 नवंबर 2020 तक कॉलेजों द्वारा अपनी आधिकारिक वेबसाइटों पर जारी की गई परीक्षाओं के अंकों को जारी किया जाएगा. इस साल अप्रैल में छात्रों के लिए ऑड सेमेस्टर के लिए बैकलॉग प्रैक्टिकल परीक्षाएं आयोजित की जानी थीं, लेकिन रद्द कर दी गईं. परीक्षा में कुल 2 लाख 29 हजार छात्र शामिल हुए थे.

ये भी पढ़ें-
NEET स्टेट काउंसलिंग 2020: MBBS, BDS काउंसलिंग के लिए स्टेट-वाइज शेड्यूल चेक करें
CBSE CTET 2020: आज से बदल सकेंगे परीक्षा केंद्र, जनवरी में होगी परीक्षा, जानें डिटेल


नेटवर्क की पर निकटतम परीक्षा केंद्र पर जाने का अवसर
अंतिम वर्ष के छात्रों की परीक्षा के दौरान महसूस किया गया कि बाहरी छात्रों ने ऑनलाइन परीक्षा का विकल्प चुना है. इसलिए, इस बार, केवल एक ऑनलाइन परीक्षा होगी. जिन लोगों के पास नेटवर्क या गैजेट की कमी है, उन्हें ऑनलाइन मोड में परीक्षा के लिए निकटतम परीक्षा केंद्र पर जाने का अवसर दिया जाएगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज