Home /News /entertainment /

अनुपम खेर बोले- 'द एक्‍सीडेंटल प्राइम मिनिस्‍टर' देखकर मनमोहन सिंह हमें चाय पर बुलाएंगे

अनुपम खेर बोले- 'द एक्‍सीडेंटल प्राइम मिनिस्‍टर' देखकर मनमोहन सिंह हमें चाय पर बुलाएंगे

फिल्म के एक दृश्य में अनुपम खेर

फिल्म के एक दृश्य में अनुपम खेर

मुख्‍य भूमिका निभा रहे अनुपम खेर ने चुप्‍पी तोड़ते हुए फिल्‍म को लेकर लग रहे आरोपों का जवाब दिया है. फिल्‍म के बारे में अनुपम खेर ने बताया, 'यह क्रांतिकारी फिल्‍म है. पहली बार हम वास्‍तविक जीवन के किरदारों और असली नामों पर फिल्‍म बना रहे हैं.'

अधिक पढ़ें ...
    बॉलीवुड के वेटरन एक्टर अनुपम खेर जल्‍द ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिं‍ह के किरदार में 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्‍टर' फिल्‍म में नज़र आएंगे. गुरुवार को इसका ट्रेलर जारी हुआ, तब से इस फिल्म के साथ पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह भी सुर्खियों में आ गए हैं.

    यह फिल्‍म पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिं‍ह के मीडिया सलाहकार रहे संजय बारू की इसी नाम से लिखी किताब पर बनाई गई है. कांग्रेस का आरोप है कि यह फिल्‍म बीजेपी का प्रोपगैंडा है. इसके अलावा फिल्‍म की रिलीज के समय पर भी सवाल उठ रहे हैं. मुख्‍य भूमिका निभा रहे अनुपम खेर ने चुप्‍पी तोड़ते हुए फिल्‍म को लेकर लग रहे आरोपों का जवाब दिया है.

    गांधी परिवार और मनमोहन सिंह की छवि को इस फिल्‍म के जरिए खराब करने के आरोप पर उन्‍होंने कहा कि यह फिल्‍म देखने के बाद लोग उनसे प्‍यार करने लगेंगे. मनमोहन सिंह का किरदार अमर हो जाएगा. उन्‍होंने कहा कि फिल्म देखने के बाद मनमोहन सिंह हमें चाय पर बुलाएंगे.


    अनुपम खेर ने कहा कि देश के राजनीति परिवेश की यह सबसे अहम कहानी है. बकौल खेर, 'जब मुझे युवा कांग्रेस के नेता की चिट्ठी मिली, तो मैंने शुरू में इसे नजरअंदाज किया, लेकिन इस पर विवाद हो गया. हमने सेंसर बोर्ड की अनुमति से पहले कुछ नहीं किया. अब ऐसी कोई तीसरी ताकत नहीं है, जो हमें रिलीज से पहले फिल्‍म दिखाने को कहे.'

    फिल्‍म के बारे में अनुपम खेर ने बताया, 'यह क्रांतिकारी फिल्‍म है. पहली बार हम वास्‍तविक जीवन के किरदारों और असली नामों पर फिल्‍म बना रहे हैं. यह मेरे जीवन का सबसे मुश्किल किरदार है. 6-7 महीने तक मैंने कड़ी मेहनत की.'

    अनुपम खेर ने फिल्‍म के बीजेपी के प्रोपगैंडा होने के आरोप पर कहा, 'मुझे ऐसा करने की कोई जरूरत नहीं है. पहले तो मैंने इस फिल्‍म को मना कर दिया था. लेकिन फिर मुझे लगा कि एक कलाकार के रूप में मुझे यह रोल करना चाहिए. मनमोहन सिंह की भूमिका निभाना आसान नहीं था. जब मैंने कमरे में उनकी तरह चलकर देखा तो पता चला कि मैं तो यह रोल नहीं कर सकता. मनमोहन सिंह ज्‍यादा भाव व्यक्‍त करते नहीं देखा है. फिल्‍म को मैंने चुनौती की तरह लिया.'


    चुनावों से पहले फिल्‍म की रिलीज के सवाल पर उन्‍होंने कहा कि अगर कोई यह कहता है कि फिल्‍म से किसी पार्टी की सरकार आएगी तो यह वोटर्स की अक्‍लमंदी को बेवकूफ ठहराना है. वे पिक्‍चर देखकर तय नहीं करते कि किसको वोट करना है. नेता जरूर तय करते हैं कि कौनसी फिल्‍म उनको सूट कर रही है. किसी ने उड़ता पंजाब को यूज किया था.

    अभिव्‍यक्ति की आजादी के सवाल खेर ने जवाब दिया, 'किसी के बाप की बपौती थोड़े ही है वह क्‍या तय करेंगे मेरे बारे में. फिल्‍म को प्रोपगैंडा बताना उनका फ्रीडम ऑफ स्‍पीच है. यहां पर पीएम को गाली दी जा सकती है. सेना को गाली दी जा सकती है. यही तो इस लोकतंत्र की खासियत है.'

     

    Tags: Anupam kher, BJP, Congress, Manmohan singh, The Accidental Prime Minister

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर