भोजपुरी स्टार खेसारी लाल यादव की रुलाने वाली है कहानी, एक ही पैंट पहनते थे 7 भाई

भोजपुरी स्टार खेसारी लाल यादव की रुलाने वाली है कहानी, एक ही पैंट पहनते थे 7 भाई
खेसारी लाल यादव.

अब खेसारी लाल यादव (Khesari Lal Yadav) एक शो के लिये 10 लाख रुपये तक लेते हैं. 7 साल में उन्होंने 50 से ज्यादा फिल्में की हैं. हाल ही में वो बिग बॉस 13 (Bigg Boss 13) में नजर आए थे.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
मुंबई. खेसारी लाल यादव (Khesari Lal Yadav) आज भोजपुरी फिल्म जगत के सबसे बड़े अभिनेताओं में से एक हैं. लेकिन आज भी अपने गरीबी के दिन याद करते हैं तो उनकी आंखों में आंसू आ जाते हैं. खेसारी बताते हैं कि उनके पिता दिन में चना बेचते थे और रात में एक कंपनी में गार्ड का काम किया करते थे. ऐसे में उनके पिता केवल सवेरे 6 से 9 बजे तक ही सो पाते थे. खेसारी बताते हैं चने में प्याज डालने के लिये पैसा न होने पर कई बार उनके पिता सड़ा हुआ प्याज मार्केट से उठा लाते थे और सड़ा भाग निकालकर ठीक बची प्याज से चने बनाते थे. इस तरह वे रोज 150-200 रुपये कमाते थे.

खेसारी ने यह भी बताते हैं कि उनके जन्म के वक्त उनका मिट्टी का घर बारिश में घर ढह गया था. गांव में जिनका ईंट का घर था, उनके यहां जाकर उनकी मां ने उन्हें जन्म दिया था. खेसारी बताते हैं कि वे बहुत छोटे ही थे तभी उनकी मां, पिता जी की मदद करने दिल्ली चली गईं और वहीं रहने लगीं. दिल्ली में उनके पिता संजय कालोनी, ओखला में एक छोटी सी झोपड़ी में रहते थे. खेसारी 6 साल के थे तबसे वे गांव पर ही अपने चाचा के साथ रह रहे थे. खेसारी के तीन भाई हैं. और उनके चाचा के चार लड़के हैं. आज भी वे संयुक्त परिवार में ही रहते हैं. खेसारी बताते हैं कि उनकी चाची जवानी में ही गुजर गई थीं और उनकी मां ने ही चाचा के भी बच्चों को पाला है. खेसारी ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं हैं. वे खुद बताते हैं कि उन्होंने मैट्रिक की परीक्षा दी है बस.

खेसारी बताते हैं कि बचपन में उनके सारे भाइयों के पास एक ही पैंट होता था, जो सबसे पहले खेसारी के बड़े भाई पहना करते थे. उसके बाद जब वह छोटा होने लगता था तो वही छोटे भाईयों को दे दिया जाता था. ऐसे पैंट ट्रांसफर होता रहता था. खेसारी बताते हैं कि विशेष अवसर पर एक ही तरह के कपड़े से सबके लिये कपड़े सिलवाये जाते थे. वे याद करते हैं सातों भाईयों ने बड़े भाई की शादी में एक जैसे ही कपड़े पहने थे.



खेसारी की शादी उनके फेमस होने से पहले ही हो चुकी थी. उनकी शादी के लिए 11000 रुपये दहेज दिया जा रहा था. लेकिन उनके पिता ने बिना दहेज ही शादी करने का फैसला किया था. खेसारी बताते हैं कि उनके ससुर जी ने ही उन्हें पहला कोट-पैंट सिलवाकर दिया था. जो उन्होंने 4 भैंस बेचकर सिलवाया था. फेमस होने से पहले खेसारी और उनकी पत्नी ने लिट्टी-चोखा भी बेचा है. खेसारी लाल यादव की बेटी का नाम है कृति. कृति भी कुछ फिल्मों में बाल-कलाकार के तौर पर काम कर चुकी हैं.



 



खेसारी ने संगीत की प्रॉपर शिक्षा नहीं ली है. वे गाते-गाते ही गायक बन गये. खेसारी को उनके पिता ने 2004-05 में चने बेचकर जुटाए गये 12 हज़ार रुपये पहला कैसेट रिकॉर्ड कराने को दिये थे. खेसारी ने कैसेट रिकॉर्ड कराया, जो बिल्कुल नहीं चला. लेकिन उनके पिता ने उन्हें हिम्मत दी और कहा, "तुम्हारी इच्छा है तो गायक ही बनो." उन्होंने फिर एक बार खेसारी को 15 हज़ार रुपये दिये. पर यह कैसेट भी फ्लॉप रहा.

खेसारी रामायण, महाभारत गाने के शो किया करते थे. वे जागरण वगैरह में भी गाते थे. जिससे उन्हें हर शो के 1100-500 रुपये मिला करते थे. इन पैसों को जोड़कर और फिर पिता से 8000 रुपये लेकर कुल 25 हज़ार रुपये लगा उन्होंने अपना तीसरा कैसेट रिकॉर्ड कराया. यह कैसेट छपरा, सिवान, गोपालगंज तीन जिले में बहुत पॉपुलर हुआ.

यह भी पढ़ेंः Ramayan ने रचा इतिहास, दूरदर्शन ने वीडियो के जरिए दर्शकों को किया धन्यवाद

आज खेसारी एक शो के लिये 10 लाख रुपये तक लेते हैं. 6 साल में उन्होंने 51 फिल्में की हैं. साउथ के जाने-माने अभिनेता प्रकाश राज के साथ फिल्म 'जुनून' में काम कर चुके हैं. हाल ही में वो बिग बॉस 13 (Bigg Boss 13) में नजर आए थे. लेकिन शुरुआती दिनों में खेसारी सानिया मिर्जा से जुड़े एक गाने के चलते तीन दिन तिहाड़ जेल में भी रह चुके हैं. आज खेसारी के लाइव शो में मंच टूटने जितनी भीड़ हो जाती है. अपनी सफलता और प्रेरणा के बारे में खेसारी कहते हैं कि उनके पिता जी की मेहनत और मां का बलिदान आज भी उन्हें प्रेरणा देता है.
First published: May 3, 2020, 6:08 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading