AR Rahman के साथ काम करना चाहते हैं गीतकार मुन्ना दुबे, भोजपुरी, गुजराती और नेपाली फिल्मों में किया है काम

A.R Rahman के साथ काम करना चाहते हैं गीतकार मुन्ना दुबे

A.R Rahman के साथ काम करना चाहते हैं गीतकार मुन्ना दुबे

800 से ज्यादा गाने लिख चुके गीतकार मुन्ना दुबे (Munna Dubey) भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री (Bhojpuri Film Industry) का जाना-माना नाम हैं. हाल ही में मीडिया से चर्चा में उन्होंने अपने करियर से जुड़े कई मुद्दों पर बात की. उन्होंने बताया कि वो ए आर रहमान (A.R Rahman) के साथ काम करने की ख्वाहिश रखते है. उन्हें बॉलीवुड (Bollywood) के कुछ दिग्गज सिंगर्स से प्रेरणा मिलती है, जिसमें मुकेश उनके दिल के सबसे करीब रहे हैं.

  • Share this:
मुन्ना दुबे (Munna Dubey) भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री (Bhojpuri Film Industry) का जाना-माना नाम हैं. वो अब तक 53 भोजपुरी फिल्मों (Bhojpuri Films) के लिए म्यूजिक बना चुके हैं और 800 से ज्यादा गाने लिखे चुके हैं. हाल ही में उन्होंने मीडिया से चर्चा में अपने करियर से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए. मुन्ना ने बताया कि उनकी ख्वाहिश है कि उन्हें ए आर रहमान (A.R. Rahman) के साथ काम करने का मौका मिले. भोजपुरी पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि ये एक एक समृद्धशाली भाषा है, लेकिन वक्त के साथ कुछ गलत चीजें भी चलन में आयीं हैं, उनसे इंडस्ट्री को बचाना होगा.

उन्होंने भोजपुरी संगीत से वल्गेरिटी को दूर करने की सलाह दी. उनका मानना है कि हमें साफ सुथरे गाने समाज को देने चाहिए. हम सब भी इस दिशा में काम कर रहे हैं और नए आ रहे कलाकारों को भी इस ओर ध्यान देना चाहिए. बता दें मुन्ना बक्सर, नियाजीपुर के रहने वाले हैं. उन्हें फिल्मों में आने का शौक बचपन से रहा था. यही कारण है कि 1996 में खड़गपुर से इंजीनियरिंग करने के बावजूद वो फिल्मों में आ गए. वो पहले गाने लिखते थे. बाद में म्यूजिक डायरेक्शन भी करने लगे.

मुन्ना ने बताया कि उन्हें बॉलीवुड के कुछ दिग्गज सिंगर्स से प्रेरणा मिलती है, जिसमें मुकेश उनके दिल के सबसे करीब रहे हैं. उन्होंने कहा कि मैं उनके गाने सुनते-सुनते खुद भी लिखने लगा और आज म्यूजिक डायरेक्टर बन गया हूं. बॉलीवुड में किसके साथ काम करना चाहेंगे के सवाल पर वो बोले कि मेरी ए आर रहमान के साथ काम करने की  ख्वाहिश है. उनके यूनिक थॉट्स, जो सबके पास नहीं होते हैं, वो मुझे उनका फैन बनाता है. मुझे मेरे माता-पिता के साथ दोस्तों का हमेशा साथ मिला, जिसकी बदौलत आज मैंने 800 से ज्यादा गाने लिखे हैं और 53 फिल्मों में संगीत दिया है. उन्होंने बताया कि वो भोजपुरी के साथ हिंदी में भी काफी काम कर चुके हैं. इसके अलावा वो गुजराती, बंगाली और नेपाली फिल्मों से भी जुड़े रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज