नेपोटिज्म पर बोलीं 'आशिकी' फेम अनु अग्रवाल- 'इंडस्ट्री में मेरे साथ भी हुआ था भेदभाव, आउटसाइडर मान कर...'

नेपोटिज्म पर बोलीं 'आशिकी' फेम अनु अग्रवाल- 'इंडस्ट्री में मेरे साथ भी हुआ था भेदभाव, आउटसाइडर मान कर...'
अनु अग्रवाल को आशिकी फिल्म से खास पहचान मिली थी. (photo credit: instagram/@bestofbollywood8)

बॉलीवुड में अपनी जर्नी और एक्सपीरियंस को लेकर अनु अग्रवाल (Anu Agrawal) ने कई बातें बताईं, जिसमें उन्होंने यह भी बताया कि इंडस्ट्री में उन्हें किन-किन परिस्थितियों का सामना करना पड़ा.

  • Share this:
मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत की मौत (Sushant Singh Rajput Suicide) के बाद से इंडस्ट्री में नेपोटिज्म का मुद्दा गर्माया हुआ है. कई एक्टर्स बॉलीवुड में परिवारवाद को लेकर बात कर रहे हैं और नए-नए खुलासे कर रहे हैं. यही नहीं सोनू निगम के वीडियो के बाद से म्यूजिक इंडस्ट्री में तहलका मचा हुआ है. इसी कड़ी में अब 'आशिकी' (Aashiqui) फेम अनु अग्रवाल (Anu Aggarwal) भी सामने आई हैं और बॉलीवुड में परिवारवाद और ग्रुपिंग को लेकर कई खुलासे किए हैं. बॉलीवुड में अपनी जर्नी और एक्सपीरियंस को लेकर एक्ट्रेस ने कई बातें बताईं, जिसमें उन्होंने यह भी बताया कि इंडस्ट्री में उन्हें किन-किन परिस्थितियों का सामना करना पड़ा.

अनु अग्रवाल (Anu Aggarwal) ने पिंकविला को दिए इंटरव्यू में अपने डेब्यू से लेकर इंडस्ट्री में अपने सफर तक के बारे में बात की और बताया कि उन्हें भी इंडस्ट्री में आउटसाइडर्स की तरह ही ट्रीट किया जाता था. उन्होंने कहा, 'बॉलीवुड में शुरुआती दौर में मेरे साथ आउटसाइडर की तरह व्यवहार किया जाता था. समझ ही नहीं आता था कि क्या कहूं और किससे कहूं. मुझे सफलता के नतीजे भी भुगतने पड़े. लोगों की जलन और बुरा व्यवहार भी देखना पड़ा. मैं इन सबमें इतनी बुरी तरह उलझ गई कि समझ ही नहीं पाई, कि इन सबसे कैसे निपटा जाए.'

सुशांत सिंह राजपूत के निधन पर बात करते हुए एक्ट्रेस ने कहा- 'मैं भी एक आउटसाइडर हूं, इसलिए सुशांत (Sushant Singh Rajput) से ताल्लुक रखती हूं. इंडस्ट्री में हमें हमेशा एक बाहरी इंसान के तौर पर तरह ट्रीट किया जाता है. ना तो हमारे साथ कोई खड़ा होने वाला होता है और ना ही कोई साथ देता था. कुछ लोग साथ देने के लिए तैयार हुए, लेकिन वह बदले में मुझसे जो चाहते थे उसके लिए मैं तैयार नहीं थी. मैं बहुत कम उम्र में ही समझ गई थी कि अगर इस इंडस्ट्री में कोई फेवर करता है तो वह बदले में कुछ जरूर चाहता है.'



ये भी पढ़ेंः कंगना रनौत ने शेयर की आलिया, सोनम और सोनाक्षी की पुरानी फोटो, बोलीं- करण कहते हैं स्टार किड्स गुडलुकिंग होते हैं
एक्ट्रेस ने आगे बताया, 'आउटसाइडर होने के मुझे बहुत से नुकसान झेलने पड़े, जिनमें एक यह भी रहा कि अवॉर्ड से मेरा नाम हटा दिया गया. अवॉर्ड शो में मेरा नाम लीड कैटेगरी से हटा दिया गया और सपोर्टिंग कैटेगरी में डाल दिया गया. ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि ज्यूरी मेंबर मुझे नहीं पहचानते थे. उन्होंने मेरा नाम देख कर पहले यही पूछा कि यह कौन है? इसके मां-बाप कौन हैं? पता नहीं कहां की लड़की है? इन सबके बाद उन्होंने मेरा नाम लीड कैटेगरी से हटाकर सपोर्टिंग कैटेगरी में डाल दिया. इस बात से मैं इतनी दुखी हो गई थी कि रात भर रोती रही थी.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज