अपना शहर चुनें

States

UP बोर्ड 12th के प्रैक्टिकल एग्जाम्स 13 से 22 Feb तक, कोरोना गाइडलाइन जारी

विद्यार्थियों, शिक्षकों और स्टाफ को अनिवार्य रूप से मास्क का इस्तेमाल करना होगा. (सांकेतिक तस्वीर)
विद्यार्थियों, शिक्षकों और स्टाफ को अनिवार्य रूप से मास्क का इस्तेमाल करना होगा. (सांकेतिक तस्वीर)

साफ-सफाई सुनिश्चित करने के लिए, परीक्षाएं सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में आयोजित की जाएंगी. परीक्षा की कार्यवाही की एक रिकॉर्डिंग स्कूल के प्रिंसिपल के पास होनी चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2021, 10:02 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. यूपी बोर्ड कक्षा 12वीं के छात्रों के लिए प्रैक्टिकल परीक्षाएं इस साल दो चरणों में होंगी. पहला चरण 3 फरवरी से शुरू और 12 फरवरी को समाप्त होगा, दूसरा चरण 13 फरवरी से शुरू और 22 फरवरी को समाप्त होगा. यूपी माध्यमिक शिक्षा बोर्ड सचिव दिव्यकांत शुक्ला द्वारा 21 जनवरी को जारी आदेश के अनुसार, पहले चरण में आगरा, सहारनपुर, बरेली, लखनऊ, झांसी, चित्रकूट, फैजाबाद, आजमगढ़, देवीपाटन और बस्ती सहित 10 मंडलों में स्थित जिलों के स्कूल भाग लेंगे.

दूसरे चरण में अलीगढ़, मेरठ, मुरादाबाद, कानपुर, प्रयागराज, मिर्जापुर, वाराणसी और गोरखपुर सहित शेष आठ प्रभागों में जिलों को शामिल करने वाले स्कूलों से भागीदारी देखी जाएगी. शुक्ला ने अपने आदेश में कहा कि परीक्षाओं में सामाजिक दूरी के मानदंडों को बनाए रखें. साथ ही सभी कोरोना गाइडलाइन्स जारी की.

ये हैं कोरोना गाइडलाइन्स
-परीक्षाओं के आयोजन से पूर्व स्कूल के लैब, अन्य आवश्यक उपकरणों को सेनिटाइज करें.
-स्कूलों में सेनिटाइजर, हैंडवाश, थर्मल स्कैनिंग एवं प्राथमिक उपचार की व्यवस्था सुनिश्चित.


-विद्यार्थियों को हैंडवाश या हैंड सेनिटाइज कराने के बाद ही प्रवेश दिया जाए.
-स्कूल में प्रवेश के समय व परीक्षा के बाद मुख्य द्वार पर सोशल डिस्टेन्सिंग का अनुपालन सुनिश्चत.
-विद्यार्थी स्कूल बसों, सार्वजनिक सेवा वाहन से आते हैं तो उन्हें प्रतिदिन सेनिटाइज कराया जाए.
-शिक्षकों, विद्यार्थियों तथा कर्मचारियों को मास्क पहनना अनिवार्य.
-विद्यार्थियों के 6 फीट की दूरी पर बैठने की व्यवस्था.

यदि विद्यार्थी, शिक्षक या अन्य कार्मिक को खांसी, जुखाम या बुखार के लक्षण हो तो मुख्य चिकित्सा अधिकारी से सम्पर्क कर कोविड से बचाव के लिए आवश्यक चिकित्सीय सुविधाएं प्रदान की जाए. ऐसे छात्र को अलग बैठाकर परीक्षा दिलाई जाए.

प्रैक्टिकल परीक्षाओं के लिए, कुल अंकों का 50% इंटरनल एग्जामनर की ओर से दिया जाएगा. बाकी 50% बाहरी परीक्षक द्वारा दिया जाएगा. कंपलसरी सब्जेक्ट के लिए प्रैक्टिकल एग्जाम 'नैतिक योग खेल एंव शारिरिक शिक्षा' स्कूल प्रिंसिपल की देखरेख में आयोजित किए जाएंगे. साफ-सफाई सुनिश्चित करने के लिए, परीक्षाएं सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में आयोजित की जाएंगी. परीक्षा की कार्यवाही की एक रिकॉर्डिंग स्कूल के प्रिंसिपल के पास होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें-
Sarkari Naukri: ग्रामीण डाक सेवक के 4269 पदों पर अप्लाई करने का आज आखिरी मौकाजल्द करें आवेदन
UPSC प्रारंभिक परीक्षा के लिए नहीं दिया जाएगा अतिरिक्त मौका,सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार का जवाब

सभी राज्यों की बोर्ड परीक्षाओं/ प्रतियोगी परीक्षाओं, उनकी तैयारी और जॉब्स/करियर से जुड़े Job Alert, हर खबर के लिए फॉलो करें- https://hindi.news18.com/news/career/

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज