• Home
  • »
  • News
  • »
  • education
  • »
  • UP D.EL.ED 2021: UP डीएलएड के परीक्षा पाठ्यक्रम में बदलाव की तैयारी, देखें डिटेल

UP D.EL.ED 2021: UP डीएलएड के परीक्षा पाठ्यक्रम में बदलाव की तैयारी, देखें डिटेल

यूपी डीएलएड के परीक्षा पाठ्यक्रम में बदलाव की तैयारी के लिए क्या कदम उठाए गए हैं, यहां पढ़ें पूरी रिपोर्ट.

यूपी डीएलएड के परीक्षा पाठ्यक्रम में बदलाव की तैयारी के लिए क्या कदम उठाए गए हैं, यहां पढ़ें पूरी रिपोर्ट.

यूपी में डिप्लोमा इन एलिमेंटरी एजुकेशन के परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया जा सकता है. इस संबंध में परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से प्रदेश सरकार को प्रस्ताव भेजा गया है.

  • Share this:

    नई दिल्ली. यूपी डीएलएड (डिप्लोमा इन एलिमेंटरी एजुकेशन) परीक्षा पैटर्न में बदलाव किया जा सकता है. परीक्षा में अब 12वीं तक के प्रश्नों को शामिल किए जाने की योजना है. अभी तक सेमेस्टर परीक्षा में पूछें जाने वाले प्रश्नों का स्तर 8वीं तक का होता है.

    विभिन्न मीडिया रिपोर्ट के अनुसार परीक्षा नियामक प्राधिकारी की ओर से प्रश्नपत्रों के स्तर में बदलाव का प्रस्ताव सरकार के पास भेजा गया है. नेशनल काउंसिल ऑफ टीचर एजुकेशन के नियमों के अनुसार डीएलएड में प्रवेश के लिए अभ्यर्थी की न्यूनतम योग्यता 12वीं पास होनी चाहिए. वहीं यूपी में ग्रेजुएशन पास अभ्यर्थियों को डीएलएड में प्रवेश दिया जाता है. ऐसे में प्रश्न पत्र का स्तर 12वीं तक करने का प्रस्ताव दिया गया है.

    इसका भी भेजा गया है प्रस्ताव
    प्रश्न पत्र का स्तर बढ़ाने के साथ ही नंबरों में भी बदलाव करने का प्रस्ताव भेजा गया है. मौजूदा समय में सेमेस्टर परीक्षा में इंटरनल नंबर ज्यादा है. प्रस्ताव में आंतरिक मूल्यांकन के लिए कुल नंबरों का अधिकतम 30 फीसदी नंबर देने की बात कही गई है.

    4 मार्च तक स्क्रूटनी के लिए होगा आवेदन
    उत्तर प्रदेश बीटीसी और डीएलएड कोर्सेस के विभिन्न सेमेस्टर की परीक्षाओं के परिणाम आ चुके हैं. वहीं स्क्रूटनी के लिए आवेदन की प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है. जो भी स्टूडेंट्स अथॉरिटी द्वारा घोषित परिणामों से संतुष्ट नहीं हैं, वे यूपी बीटीसी स्क्रूटनी अप्लीकेशन 2021 या यूपी डीएलएड स्क्रूटनी अप्लीकेशन 2021 सबमिट कर सकते हैं.

    ये छात्र सबमिट कर पाएंगे स्क्रूटनी अप्लीकेशन
    बीटीसी कोर्स के वर्ष 2013, 2014 और 2015 के सभी सेमेस्टर के छात्र और डीएलएड कोर्स के 2017, 2018 और 2019 बैच के स्टूडेंट्स अपना स्क्रूटिनी अप्लीकेशन सबमिट कर पाएंगे. छात्र 4 मार्च 2021 तक स्क्रूटिनी अप्लीकेशन फॉर्म सबमिट कर सकते हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, उत्तर प्रदेश परीक्षा नियामक प्राधिकारी अनिल भूषण चतुर्वेदी ने जानकारी दी है कि डायट (डीआइईटी) कॉलेजों और प्राइवेट बीटीसी कॉलेजों को स्क्रूटनी अप्लीकेशन से सम्बन्धित निर्देश भेजे जा चुके हैं.

    यह भी पढ़ें- 
    National Fellowship: महात्मा गांधी नेशनल फेलोशिप में मिलेंगे 50 हजार रुपये महीना, जानें योग्यता
    Sarkari Naukri : एडेड जूनियर हाइस्कूलों में 1894 शिक्षकों की भर्ती जल्द, परीक्षा में हो सकता है यह बदलाव

    100 रूपये होगी स्क्रूटनी फीस
    आवेदकों को प्रति पेपर स्क्रूटनी के लिए 100 रुपये फीस देनी होगी. संस्थानों की ओर से 8 मार्च तक फीस रसीद और स्क्रूटनी की नामावली सूची परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय में जमा की जाएगी. याद रहे की 4 मार्च के बाद स्क्रूटनी एप्लीकेशन स्वीकार नहीं किया जाएगा.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज