'कॉलेज की फीस को लेकर चिंतित थी' लेडी श्रीराम कॉलेज की छात्रा, की आत्महत्या

पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 174 (अप्राकृतिक मौत) के तहत मामला दर्ज कर लिया है.
पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 174 (अप्राकृतिक मौत) के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

एलएसआर की प्रचार्या सुमन शर्मा ने कहा, ‘हमारे यहां ऐसे छात्रों की मदद करने के लिए काउंसलर है जो भावनात्मक और मानसिक चुनौतियों का सामना कर रहे हैं. लेकिन किसी को नहीं पता था कि उसके दिमाग में क्या चल रहा है.’

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 10, 2020, 4:55 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. परिवार की खराब माली हालत के कारण अपनी पढ़ाई को लेकर चिंतित दिल्ली के लेडी श्रीराम कॉलेज में पढ़ रही तेलंगाना निवासी छात्रा (19) ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली. महिला की मौत पर राष्ट्रीय राजधानी में छात्र समूहों ने प्रदर्शन किया.

दो नवंबर को घर में फंदे से लटका मिला शव
एलएसआर कॉलेज प्रबंधन ने इस बात से साफ इंकार किया है कि छात्रा ने उनसे छात्रवृत्ति पाने के लिए संपर्क किया था. पुलिस ने बताया कि भारतीय प्रशासनिक सेवा परीक्षा की तैयारी कर रही ऐश्वर्या का शव दो नवंबर को रंगा रेड्डी जिले के शादनगर इलाके में स्थित उसके घर में फंदे से लटका हुआ मिला.

छात्रावास बंद होने के बाद मार्च में दिल्ली से लौटी
गणित ऑनर्स की दूसरे वर्ष की छात्रा कोविड-19 महामारी के कारण छात्रावास बंद होने के बाद मार्च में दिल्ली से लौटी थी. पुलिस ने बताया कि छात्रा द्वारा कथित तौर पर लिखे गए सुसाइड नोट में कहा गया है कि वह अपने माता-पिता पर अपनी पढ़ाई के खर्च का बोझ नहीं डालना चाहती.



पैसे की कमी, शिक्षा जारी रखने लेकर चिंता
उसके पिता जी. श्रीनिवास रेड्डी के अनुसार, पैसे की कमी के कारण उनकी बेटी अपनी शिक्षा जारी रखने को लेकर हमेशा चिंतित रहती थी और कई दिन से इस पर सोच-विचार कर रही थी.

ऋण लेकर बेटी का दाखिला कराया
रेड्डी ने बताया कि ऐश्वर्या ने इंटर में अच्छे अंक प्राप्त किए थे और उसे एलएसआर कॉलेज में दाखिला मिल गया. उन्होंने ऋण लेकर बेटी का दाखिला कराया. उन्होंने बताया कि ऐश्वर्या की पढ़ाई जारी रखने के लिए उन्होंने अपनी छोटी बेटी की पढ़ाई भी बंद करा दी. रेड्डी ने सोमवार को मीडिया से कहा, ‘‘मैं मैकेनिक हूं, लेकिन मेरा काम अच्छा नहीं चल रहा है. वह अगले साल कॉलेज की फीस को लेकर चिंतित थी.’’

छात्रावास की सुविधा सिर्फ एक साल के लिए थी
उन्होंने कहा कि बेटी को ऑनलाइन पढ़ाई जारी रखने के लिए लैपटॉप और मोबाइल फोन की जरुरत थी और इसके लिए उन्होंने अभिनेता सोनू सूद को भी लिखा था. उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन उनकी ओर से कोई जवाब नहीं आया... कॉलेज प्रशासन ने भी कहा कि छात्रावास की सुविधा सिर्फ एक साल के लिए दी जाएगी.’’

सुसाइड नोट में छात्रा ने लिखा, पैसे की कमी से आत्महत्या कर रही है
पुलिस ने बताया कि रेड्डी ने अपनी शिकायत में कहा है कि ऐश्वर्या ने हाल ही में उनसे पढ़ाई के लिए कुछ पैसे मांगे थे, लेकिन उन्होंने कहा था कि तत्काल कुछ इंतजाम नहीं हो सकता है और वह ऋण लेकर उसे पैसे दे देंगे. कथित सुसाइड नोट में छात्रा ने लिखा है कि उसकी मौत के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है और पैसे की कमी से वह आत्महत्या कर रही है. उसने माफी मांगते हुए कहा है कि वह ‘अच्छी बेटी’ नहीं है.

अप्राकृतिक मौत के तहत मामला दर्ज 
उसने लिखा है, ‘‘मेरी मौत के लिए कोई जिम्मेदार नहीं है. मेरे परिवार को बहुत खर्च करना पड़ रहा है. मैं बोझ हूं... मेरी पढ़ाई बोझ है... मैं पढ़ाई के बिना नहीं रह सकती हूं.’’ पुलिस ने सीआरपीसी की धारा 174 (अप्राकृतिक मौत) के तहत मामला दर्ज कर लिया है.

ये भी पढ़ें-
मेडिकल स्टूडेंट्स को झटका- हरियाणा सरकार ने 66% बढ़ाई MBBS की फीस, यहां समझें पूरा फीस स्ट्रक्चर

HPPSC Recruitment 2020: वेटरनरी ऑफिसर पद के लिए वैकेंसी, 04 दिसंबर लास्ट डेट

ऐसे छात्रों की मदद करने के लिए काउंसलर है
सोमवार को छात्रों आर महिला समूहों ने दिल्ली में प्रदर्शन कर छात्रा के लिए न्याय की मांग की. एलएसआर की प्रचार्या सुमन शर्मा ने हालांकि इस बात को खारिज किया है कि छात्रा ने कॉलेज प्रशासन से कुछ कहा था. उन्होंने कहा, ‘हमारे यहां ऐसे छात्रों की मदद करने के लिए काउंसलर है जो भावनात्मक और मानसिक चुनौतियों का सामना कर रहे हैं. लेकिन किसी को नहीं पता था कि उसके दिमाग में क्या चल रहा है.’ शर्मा ने कहा, ‘यह दुर्भाग्यपूर्ण है. काश उसने अपने शिक्षकों, काउंसलर या कॉलेज प्रशासन से पहले बात की होती.’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज