Birthday Special: भूपेन हजारिका के वो गाने जो सदियों तक याद रहेंगे

फिल्म 'गांधी टू हिटलर' में महात्मा गांधी के भजन 'वैष्णव जन' में अपनी आवाज देने वाले हजारिका को दक्षिण एशिया के सांस्कृतिक दूतों में से एक माना जाता है.

Akashdeep Shukla | News18Hindi
Updated: September 9, 2018, 11:23 AM IST
Birthday Special: भूपेन हजारिका के वो गाने जो सदियों तक याद रहेंगे
फिल्म 'गांधी टू हिटलर' में महात्मा गांधी के भजन 'वैष्णव जन' में अपनी आवाज देने वाले हजारिका को दक्षिण एशिया के सांस्कृतिक दूतों में से एक माना जाता है.
Akashdeep Shukla | News18Hindi
Updated: September 9, 2018, 11:23 AM IST
आज मशहूर गायक, लेखक, संगीतकार और कवि भूपेन हजारिका का जन्मदिन है. भूपेन हजारिका एक ऐसे कलाकार थे, जिनकी कला और आवाज सिर्फ फिल्मी दुनिया के लिए ही नहीं थी, बल्कि वो अपने गीतों, संगीत और कविताओं से समाज के उस हिस्से की कहानी भी कहते थे जिसे अक्सर भुला दिया जाता है.

फिल्म 'गांधी टू हिटलर' में महात्मा गांधी के भजन 'वैष्णव जन' में अपनी आवाज देने वाले हजारिका को दक्षिण एशिया के सांस्कृतिक दूतों में से एक माना जाता है. उन्होंने न सिर्फ गीत लिखे बल्कि कविता लेखन, पत्रकारिता, गायन, फिल्म निर्माण समेत अनेक क्षेत्रों में काम किया. ब्रह्मपुत्र के कवि भूपेन हजारिका को 1992 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार से नवाजा गया. वहीं 2001 में उन्हें पद्म भूषण से सम्मानित किया गया. हजारिका देश के ऐसे विलक्षण कलाकार थे, जो अपने गीत खुद लिखते थे, संगीतबद्ध करते थे और गाते भी थे.

हिंदी-भोजपुरी नहीं इस हरियाणवी गाने ने मचा दी है धूम, 15 करोड़ लोग देख चुके हैं ये VIDEO



साल 2000 में आई शाहरुख़ खान और माधुरी दीक्षित की फिल्म 'गज गामिनी' का टाइटल ट्रैक भूपेन हजारिका ने गाया था. फिल्म एम एफ हुसैन के डायरेक्शन में बनी थी.






1993 में आई फिल्म 'रुदाली' कल्पना लाजमी के डायरेक्शन में बनी थी. फिल्म राजस्थान के एक छोटे से गांव की एक लड़की, जिसका नाम शनिचरी के इर्द गिर्द घूमती है. इस फिल्म का गाना 'दिल हूम हूम करे' भूपेन हजारिका ने गाया है.
Loading...






असम और पूर्वोत्तर को एक साथ लाने के लिए नदियों से जुड़े कई गाने, सांस्कृतिक चीज़ें लेकर आए. इन सबके चलते उन्हें ‘बार्ड ऑफ लोइत’ (लोइत का चारण) भी कहा गया. लोइत असम में ब्रह्मपुत्र को कहते हैं. अमेरिका में रहने के दौरान हजारिका जाने-माने अश्वेत गायक पॉल रोबसन के संपर्क में आए, जिनके गाने ओल्ड मैन रिवर को उन्होंने हिंदी में 'ओ गंगा बहती हो' का रूप दिया.





फिल्म रुदाली का गाना 'बीते न बीते ने रैना' आशा भोंसले ने गाया है और लिखा गुलज़ार ने हैं. वहीं म्यूजिक दिया भूपेन हजारिका ने, तो ऐसे में आज जब आशा भोंसले और भूपेन हजारिका का जन्मदिन है तो ये गाना याद करना तो बनता है.





ये भी पढ़ें: सोशल मीडिया पर छाई निरहुआ-आम्रपाली की जोड़ी, VIDEO VIRAL
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर