• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • यूपी में 23 नवंबर से खुलेंगे 8 महीने से बंद विश्वविद्यालय और कॉलेज, जानें पूरी गाइडलाइंस

यूपी में 23 नवंबर से खुलेंगे 8 महीने से बंद विश्वविद्यालय और कॉलेज, जानें पूरी गाइडलाइंस

  • Share this:
    उत्तर प्रदेश में करीब 8 महीनों से बंद विश्वविद्यालय और कॉलेजों को खोला जाएगा। 23 नवंबर से प्रदेश भर के विश्वविद्यालय और कॉलेज खुल जाएंगे। खास बात यह है कि इन विश्वविद्यालय और कॉलेजों में 50 फीसदी स्टूडेंट्स की ही उपस्थिति होगी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस संबंध में राज्य सरकार की ओर से कुछ दिशा निर्देश भी जारी किए गए हैं. केवल वही शैक्षणिक संस्थान खुलेंगे, जो कन्टेनमेंट जोन के बाहर होंगे। साथ ही कन्टेनमेंट जोन में रहने वाले स्टूडेंट्स, शिक्षक और कर्मचारियों को विश्वविद्यालय और कॉलेजों में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

    मार्च से ही बंद हैं स्कूल कॉलेज
    कोरोना महामारी के कारण मार्च से ही यूपी के विश्वविद्यालय और कॉलेज बंद कर दिए गए थे. अब 8 महीने बाद फिर से विश्वविद्यालय और कॉलेजों खोले जा रहे हैं. उच्च शिक्षा विभाग की ओर से सभी जिला मजिस्ट्रेट और विश्वविद्यालयों के रजिस्ट्रार को आदेश भेजकर कहा गया है कि कक्षाएं फिर से शुरू की जाएं. साथ ही कहा गया है कि कक्षाएं ऐसे चलाईं जाएं कि कैंपस में छात्रों की भीड़ न इकट्ठी हो.

    परीक्षाएं चल रही हैं
    विश्वविद्यालय और कॉलेजों में पहले ही अंतिम वर्ष की परीक्षाएं कराने के निर्देश जारी किए गए थे, जिसके बाद परीक्षाएं भी चल रही हैं. वहीं प्रयोगशाला व पीएचडी धारकों के लिए भी कक्षाएं चलाने के भी आदेश दिए गए थे.

    ये भी पढ़ें 

    Recruitment: DGCA में निकली है वैकेंसी, 7 लाख से अधिक है सैलेरी
    IGNOU में निकली है नौकरियां, ये है अप्लाई करने की लास्ट डेट

    ये है पूरी गाइडलाइंस-

    - विश्वविद्यालय और कॉलेजों में 50 प्रतिशत छात्रों की उपस्थिति होगी। साथ ही विश्वविद्यालय और कॉलेज आने वाले छात्रों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा.

    -कैंपस और कक्षाओं में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. स्टूडेंटस को हैंड सैनिटाइजर भी रखना होगा।

    - सभी विश्वविद्यालय और कॉलेजों में आने जाने वालों की अनिवार्य रूप से थर्मल स्कैनिंग होगी.

    - कोरोना महामारी से बचने के लिए शैक्षणिक संस्थान नजदीकी अस्पतालों, स्वास्थ्य केन्द्रों, गैर सरकारी संगठनों व स्वास्थ्य विशेषज्ञों के साथ मिलकर काम करें.

    - सभी स्टूडेंट्स को आयोग्य सेतु एप अनिवार्य रूप से डाउनलोड करना होगा.

    - गाइडलाइंस में अभिभावकों से भी यह कहा गया है कि वह देखें कि उनके बच्चे जब भी घर से बाहर निकलें तो कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करें साथ ही अगर बच्चे को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें हो तो उसे बाहर न जानें दें

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज