• Home
  • »
  • News
  • »
  • entertainment
  • »
  • B'day SPl: काजोल के माई तनुजा के आज ह जन्मदिन, उनकर भी रहे एगो दौर

B'day SPl: काजोल के माई तनुजा के आज ह जन्मदिन, उनकर भी रहे एगो दौर

.

.

हिंदी सिनेमा जगत स्टार हीरोइन काजोल के मां तनुजा मुखर्जी के आज जन्मदिन ह. उनक जन्म 23 सितंबर 1943 के मराठी परिवार में भइल रहे. एक समय में उहो सिनेमा जगत के बहुत बड़ हीरोइन रहली अउर खूब नाम कमइली. उनकर जन्मदिन के मौका पर रउआ लोगन के उनकर जीवन के बारे में हमनी के बतावल जाता.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

आज के दौर भले काजोल के खूब जानेला, पहचानेला आ 90 के दशक के सबसे सफल हीरोइन मानेला. बाकिर एगो अइसनो दौर रहल बा जब उनके माई के जादू फिल्म इंडस्ट्री पर चलल रहे. ‘ओ मेरे दिल के चैन, चैन आए मेरे दिल को दुआ कीजिए’ के सुंदर, संजीदा अदाकारा के के भुला सकेला. एही फिल्म ‘मेरे जीवन साथी’ में कई गो अइसन यादगार गाना बा जे में तनुजा के मासूमियत लउकल बा. राजेश खन्ना, धर्मेन्द्र अउरी जीतेंद्र के साथे उनके जोड़ी खूब जमल आ लोग बड़ा पसंद कइल तनुजा के.

तनुजा के परिवार फिल्म इंडस्ट्री से ही जुड़ल बा. उनके जन्म आजे के दिन 23 सितंबर 1943 के मराठी परिवार में भइल. उनके पिता जी कुमारसेन समर्थ भारतीय फिल्मन के शुरुआती दौर के सफल फिल्मकार रहलें. तनुजा के माई शोभना समर्थ हिन्दी फिल्मन के बड़ अभिनेत्री रहली आ कई गो सफल फिल्मन के हीरोइन रहली. तनुजा के माई बाप के बियाहे एह शर्त पर भइल रहे कि कुमारसेन फिल्म बनइहें त शोभना अभिनेत्री बनिहें.

दरअसल, बात ई बा कि तनुजा के नानी भी अभिनेत्री रहली, नाम रहे रत्तन बाई आ मराठी फिल्मन में अभिनय कइले रहली. उनके माई भी हिन्दी फिल्मन के सफल अभिनेत्री रहली आ भगवान राम के ऊपर बनल राम-त्रयी फिल्म में सीता के भूमिका निभवली. ओ में ‘राम राज्य’(1943) सबसे अधिक सफल भइल रहे. माई के बाद तनुजा के बड़ बहिन नूतन त हिन्दी फिल्मन के महान अभिनेत्री बनली. नूतन के बाद तनुजा भी फिल्मन में आपन करियर शुरू कइली. आ संजोग के बात देखीं, तनुजा के बेटी काजोल भी हिन्दी के सफलतम अभिनेत्री हई. अब देखीं, ई शृंखला रुकल नइखे. नूतन के बेटा अउरी प्रसिद्ध अभिनेता मोहनीश बहल के बेटी, कहे के माने एह वंशज के पंचवा पीढ़ी प्रनूतन बहल भी फिल्म अभिनेत्री हई. उनके हाले में जी5 पर डार्क ह्यूमर के फिल्म ‘हेलमेट’ आइल ह. उ सलमान खान के द्वारा निर्मित फिल्म ‘नोटबुक’ से डैब्यू कइले रहली. कहे के माने ई परिवार के पाँच पीढ़ी फिल्म अभिनय में बा, माने कि जब से भारत में फिल्मन के शुरुआत भइल बा, तबसे एह परिवार के केहू ना केहू महिला फिल्मन में बा.

तनुजा के हिन्दी फिल्म में डैब्यू बाल कलाकार के तौर पर भइल रहे. उनके बड़ बहिन नूतन जे उनसे 7 साल बड़ रहली. दुनू जाना के लेके उनके माई शोभना समर्थ फिल्म ‘हमारी बेटी’ (1950) के निर्माण कइली. एह फिल्म के निर्देशक भी उहे रहली. फिल्म के कहानी बड़ा दिलचस्प रहे. एगो एक्सीडेंट में एगो विधवा माई के छोट बेटी भुला जात बिया. ओ छोट लइकी के जीवन में दू गो इंसान मिलsतारे. एगो ओकरा खातिर सब कुछ न्योछावर कर देत बा अउरी एगो ओकरा खातिर आपन रंगीन दुनिया छोड़ देत बा. एने ओकर माई आपन बेटी के तलाश में बिया अउरी एगो दंपति आपन छोट बच्ची के ओकरा के दे देता. कालांतर में बिछड़ल बेटी बड़ हो तिया आ एगो सुंदर किशोरी बन जात बिया. जवन माई अपना बेटी के तलाश में बिया उहे अपना बेटी के प्यार के राह में दुर्भाग्य से बाधा बन जातिया. फेर कइसे सब कुछ ठीक होता, कइसे उ अपना बेटी से मिलतिया इहे कहानी रहे. फिल्म के कहानी बड़ा सुंदर रहे. नूतन किशोरी के रूप में डैब्यू कइली आ ओकरा बाद हिरोइन के रोल में आगे बढ़ गइली. तनुजा बाल कलाकार रहली अउरी उ हिरोइन के रूप में कुछ साल बाद अइली.

1960 में उनके माई फेर एगो फिल्म बनवली ‘छबीली’. फिल्म में नूतन मुख्य भूमिका में रहली आ नूतन तब तक स्थापित अभिनेत्री हो गइल रहली. एही फिल्म से तनुजा जवान अभिनेत्री के रूप में डैब्यू कइली. राजकपूर, गीता बाली, मधुबाला, माला सिन्हा जइसन महान कलाकार लोग के तलाशे वाला अउरी ओ लोग के शुरुआती दौर में काम देबे वाला निर्माता-निर्देशक किदार शर्मा तनुजा के भी अपना फिल्म ‘हमारी याद आएगी’ में मुख्य अभिनेत्री बनवलें. ई फिल्म के बाद तनुजा के अच्छा काम मिले लागल. 1966 के फिल्म ‘बहारें फिर भी आएंगी’ में उनके गुरुदत्त के साथ जोड़ी बनल. गुरुदत्त ए फिल्म के निर्माण भी करत रहलें. ई उनके आखिरी फिल्म रहे, कई गो सीन उनका साथे फिल्मावल भी गइल रहे. अइसन फिल्मी पंडित लोग कहेला कि ओ पी नैयर के अद्भुत संगीत से सजल गीत ‘वो हँसके मिले हमसे’ में गुरुदत्त भी रहलें. बाकिर उनके अचानक मृत्यु के बाद धर्मेन्द्र के कास्ट कइल गइल आ गीत से गुरुदत्त के सीन एडिट कर दिहल गइल. रउआ गाना के विडिओ देखब त एहसास होई. हालांकि गुरुदत्त जाये से पहिले तनुजा के अभिनय में मौजूद कमी निकाल देहले रहलें.

तनुजा के आगे आवे वाला फिल्मन में ज्वेल थीफ रहे. फेर धर्मेन्द्र के साथे इज्जत काफी हिट रहल. ओकर बाद जीतेंद्र के साथे जीने की राह भी स्लीपर हिट साबित भइल. उनके जोड़ी जब राजेश खन्ना के साथे बनल त कई गो बढ़िया फिल्म दर्शक के सामने आइल जे में हाथी मेरे साथी, मेरे जीवन साथी आदि रहे. उनके और भी सफल फिल्मन में दो चोर, याराना, खुद्दार, प्यार की कहानी, अनुभव आदि रहे.

( लेखक मनोज भावुक भोजपुरी साहित्य व सिनेमा के जानकार हैं।)

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज