लेखक का आरोप, महा-घमंडी है बॉलीवुड का ये मशहूर अभिनेता!

दबंग सीरीज़ लिख चुके लेखक दिलीप शुक्ला का आरोप है कि सौरभ शुक्ला भले ही बड़े कलाकार हों लेकिन वो घमंड में डूबे हुए हैं और दूसरों का सम्मान नहीं करते.

शिखा धारीवाल | News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 11:40 AM IST
लेखक का आरोप, महा-घमंडी है बॉलीवुड का ये मशहूर अभिनेता!
अभिनेता सौरभ शुक्ला पर लगा है घमंडी होने का आरोप. लेखक का कहना है कि सम्मान नहीं करते
शिखा धारीवाल | News18Hindi
Updated: July 15, 2019, 11:40 AM IST
सलमान खान स्टारर फ़िल्म दबंग सीरीज़ की कहानी लिखने वाले दिलीप शुक्ला ने ही फ़िल्म 'फ़ैमिली ऑफ़ ठाकुरगंज' की कहानी भी लिखी है. 'फ़ैमिली ऑफ़ ठाकुरगंज' में ज़िमी शेरगिल, माही गिल के अलावा सौरभ शुक्ला, सुप्रिया पिलगांवकर, मनोज पाहवा, पवन मल्होत्रा जैसे मंझे हुए कलाकार भी अहम किरदार में हैं. लेकिन इस फिल्म के साथ सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है.

हाल ही में इस फ़िल्म के सेट पर सौरभ शुक्ला और लेखक दिलीप शुक्ला की तनातनी की ख़बर सामने आई थी. प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार जाने माने अभिनेता सौरभ शुक्ला ने लेखक दिलीप शुक्ला से नाराज़ होकर ख़ुद को कई घंटों तक वेनिटी वैन (कलाकार की बस) में बंद कर लिया था और फिर फ़िल्म टीम के समझाने और मनाने के बाद ही सौरभ शुक्ला वेनिटी से बाहर शूट के लिए निकले थे. लेकिन माना जा रहा है कि अभी भी राइटर और एक्टर के बीच सब ठीक नही है दोनों में कोल्ड वार अभी भी चल रही है.

घमंडी हैं सौरभ शुक्ला
इस झगड़े को लेकर न्यूज़ 18 हिंदी ने लेखक दिलीप शुक्ला से बातचीत की तो राइटर दिलीप पूरा मामला बताते हुए कहते हैं कि सौरभ शुक्ला बेहद टेलेंटेड अभिनेता और राइटर हैं लेकिन उनके अंदर अहंकार और ईगो रावण की तरह कूट कूट कर भरा है.

दिलीप के अनुसार,"दिक्कत यह है कि जब भी कोई एक्टर अपने आपको विशेष समझने लगता है, औरों से अलग, सबसे महत्वपूर्ण और खुद को बेहद खास समझने लगता है तब टीम वर्क और मिल जुलकर काम करने में ईगो टकराने लगता है. सौरभ शुक्ला के साथ भी यही बात है. उन्हें लगता है कि वह जो कर रहे है बस वही सही है. लेकिन ऐसे में फिल्म का राइटर होने के नाते मुझे अपनी कहानी और किरदार डांवा-डोल नजर आते और हमारे क्रिएटिव बातों पर झगड़े होते थे.

लेखक दिलीप शुक्ला कहते हैं, "मैं सनी देओल अमरीश पुरी, सलमान खान सहित तमाम दिग्गज स्टार्स के साथ काम कर चुका हूँ और मेरा कभी किसी एक्टर से झगड़ा नहीं रहा है. मैं पिछले कई सालों से सलमान खान के साथ काम कर रहा हू, 'दबंग सीरीज' लिख रहा हूं."

दिलीप कहते हैं कि सौरभ शुक्ला के साथ काम करने पर पता चला कि वह किस क़दर ईगो में डूबे हुए हैं और जब कोई सामने से ही डिसरिस्पेक्ट (अपमान) करे तो क्या किया जाए?
Loading...

फिल्म की मुसीबत



इस पूरे मामले से फिल्म 'फैमिली ऑफ ठाकुरगंज' एक अलग मुसीबत में दिखाई देती है. दिलीप के अनुसार फिल्म बनाते समय सभी मिलकर काम करते हैं, लेखक और अभिनेता का रिश्ता बहुत ही दोस्ती भरा होता है तभी एक बेहतर किरदार उभरकर सामने आता है.

जिस तरह एक एक्टर को अच्छी कहानी, उम्दा किरदार, शानदार डायलॉग की जरूरत होती है, ठीक उसी तरह एक राइटर को भी एक अच्छे एक्टर की जरूरत पड़ती है ताकि वह उनकी लिखी कहानी, डायलॉग में जान फूंक सके, अच्छी तरह निभा पाए, राइटर के शब्दों के साथ न्याय कर पाए और बस इसी कोशिश में सौरभ शुक्ला के साथ मेरे सेट पर क्रिएटिव मतभेद हुआ करते थे.

इस मामले से पहले फिल्म 'फ़ैमिली ऑफ़ ठाकुरगंज' के निर्माता और निर्देशक के बीच झगड़े का मामला सामने आया था. ख़बर यह भी थी कि डायरेक्टर और प्रोड्यूसर के बीच तनातनी भी राइटर दिलीप शुक्ला के चलते ही हुई थी जिसकी वजह से डायरेक्टर फ़िल्म के ट्रेलर लॉन्च तक में शामिल नही हुए थे.

हालांकि बाद में बात बढ़ती देख प्रोड्यूसर ने डायरेक्टर से पैचअप कर लिया था. ख़ैर ऐसे में देखने वाली बात यह होगी कि इतनी परेशानी और झगड़ों के बीच में बनी इस फ़िल्म की रिलीज़ से पहले और क्या क्या कहानियां सुर्ख़िया बटोरती हैं.

ये भी पढ़ें - बॉलीवुड एक्टर का दर्द 'सरदार' होने का हुआ नुकसान!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 15, 2019, 11:18 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...