#BiggBoss11: शिल्पा शिंदे, जिन्होंने किचन में खड़े खड़े शो जीता!

शिल्पा शिंदे जो ज्यादातर शो के दौरान किचन में खड़ी नजर आईं
शिल्पा शिंदे जो ज्यादातर शो के दौरान किचन में खड़ी नजर आईं

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2018, 5:02 PM IST
  • Share this:
जब तक आप यह लेख पढ़ेंगे तब तक यह ख़बर आपके लिए पुरानी हो गई होगी कि शिल्पा शिंदे ने बिगबॉस 11 जीत लिया है. वैसे ज्यादातर दर्शकों के लिए यह कोई आश्चर्य की बात नहीं है. शिल्पा शिंदे के प्रशंसकों ने ‘भाभीजी घर पर हैं’ से होते हुए बिग बॉस तक भी उनका पीछा नहीं छोड़ा. हद तो तब हो गई जब सीज़न के आखिरी हफ्तों में से एक में हुई गाने की एक प्रतियोगिता में दर्शकों ने बेहद शानदार गाने के बावजूद हिना खान को पीछे छोड़कर शिंदे को चुना. वैसे यह उन चुनिंदा पलों में से एक था जब शिल्पा अपन किचन को छोड़कर बाहर निकली थीं. आमतौर पर पूरे सीज़न में शिल्पा को किचन में रोटियां बेलते या पराठें सेकते ही देखा गया.

शायद यही बात शिल्पा की जीत को दिलचस्प भी बनाती है कि किचन से बाहर निकले बगैर टीवी की इस लोकप्रिय अदाकारा ने शो जीता. जहां पूरा घर रणनीति बनाता दिखता था, वहीं एक घंटे के शो में शिल्पा किचन के अलावा कहीं और नज़र नहीं आती थीं. उन्हें लेकर घरवालों की शिकायत भी रहती थी कि वह टास्क में कम और किचन में ज्यादा दिलचस्पी लेती दिखाई देती हैं. मज़ेदार बात यह भी है कि पूरे सीज़न शिल्पा के हाथ एक बार भी कप्तानी नहीं लगी. न ही वह कप्तानी के लिए कोशिश करती नज़र आईं. बस उन्होंने अपने किचन की कप्तानी किसी को नहीं दी. किसी भी खेल को जीतने के कई तरीके हो सकते हैं, शिल्पा ने दिखाया कि चीखकर नहीं, कभी कभी शांत रहकर भी अपनी बात लोगों तक पहुंचाई जा सकती है. अगर शिल्पा ने यह सब कुछ रणनीति के तहत भी किया है, तो यह भी गेम को खेलने का एक अलग तरीका सामने रखता है. बिग बॉस के पहले सीज़न में राहुल रॉय भी इसी खामोशी को अपनाते नजर आए थे. राखी सावंत से लेकर कश्मीरा शाह और बॉबी डार्लिंग की चीख पुकार के बीच राहुल ने अपना संयम बनाए रखा और शो के विजेता बने.

एक और मज़ेदार बात यह भी थी कि शो के दौरान शिल्पा के जितने भी झगड़े या दोस्ती हुई वो सब कुछ किचन में हुआ. शिल्पा से लड़ने के लिए भी लोग किचन में आते थे और उनसे दोबारा हाथ मिलाने के लिए भी किचन में ही आते थे. शिल्पा अपने किचन को छोड़कर किसी के पास नहीं जाती थीं. यह कह सकते हैं कि किचन में शिल्पा को एक कम्फर्ट ज़ोन मिल गया था. बिग बॉस क्या, किसी भी अनजान जगह जब हमें ज्यादा वक्त बिताना पड़ता है तो हम भी एक ऐसा कोना ढूंढ लेते हैं जहां हमें सुकून मिले. किसी के लिए वो बिस्तर हो सकता है तो किसी के लिए गार्डन का कोई कोना, शिल्पा के लिए वो जगह थी घर का किचन.



Shilpa Shinde, BiggBoss11
शिल्पा शिंदे पर टास्क न करने का आरोप भी लगता आया

शो के फायनल टॉप 4 में पहुंचे पुनीश शर्मा ने कहा था कि शिल्पा की हालत उस हाउसवाइफ के जैसी है, जिसके लिए सबको लगता है कि वो खाना बनाने के अलावा करती ही क्या है. रिएलटी शो में इतनी कड़वी लेकिन सच्ची बात वाकई में तालियों की हक़दार होती है. लेकिन सच तो यह है कि शिल्पा की ही तरह गृहणियां भी उस किचन में सुकून तलाश लेती हैं जिसमें उन्हें कई बार न चाहकर भी ढकेल दिया जाता है. वैसे विज्ञान भी कहता है कि किचन में खाना बनाना मानसिक तनाव को दूर करने में मदद करता है. दूसरों के लिए खाना बनाना सिर्फ एक परोपकारी काम नहीं होता. यह आपके आत्मविश्वास को बढ़ाने में भी मदद करता है. किसी के लिए खाना पकाने से घनिष्ठता बढ़ती है. पानी और खाने की तरह रिश्ते भी हम इंसानों की मूलभूत जरूरत है. और दूसरों के लिए खाना पकाना इसी रिश्तों को गहरा करने में मदद करता है.

वैसे शिल्पा ही नहीं, बिग बॉस के पिछले सीज़न में भी ऐसे प्रतिभागी थे जिन्होंने किचन का दामन नहीं छोड़ा. किचन में कौन रहेगा और कौन नहीं, इसे लेकर पहले के सीज़न में तो बहस भी होती आई है. कहीं न कहीं, प्रतिभागी यह जान जाते थे कि किचन में रहकर आप नॉमिनेट होने से बच सकते हैं. इसके पीछे एक मनोविज्ञान यह भी काम करता है कि जो व्यक्ति आपको खाना खिला रहा है, उसे नॉमिनेट करने से पहले व्यक्ति एक बार सोचता जरूर है. लेकिन इस बार शिल्पा ने किचन पर जिस तरह एकछत्र राज जमाया था, उसे छीनने की कोशिश करता कोई दिखाई नहीं दिया.

शिल्पा का हाथ बंटाने वाले लोग बदलते चले गए, अर्शी और हिना खान ने कुछ दिनों के लिए किचन की बागडोर अपने हाथ में लेने की कोशिश भी की, लेकिन उसमें वह सफल होती नहीं दिखीं. अर्शी जब तक किचन में शिल्पा के साथ रहीं, वह दर्शकों की चेहती बनी रही, जैसे ही उन्होंने किचन और शिल्पा का साथ छोड़ा, उनकी नकारात्मक छवि सामने आई. अब इसे शिल्पा का जादू कहें या किचन का वह आप ही तय करें. शायद भारतीय गृहणियों को 18 लोगों के लिए खाना बनाती शिल्पा के अंदर अपनी छवि दिखाई दी. जिस तरह शिल्पा इस गेम की विजेता हैं, उसी तरह जिंदगी के गेम में यह गृहणियां विजेता साबित होती हैं. अगर वह किचन छोड़ दें तो घर का गेम बिगड़ने में ज्यादा वक्त नहीं लगेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज