Home /News /education /

UPSC Preparation: यूपीएससी की तैयारी के लिए यहां पढ़ें सक्सेस मंत्र, जानें कैसे करें एक अच्छे उत्तर की पहचान

UPSC Preparation: यूपीएससी की तैयारी के लिए यहां पढ़ें सक्सेस मंत्र, जानें कैसे करें एक अच्छे उत्तर की पहचान

UPSC Preparation: यूपीएससी की तैयारी के लिए यहां पढ़ें सक्सेस मंत्र

UPSC Preparation: यूपीएससी की तैयारी के लिए यहां पढ़ें सक्सेस मंत्र

UPSC Preparation: आपसे एक प्रश्न पूछा गया है और आपने उसका उत्तर लिखा है अब आपको केवल एक काम करना है. काम यह कि आप खुद से यह सवाल पूछिए कि क्या जो प्रश्न किया गया था, उसका सही-सही उत्तर आपको मिल गया है? क्या अब आप इस उत्तर से पूरी तरह, इस प्रकार संतुष्ट हैं कि इससे जुड़ा हुआ कोई अन्य प्रश्न पूछना नहीं चाह रहे हैं? यदि इन सबका उत्तर ‘हां‘ में है, तो आप समझ लीजिए कि आपने जो उत्तर लिखा है वह ‘अच्छे उत्तर‘ की श्रेणी में आएगा.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्ली. UPSC Preparation: सिविल सर्विस परीक्षा की तैयारी के लिए मैं आपको एक बहुत सरल किन्तु बहुत ही वैज्ञानिक फॉर्मूला देता हूं. आपसे एक प्रश्न पूछा गया है और आपने उसका उत्तर लिखा है अब आपको केवल एक काम करना है. काम यह कि आप खुद से यह सवाल पूछिए कि क्या जो प्रश्न किया गया था, उसका सही-सही उत्तर आपको मिल गया है? क्या अब आप इस उत्तर से पूरी तरह, इस प्रकार संतुष्ट हैं कि इससे जुड़ा हुआ कोई अन्य प्रश्न पूछना नहीं चाह रहे हैं? यदि इन सबका उत्तर ‘हां‘ में है, तो आप समझ लीजिए कि आपने जो उत्तर लिखा है वह ‘अच्छे उत्तर‘ की श्रेणी में आएगा.

अब सवाल आएगा कि ऐसा कैसे हो सकता है. मैं इसके बारे में आपको कुछ टिप्स देना चाहूंगा –

  • आपके उत्तर में तथ्य होने चाहिए. जो भी बातें कहें, वे तार्किक हों और तथ्यात्मक हों. भावना के आवेग में लिखी गई बातें उत्तर को कमजोर कर देती हैं.
  • आपके उत्तर में दोहराव नहीं होना चाहिए. अधिकांश उत्तरों में यह बात देखने को मिलती है. वैसे भी सिविल सर्विस में शब्दों की सीमा आपको दोहराव की इजाजत नहीं देती. एक ही बात को दो या दो से अधिक बार कहने से न केवल आपका इम्प्रेशन ही खराब होता है, बल्कि उत्तर का ढांचा भी ढीला पड़ जाता है.
  • आपको अपनी बात ‘टु दि प्वॉइंट‘ लिखनी चाहिए. अपने दिमाग को उन्हीं बातों पर केन्द्रित करें, जो आपसे पूछी गई हैं. इसलिए बेहतर होता है कि उत्तर लिखते समय आप बीच-बीच में पूछे गए प्रश्न पर निगाह डाल लें. यह आपको भटकने से बचाएगा.
  • ‘टु दि प्वॉइंट‘ कहने का अर्थ यह है कि किसी एक प्वॉइंट को पूरा करने के बाद ही दूसरे प्वॉइंट पर आएं, ताकि आपके उत्तर में स्पष्टता दिखाई दे.
  • आपका उत्तर प्रभावशाली होना चाहिए. प्रभावशाली होने के लिए जरूरी है कि परीक्षक को उत्तर  विश्वसनीय लगे. वह आपकी बातों से कन्विन्स हो. इसलिए लफ्फाजी करने से पूरी तरह परहेज करें. आपके उत्तर में विश्लेषण की जितनी अधिक दीप्ति मिलेगी, आपके उत्तर की विश्वसनीयता उतनी ही अधिक होगी.
  • उत्तर का कसा हुआ होना बहुत जरूरी होता है. इसके लिए अपनी बात को बहुत ही ठोस एवं सिलसिलेवार रखने की जरूरत होती है. ऐसा आप कैसे कर सकेंगे?

ये भी पढ़ें-
RSMSSB VDO Recruitment 2021: राजस्थान में ग्राम विकास अधिकारी के लिए आवेदन करने वाले इन अभ्यर्थियों के फॉर्म हुए निरस्त
Bihar Police Admit Card: बिहार पुलिस ड्राइवर कॉन्स्टेबल डीईटी टेस्ट के लिए एडमिट कार्ड इन आसान स्टेप्स से करें डाउनलोड

आमतौर पर आपने यही सुना होगा – रोटी, कपड़ा और मकान. यह कभी नहीं सुना होगा कि ‘कपड़ा, मकान या रोटी‘. ऐसा क्यों है? यह प्राथमिकता के कारण है. चूंकि रोटी जीवन की पहली जरूरत है या यूं कह लें कि रोटी, कपड़ा और मकान, इन तीनों में सबसे अधिक रोटी जरूरी है, इसलिए सबसे पहले रोटी आयी है, फिर कपड़ा और अंत में मकान.
आपके उत्तर में यह प्राथमिकता होनी चाहिए. जो बिन्दु सबसे महत्वपूर्ण हैं, वे सबसे पहले और जो सबसे कम महत्वपूर्ण हैं, वे सबसे अंत में आना चाहिए. इससे आपके उत्तर में अपने आप ही कसावट आ जाएगी.

Tags: Civil Services, Civil Services Examination, UPSC, Upsc exam

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर