होम /न्यूज /मनोरंजन /Bhojpuri: नवरात्रि स्पेशल- माता रानी के प्रताप देखावत कुछ बेहतरीन फिल्म

Bhojpuri: नवरात्रि स्पेशल- माता रानी के प्रताप देखावत कुछ बेहतरीन फिल्म

.

.

शारदीय नवरात्र भारत में पर्व के मौसम के शुरुआत मानल जाला. जवना के व्यवसाय के दुनिया में फेस्टिव सीजन कहल जाला. नवरात्रि ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

एकरा बाद फेर शुरू होला शादी बियाह के सीजन, त बूझीं चारु ओर धूम धड़ाका ही रहेला. 26 से शारदीय नवरात्रि के शुरुआत हो गइल बा. लोग के घरे-घरे कलसा रखा गइल बा अउरी माई के बोला दिहल गइल बा. 9 दिन माई के पूजाई होई. त एह नवरात्रि के अउरी स्पेशल बनावे खातिर हम कुछ स्पेशल फिल्मन के लिस्ट लेके आइल बानी जे में माता रानी के महातम के बड़ा मनभावन चित्रण बा.

जय संतोषी माँ (1975)
माता के प्रताप के भावपूर्ण चित्रण के बात आई त ई फिल्म त बूझीं हरदम सबसे पहिला नंबर पर रही. मइया दुर्गा के एगो रूप संतोषी माता आ उनके भगतिन के बीच प्रेम अउरी त्याग पर बनल ई फिल्म जब आइल रहे तबो खूब चलल रहे अउरी अभियो खूब चलेला. बिरजू अउरी सत्यवती के जीवन में आवत परेशानी आ संतोषी मैया के अपना भक्त के ऊपर आशीर्वाद के कहानी रहे ई फिल्म. ई फिल्म सिनेमाहॉल में लागल त शुरू के वीकेंड में चलबे ना कइल. रिपोर्ट बतावेला कि ई फिलिम पहिला शो में 56 रुपया, दूसरा में 64 अउरी ईवनिंग शो की 98 रुपया कमइलस. रात के शो में खींच खांच के सौ रुपया ले कमाई पहुंचल रहे. बाकिर सोमार के दिन से जवन सिनेमाहॉल में तांता लागल चालू भइल त लोग पैदल, बैलगाड़ी, जीप, बस, जवन साधन मिले, तवना से चल के आवे अउरी पूरा परिवार के साथे ई फिलिम देखे. संतोषी मैया खातिर भक्ति अइसन कि ई सिनेमाघर में लोग चप्पल खोल के जाव अउरी दिया बाती से स्क्रीन पर लउकत माई के किरदार निभावत अभिनेत्री के आरती करे आ बाद में परसादी बँटाव. 11 लाख में बनल ई फिल्म तब 25 करोड़ रुपिया कमइले रहे, जवन एह बेरा के हजार करोड़ से ऊपर हो सकेला. ई फिल्म सभे देखले होई, बाकिर यूट्यूब पर रउआ दुबारा भी देख सकीलें.

मर्द (1985)
अमिताभ बच्चन के मर्द बहुत सफल फिल्म मानल जाला. एह फिल्म में गुलाम भारत के दौर देखावल गइल बा. फिल्म में अमिताभ के पिता के अंग्रेज कैद कर लेले बाड़े सन अउरी उनके माई कहीं भुला जात बाड़ी. फिल्म में दुर्गा पूजा के दृश्य बा, जहां माता रानी के मंदिर में भक्त के भीड़ इकट्ठा बा अउरी अमिताभ अपना माई के खोजत खोजत बेहाल हो गइल बाड़ें. फेर उ माई से गोहार करत बाड़ें आ गीत गावत बाड़ें, “माँ मेरी माँ से मिला दे मुझे, दर से मैं तेरे ना जाऊंगा खाली, माँ शेरोवाली”. ई गीत शब्बीर कुमार के आवाज में बा अउरी अभियो खूब चलेला. फिल्म भी बड़ा सुंदर बा.

बरसात की एक रात (1981)
अमिताभ के ही फिल्म ‘बरसात की एक रात’ के कहानी उत्तर बंगाल में सेट बा. एह फिल्म के दू गो भाषा में बनावल गइल रहे, पहिला हिन्दी अउरी दुसरा बंगाली में ‘अनुसंधान’. फिल्म थ्रिलर रहे बाकिर फिल्म में दुर्गा पूजा के झलक रहे अउरी एगो गीत भी रहे जहां उ दुर्गा जी के मूर्ति के सामने ढोल बजावत बाड़ें अउरी साथ में विलेन के पीटत बाड़ें.

देबीपक्ष (2004)
बंगाली फिल्म ‘देबीपक्ष’ दुर्गा जी के निडर छवि के विचार लेके बनल बा. फिल्म में एगो वैदिक क्रिया करे वाला ब्राह्मण के घर के कहानी बा. ओकर तीन गो बेटी बाड़ी जवना के नाम भी दुर्गा माई के नाम पर बा, रेबती, हैमन्ती, जयंती. रेबती विधवा बिया अउरी अपना पिता जी के घरे रहत बिया, हैमन्ती एगो युवक निखिलेश से प्रेम करत बिया. हैमन्ती के ओकरा प्रेमी के सामने ही एगो दबंग रतन समंता रेप कर देत बा. हैमन्ती के बाप ओकरा के बंबई अपना भाई सुशांत के लगे भेज देत बाड़ें. उहाँ सुशांत भी हैमन्ती से छेड़खानी करे के कोशिश करत बा, एही से उ भाग जातिया. ओकरा मुंबई में मानवाधिकार के दू गो कार्यकर्ता मिलत बाड़ें अउरी उ हैमन्ती के अदाकारा बने में मदद करत बाड़ें. एह तरे हैमन्ती बड़ हीरोइन बन जात बिया अउरी अपना गांवे आके सबसे बदला लेतिया. उ अंत में विलेन रतन के ओहि तरे त्रिशूल से मार देतिया जइसे दुर्गा माई महिषासुर के मरले रहली. फिल्म में उ दिन भी दशमी के रहत बा. ई फिल्म बड़ा अच्छा बा अउरी यूट्यूब पर सब्टाइटल के साथे देखल जा सकेला.

कहानी (2012)
विद्या बालन के फिल्म कहानी के पृष्ठभूमि ही कलकत्ता बा. कलकत्ता दुर्गा पूजा खातिर सगरो दुनिया में चर्चित बा. बंगाली लोग दुर्गा पूजा साल के सबसे बड़ त्योहार के जइसन मनावेला. एह फिल्म में विद्या बालन के किरदार विद्या बागची अपना पति के खोजत बिया, उ पहिले से गर्भवती बिया अउरी ओकर तलाश लगातार कठिन होत जात बा. फिल्म के पूरा बैकड्रॉप में दुर्गा पूजा के माहौल बा. दशहरा के दिने कहानी के क्लाइमैक्स आवत बा. ई फिल्म बहुत सुंदर बा अउरी बहुत सफल भी भइल रहे. दुर्गा पूजा के कलकत्ता में कइसन माहौल रहेला, ई बुझे खातिर ई फिल्म देखे के चाहीं.

दुर्गा
रानी चटर्जी के भोजपुरी फिल्म दुर्गा में उनके किरदार के नाम भी दुर्गा बा. फिल्म के उनका ऑपोजिट विराज भट्ट बाड़ें. फिल्म में उनके माई दुर्गा जइसन निडर, खूंखार अउरी प्रेम करे वाला देखावल बा. उ क्लाइमैक्स में माई के दुर्गा के सामने ही अपना पति के बचावत बाड़ी. उ एह फिल्म में एगो पुलिस इंस्पेक्टर के किरदार में बाड़ी. ई फिल्म भी रउआ यूट्यूब पर देख सकीलें.

(लेखक मनोज भावुक भोजपुरी साहित्य व सिनेमा के जानकार हैं.)

Tags: Article in Bhojpuri, Bhojpuri, Navratri

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें