होम /न्यूज /मनोरंजन /

पहले स्वदेशी युद्धपोत IAC Vikrant पर मोहनलाल हुए सवार, बेजोड़ खासियतों को देखकर बताया इंजीनियरों का चमत्कार

पहले स्वदेशी युद्धपोत IAC Vikrant पर मोहनलाल हुए सवार, बेजोड़ खासियतों को देखकर बताया इंजीनियरों का चमत्कार

मोहनलाल ने IAC विक्रांत का दौरा कर जमकर की भारतीय इंजीनियर्स की तारीफ

मोहनलाल ने IAC विक्रांत का दौरा कर जमकर की भारतीय इंजीनियर्स की तारीफ

Mohanlal IAC Vikrant Journey: 'दृश्यम' फेम मोहनलाल के अभिनय के चर्चे तो देशभर में मशहूर हैं लेकिन ये बात बहुत कम लोग जानते हैं कि वे भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल की उपाधि से भी सम्नानित किए जा चुके हैं. हाल ही में एक्टर भारत के पहले स्वदेशी विमान वाहक (Indigenous Aircraft Carrier (IAC) विक्रांत में सवार हुए और फैंस से अपने अनुभव को बयां किया.

अधिक पढ़ें ...

मोहनलाल (Actor Mohanlal) न सिर्फ अभिनेता बल्कि वे भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट कर्नल की उपाधि से भी नवाजे जा चुके हैं. उन्हें साल 2018 में लेफ्टिनेंट कर्नल के रूप में इंडियान टेरिटोरियल आर्मी (Territorial Army) ऑफ इंडिया में शामिल किया गया था. हाल ही में उन्हें भारत के पहले स्वदेशी विमान वाहक (Indigenous Aircraft Carrier) (IAC) विक्रांत में सवार होने का मौका मिला, जो जल्द ही चालू होने वाला है. इसे कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड में बनाया गया है और अभिनेता मोहनलाल ने युद्धपोत को ‘एक सच्चा इंजीनियरिंग चमत्कार’ कहा है.

मोहनलाल ने बयां किया Vikrant की यात्रा का अनुभव

‘दृश्यम’ फेम एक्टर ने IAC के लिए दुआ की है कि ये युद्धपोत हमेशा विजयी रहे. विमानवाहक पोत की यात्रा के अनुभन बयां करने के लिए मोहनलाल ने सोशल मीडिया का सहारा लिया है और लंबा पोस्ट लिखा है. उन्होंने कहा, ‘भारत के पहले स्वदेशी विमान वाहक (IAC Vikrant) पर सवार होने के लिए सम्मानित महसूस कर रहा हूं. जल्द ही कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड, केरल में निर्मित विक्रांत को कमीशन किया जाएगा. 13 लंबे वर्षों के समर्पित निर्माण के बाद, यह एक सच्चा इंजीनियरिंग चमत्कार है, जो भारतीय नौसेना को और मजबूत बनाता है और भारत की जहाज निर्माण क्षमताओं के बारे में बताता है.’

View this post on Instagram

A post shared by Mohanlal (@mohanlal)

IAC विक्रांत बनाने वालों को मोहनलाल का सैल्युट

अभिनेता ने आगे लिखते हैं, ‘मैं इस अवश्विसनीय अवसर के लिए खास तौर से कमांडिंग ऑफिसर, कमोडोर विद्याधर हरके, वीएसएम, और कोचीन शिपयार्ड लिमिटेड के अध्यक्ष और प्रबंध निदेशक (Chairman & Managing Director of Cochin Shipyard Limited) मधु नायर के गर्मजोशी से स्वागत के लिए अपना हार्दिक आभार व्यक्त करता हूं. इस मशीन की बेजोड़ खासियतों को देखकर मैं आईएसी विक्रांत को बनाने में लगे सभी लोगों को सलाम करता हूं और उम्मीद जताता हूं कि ये हमेशा समुद्र में विजयी रहे!’

अभिनय के बाद अब डायरेक्टर बने मोहनलाल

अभिनेता के काम के मोर्चे पर बात करें तो उन्होंने अपने करियर में पहली बार ‘बैरोज: गार्जियन ऑफ डी’गामाज ट्रेजर’ (Barroz: Guardian of D’Gama’s Treasure) का निर्देशन करने का फैसला किया है. इन दिनों वे उसी में बिजी हैं और इसके अलावा वे शाजी कैलास की फिल्म ‘अलोन’ में बतौर लीड स्टार दिखाई देंगे. जानकारी के लिए आपको बता दें कि मोहनलाल एक बार फिर जीतू जोसेफ के साथ अपकमिंग ड्रामा के लिए सहयोग कर रहे हैं. इसकी शूटिंग कोच्चि में शुरू हो चुकी है.

Tags: IAC-1 Vikrant, Indian navy, Mohanlal, Mohanlal Drishyam, Trending news, Trending news in hindi

अगली ख़बर