होम /न्यूज /education /अगले सत्र से मातृभाषा में भी कर सकेंगे इंजीनियरिंग की पढ़ाई

अगले सत्र से मातृभाषा में भी कर सकेंगे इंजीनियरिंग की पढ़ाई

अगले सत्र से इंजीनियरिंग की पढ़ाई मातृभाषा में भी होगी.

अगले सत्र से इंजीनियरिंग की पढ़ाई मातृभाषा में भी होगी.

    इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने वाले छात्रों के लिए एक अच्छी खबर है. अगले सत्र से वह इंजीनियरिंग की पढ़ाई अपनी मातृभाषा में भी कर सकेंगे. केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय अगले सत्र से इंजीनियरिंग की पढ़ाई मातृभाषा में शुरू करने जा रहा है, हालांकि इसकी शुरूआत अभी देश के कुछ चुनिंदा आईआईटी और एनआईटी से ही की जाएगी. इस संबंध में केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक की अगुवाई में एक बैठक की गई, जिसमें यह फैसला लिया गया.

    एनटीए तैयार करेगा सिलेबस
    केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने यह भी तय किया है कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) की ओर से विभिन्न बोर्ड के पाठयक्रम की जानकारी जुटाएगा और उसके बाद प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए एक सिलेबस तैयार करेगा. परीक्षाओं को लेकर स्टूडेंट्स अभिभावक और शिक्षकों से रायशुमारी की जाएगी और तय किया जाएगा कि अगले साल परीक्षाएं कब से शुरू की जाएं.

    ये भी पढ़ें  

    SSC 2020 : कांस्टेबल के 5846 पदों के लिए आए 28 लाख आवेदन
    Sarkari Naukari: 170 पदों पर निकली हैं सरकारी नौकरियां



    छात्रवृत्ति और फेलोशिप के लिए हेल्पलाइन
    केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने निर्देशित किया है कि छात्रों तक छात्रवृत्ति और फेलोशिप समय से पहुंचाई जाए. साथ ही इसके लिए एक हेल्पलाइन भी शुरू करने के निर्देश दिए.

    Tags: Engineering colleges, Engineering courses

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें