रांची यूनिवर्सिटी के ट्रायबल डिपार्टमेंट ने मनाया सरहुल पर्व, जानिए क्या है ये

सरहुल मुख्य तौर पर उराव जनजातीय का पर्व है. सूर्य और पृथ्वी के मिलन का पर्व है.

सरहुल मुख्य तौर पर उराव जनजातीय का पर्व है. सूर्य और पृथ्वी के मिलन का पर्व है.

वैज्ञानिक दृष्टिकोण से अगर देखा जाए तो वह जल जंगल जमीन को बचाने के लिए पर्व है. पर्यावरण और वन के संरक्षण का यह पर्व है.

  • Last Updated: April 15, 2021, 1:03 PM IST
  • Share this:
रांची. रांची यूनिवर्सिटी के ट्रायबल डिपार्टमेंट के शिक्षक एवं कर्मचारियों ने सरहुल पर्वआज प्रकृति पर्व सरहुल मनाया. प्राकृतिक तत्वों की पूजा की परंपरा है. यह सिर्फ आदिवासियों का ही नहीं बल्कि मूल वासियों का भी पर्व है. इसको लेकर बुधवार को पास रखा गया. आदिवासी इसे नए साल के आगमन पर उत्सव के रूप में मनाते हैं. आदिकाल से प्रकृति के उपासक हैं जल, जंगल, जमीन, पहाड़, पर्वत ,नदी, नाला, धरती, सूरज आकाश और पताल की पूजा करते आए हैं.

रांची यूनिवर्सिटी के जनजातीय क्षेत्रीय भाषा विभाग के हेड ऑफ डिपार्टमेंट अध्यापक ने कहा, सरहुल मुख्य तौर पर उराव जनजातीय का पर्व है. सूर्य और पृथ्वी के मिलन का पर्व है. बसंत ऋतु के बाद नए-नए फल आने लगते हैं उन फलों से जुड़ा हुआ आस्था का प्रतीक है. इस समय नई फसलें भी आती है पेड़ों की टहनियों में नई-नई पत्ते आती आती है.

रांची यूनिवर्सिटी के जनजातीय विभाग में प्रोफेसर नंद तिवारी ने कहा सरहुल पर्व अब धीरे-धीरे पूरे देश में जाने जाना लगा है. यह एक ऐसा पर्व है जो पूरी तरह से प्रकृति से जुड़ा हुआ है. सदियों से इतिहास रहा है कि मानव हमेशा प्रकृति का पूजक रहा है. पर्यावरण और वन के संरक्षण का यह पर्व है.

वैज्ञानिक दृष्टिकोण से अगर देखा जाए तो वह जल जंगल जमीन को बचाने के लिए पर्व है. अगर चैत माह की बात करें तो कटहल और आम आना शुरू हो जाता है. फसल का मौसम भी है. गेहूं चना तिलहन और दलहन की फसलें किसान के घर में आना शुरू हो गई हैं. जिसे पूजा करने के बाद ही किसान ग्रहण करते हैं.
ये भी पढ़ें-

UP Board Exams 2021: कोरोना के बीच कैसे परीक्षा देंगे 56 लाख छात्र!

CBSE Board Exams 2021: सीबीएसई ही नहीं देश के 7 राज्यों में भी बोर्ड परीक्षाएं रद्द

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज