जब घर आकर रोया करते थे आमिर खान, फिल्में होने के बाद भी डूब रहा था करियर

आमिर खान अब जल्द ही फिल्म लाल सिंह चड्ढा में नजर आने वाले हैं.
आमिर खान अब जल्द ही फिल्म लाल सिंह चड्ढा में नजर आने वाले हैं.

आमिर खान (Aamir Khan) ने एक ऐसे समय को याद किया है, जब उनका करियर डूब रहा था और वह घर आकर रोते थे. इसके बाद उन्होंने एक फैसला लिया, जिसके बाद उनके करियर में नया उछाल आया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 6, 2020, 7:25 AM IST
  • Share this:
मुंबई. 'मिस्टर परफेक्शनिस्ट' के नाम फेमस बॉलीवुड एक्टर आमिर खान (Aamir Khan) आज भारत के टॉप एक्टर्स में से एक हैं. अपने किरदारों से लोगों के दिलों में छाप छोड़ने वाले आमिर खान ने बॉलीवुड (Bollywood) में एक-दो नहीं बल्कि कई ऐसी फिल्में की, जिसमें उन्होंने अपने किरदारों से लोगों को चौंका दिया. 'कयामत से कयामत तक', 'दिल' ,'तारे जमीन पर', '3 इडियट्स' , 'दंगल' और 'पीके' जैसी बेहतरीन फिल्मों से उन्होंने खुद को बार-बार साबित किया. हाल ही में आमिर बेनेट यूनिवर्सिटी (Bennett university) के दीक्षांत समारोह 2020 में पहुंचे, जहां वह चीफ गेस्ट थे. यहां उन्होंने छात्रों से बहुत सी बातें शेयर की, साथ ही उन्होंने अपने करियर की तुलना एक समय में क्विकसैंड में फंस जाने से की.

आमिर खान (Aamir Khan) ने यहां कहा कि 'कयामत से कयामत तक' के बाद मैंने कहानियों के आधार पर लगभग आठ या नौ फिल्में साइन कीं. उस समय निर्देशक लगभग सभी नए थे. इन फिल्मों ने बमबारी शुरू कर दी और मुझे मीडिया द्वारा 'वन फिल्म वंडर' कहा जाने लगा. उन्होंने कहा, लेकिन मेरा करियर डूब रहा था. ऐसा लगा जैसे मैं किसी जल्दी में हूं. मैं बहुत दुखी था और घर आकर रोया करता था.

उन्होंने बताया कि वह जिन लोगों के साथ काम करना चाहते थे, वे दिलचस्पी नहीं ले रहे थे और उन्होंने महसूस किया कि उन्होंने जो फिल्में की या उस दौर में कर रहे थे, वे अच्छी नहीं थीं. आमिर ने कहा कि 'कयामत से कयामत तक' के पहले दो सालों में मैंने अपने जीवन की सबसे कमजोर अवस्था का अनुभव किया, जिन फिल्मों को मैंने साइन किया था, वे एक के बाद एक रिलीज और फ्लॉप होने लगीं. मैं सोचता था कि मैं अब खत्म हो रहा हूं.



आमिर ने बताया कि उन्होंने फैसला कि कि अब भले करियर खत्म हो जाए, लेकिन तब तक वह किसी फिल्म के लिए साइन नहीं करेंगे जब तक उन्होंने एक महान निर्देशक, महान स्क्रिप्ट और एक महान निर्माता नहीं मिलेगा.
आमिर खान ने बताया कि 44 साल की उम्र में राजकुमार हिरानी की फिल्म '3 इडियट्स' में एक कॉलेज छात्र का रोल किया था. उन्होंने बताया कि जब फिल्म प्रड्यूसर ने उनसे संपर्क किया तो उन्होंने यह सोचा कि वह कॉलेज के छात्र का रोल कैसे कर पाएंगे. आमिर खान ने आगे कहा कि वह फिल्म की मूल विचार 'सफलता के पीछे मत भागो, काबिलियत का पीछा करो' से प्रभावित हुए. वहीं, राजकुमार हिरानी भी जानते थे कि आमिर खान इस रोल के साथ न्याय कर सकते हैं.

आपको बता दें एक इंटरव्यू के दौरान आमिर ने कुछ साल पहले कहा था, उस समय, मुझे लगा कि मैं उन लोगों के साथ काम कर रहा हूं, जिनसे मैं जुड़ नहीं सकता. मुझे नहीं पता था कि उस स्थिति से कैसे बाहर निकला जाए. मैंने कुछ फिल्मों के लिए प्रतिबद्ध किया था, इसलिए मैं उन्हें करने से नहीं चूका. मैंने वो फिल्में कीं, लेकिन मैं दुखी था. उस दर्दनाक समय में, मैंने अपने आप से एक फिल्म करने का वादा किया था, जब तक कि मैं संतुष्ट (स्क्रिप्ट के साथ) नहीं हो जाता, फिल्म नहीं करूंगा.

आमिर खान के वर्कफ्रंट की बात करें तो अपनी अपकमिंग फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' में नजर आएंगे. फिल्म की टीम शूटिंग के लिए इस समय दिल्ली में है. फिल्म में आमिर खान के साथ करीना कपूर दिखाई देंगी. वहीं, साउथ इंडस्ट्री के ऐक्टर विजय सेतुपति फिल्म 'लाल सिंह चड्ढा' से बॉलीवुड डेब्यू करने जा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज