अपना शहर चुनें

States

ट्विटर पर क्यों उठी स्वरा भास्कर की गिरफ्तारी की मांग, #ArrestSwaraBhaskar हुआ ट्रेंड

एंटी सीएए प्रोटेस्ट के दौरान स्वरा भास्कर का भाषण वायरल हो रहा है. (तस्वीर स्वरा भास्कर की फेसबुक वॉल से साभार.)
एंटी सीएए प्रोटेस्ट के दौरान स्वरा भास्कर का भाषण वायरल हो रहा है. (तस्वीर स्वरा भास्कर की फेसबुक वॉल से साभार.)

एंटी सीएए प्रोटेस्ट (Anti CAA Protest) के दौरान स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar) के एक भाषण की क्लिप ट्विटर पर वायरल हो रही है. कई ट्वीटर यूजर्स ने इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा है कि स्वरा भास्कर को गिरफ्तार किया जाना चाहिए.

  • Share this:
फिल्म अभिनेत्री स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar) का एक वीडियो इस वक्त इंडिया के टॉप ट्विटर ट्रेंड्स में शामिल है. 'अरेस्ट स्वरा भास्कर' (#ArrestSwaraBhaskar) के नाम से चल रहे इस ट्विटर ट्रेंड में स्वरा की गिरफ्तारी की मांग हो रही है. एंटी सीएए प्रोटेस्ट (Anti CAA Protest) के दौरान स्वरा भास्कर के एक भाषण की क्लिप भी ट्विटर पर वायरल हो रही है. कई ट्वीटर यूजर्स ने इस वीडियो को ट्वीट करते हुए लिखा है कि स्वरा भास्कर को गिरफ्तार किया जाना चाहिए. हालांकि इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि News18 नहीं करता है.

क्या हो रहे हैं ट्वीट
कुछ ट्विटर यूजर्स ने स्वरा भास्कर पर दिल्ली में दंगा फैलाने का आरोप भी लगाया है. विशु सिंह नाम के एक ट्वीटर यूजर ने लिखा है कि स्वरा भास्कर मुंबई से दिल्ली आईं और यहां पर आग लगा दी. बहुत सारे लोगों को अपना घर छोड़ना पड़ा, उनके प्रिय लोगों की मौत हो गई. स्वरा को जेल की सलाखों के पीछे होना चाहिए. विशु ने 5 जनवरी का स्वरा भास्कर का एक ट्वीट रिट्वीट करते हुए यह सबकुछ लिखा है.





वहीं हेमंत राघव नाम के ट्विटर अकाउंट से कहा गया है कि स्वरा अर्बन नक्सल हैं. उनकी गिरफ्तारी होनी चाहिए. तनिशा गुप्ता नाम के एक ट्वीटर अकाउंट से लिखा गया है कि भारत एक ऐसा देश है, जहां पर फ्रीडम ऑफ स्पीच के नाम पर कोई भी दंगे या हिंसा भड़का सकता है. सरकार इन लोगों के खिलाफ एक्शन लेने की बजाए 'सबका विश्वास पाने में व्यस्त है.'

मुखर रही हैं स्वरा
गौरतलब है कि इससे पहले भी संशोधित नागरिकता कानून (CAA) के खिलाफ स्वरा भास्कर कई बयान दे चुकी हैं. जनवरी में स्वरा ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया (Jamia Millia Islamia) के छात्रों की प्रशंसा की थी और दावा किया था कि यह ‘खास मकसद से लाया गया’ कानून है. उन्होंने यह बयान विश्वविद्यालय में आयोजित एक जनसभा के दौरान दिया था. इस कार्यक्रम में ‘रांझणा’ फिल्म में उनके सह अभिनेता रहे मोहम्मद जीशान अयूब भी मौजूद थे.

इसी साल मार्च में स्‍वरा भास्‍कर ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) की एक स्‍पीच को री-ट्वीट कर कहा, 'मास्‍टर स्‍ट्रोक, अरविंद केजरिवाल सर ने 'सीएए', 'एनआरसी', 'एनपीआर' को प्वाइंटआउट किया और ये भी बताया कि कैसे तीनों एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं. पूरा प्रोजेक्‍ट न सिर्फ एंटी मुस्‍लिम है बल्कि एंटी पीपल है.' उस वक्त भी स्‍वरा भास्‍कर के ट्वीट करने के कुछ देर ही लोगों ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया था. एक यूजर ने लिखा था, 'टुकड़े-टुकड़े गैंग की तो तुम भी मेंबर हो, तरफदारी तो करोगी ही'.

आपको बता दें  स्वरा भास्कर ने दिल्ली यूनिवर्सिटी के मिरांडा हाउस कॉलेज से ग्रेजुएशन किया है जबकि जेएनयू से उन्होंने पोस्ट ग्रेजुएशन किया है.

ये भी पढ़ें:

Unlock 1.0: यूपी में धर्मस्थल खोलने को लेकर सीएम योगी का अहम निर्देश

PMJDY: जनधन खाते के तहत मुफ्त में मिलती हैं ये 10 खास सुविधाएं
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज