सांसद रवि किशन ने दिखाया कड़ा रुख, भोजपुरी सिनेमा में अश्लीलता पर रोक लगाए जाने के लिए कानून बनाने की मांग

सांसद रवि किशन ने भोजपुरी सिनेमा में अश्लीलता को खत्म करने के लिए बड़ा कदम उठाया है.

भोजपुरी (Bhojpuri) एक्टर और गोरखपुर (Gorakhpur) से बीजेपी (BJP) सांसद रवि किशन (Ravi Kishan) ने भोजपुरी सिनेमा में अश्लीलता (Vulgarity in Bhojpuri Cinema) के खिलाफ आवाज उठाई है. उन्होंने केंद्रिय मंत्रियों और राज्य सरकारों से अपील की है कि अश्लीलता पर रोक के लिए कानून बनाएं.

  • Share this:
    गोरखपुर (Gorakhpur) के सांसद और दिग्गज भोजपुरी एक्टर रवि किशन शुक्ला (Ravi Kishan Shukla) ने भोजपुरी फिल्मों (Bhojpuri Films) और गानों (Bhojpuri Songs) के माध्यम से समाज में फैलाई जा रही अश्लीलता (Vulgarity) पर रोक लगाए जाने हेतु सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर, संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, और बिहार के कला संस्कृति एवं युवा विभाग मंत्री आलोक रंजन को पत्र लिखकर भोजपुरी फ़िल्मों और गानों के माध्यम से समाज में फैलाई जा रही अश्लीलता पर रोक लगाए जाने के लिए कठोर कानून बनाए जाने की मांग की है.

    रवि किशन (Ravi Kishan) शुक्ला ने पहले बन चुकी फ़िल्म और अश्लील गानों पर भी प्रतिबंध लगाए जाने की पुरजोर वकालत की है. भोजपुरी मेगा स्टार और सांसद रवि किशन शुक्ला भोजपुरी फिल्म जगत से पिछले 3 दशकों से भी अधिक समय से जुड़े हुए हैं. उनकी फिल्में और गानों ने इंडस्ट्री में खूब धूम मचाया है. रवि किशन गोरखपुर से सांसद बनने के बाद लगातार भोजपुरी के उत्थान के लिए प्रयास कर रहे हैं. लोकसभा में रवि किशन के द्वारा भोजपुरी को संविधान की आठवीं अनुसूची में स्थान दिलाने के लिए एक ग़ैर-सरकारी सदस्य का विधेयक भी संसद में पेश किया है, जिससे भारत सरकार द्वारा इस भाषा क़ो समवर्धन और संरक्षण प्रदान किया जाए.

    सांसद रवि किशन ने कहा- "मैं स्वयं भी पूर्वांचल के जौनपुर का निवासी हूं, हमारे प्रथम राष्ट्रपति भारत रत्न डॉक्टर राजेंद्र प्रसाद की उत्पत्ति भोजपुरी माटी में रही है." रवि किशन ने पत्र में उल्लेख किया है की भोजपुरी भाषा में कई फ़िल्में बनी हैं, जो आज भी बेहद लोकप्रिय हैं. सांसद की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि पिछले कुछ दशक में भोजपुरी फ़िल्म और विशेषकर उसके गानों में काफ़ी गिरावट आयी है. आज की भोजपुरी फ़िल्में और गानें अश्लीलता का पर्याय बन गये हैं. जो गंभीर चिंता का विषय है. इससे युवा पीढ़ी के कोमल मन-मस्तिष्क पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है. इसलिए भोजपुरी फ़िल्म और गानों की अश्लीलता पर लगाम लगाने की अविलम्ब आवश्यकता है.

    सांसद रवि किशन ने केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश, बिहार सरकार से इसके लिए एक कठोर क़ानून बनाए जाने की मांग की है. जिससे भोजपुरी गानों, और फिल्मों में अश्लीलता पर रोक लग सके. सांसद ने उल्लेख किया है की प्रमुखरूप से पश्चिम बिहार और पूर्वी उत्तर प्रदेश के क्षेत्र में बोली जाने वाली भोजपुरी भाषा को भारत में लगभग 25 करोड़ लोग बोलते और समझते हैं. पूरे विश्व में भोजपुरी जानने वालों की बड़ी तादात है.

    आपको बता दें कि एक्टर रवि किशन ने भोजपुरी सिनेमा (Bhojpuri Cinema) में लंबी पारी खेली है. उनका करियर बेहद सफल रहा है. अपने अभिनय के दम पर उन्होंने बॉलीवुड (Bollywood) में भी अपनी जगह बनाई है. भोजपुरी में एक्टर रवि किशन के भी ऐसे कई गाने हैं जिन पर लोगों ने अश्लील होने का आरोप लगाया है. इनमें नगमा (Nagma) के साथ उनका गाना 'लहंगा उठा देब रिमोट' से और राखी सावंत (Rakhi Sawant), पवन सिंह (Pawan Singh) के साथ फिल्माया गया गाना 'पीला-पीला जवनिया के जूस', शामिल हैं. अब सांसद रवि किशन के द्वारा अश्लीलता के खिलाफ कदम उठाए जाने की लोग प्रशंसा कर रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.