राजनीतिक कारणों से हो रहा है बायोपिक में एक्टर विजय सेतुपति का विरोध: मुथैया मुरलीधरन

तमिल सुपरस्टार विजय सेतुपति और क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन.
तमिल सुपरस्टार विजय सेतुपति और क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन.

तमिल एक्टर विजय सेतुपति (Tamil actor Vijay Sethupathi) बायोपिक से अपने करियर को फिर से शुरू कर रहे हैं. राजनीतिक पार्टियों ने गुरुवार को आरोप लगाया कि मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) ने तमिलों से विश्वासघात किया इसलिए सेतुपति को इसमें काम नहीं करना चाहिए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 17, 2020, 6:12 AM IST
  • Share this:
चेन्नई. श्रीलंकाई क्रिकेटर मुथैया मुरलीधरन (Muttiah Muralitharan) ने शुक्रवार को कहा कि उनकी जिंदगी पर प्रस्तावित बायोपिक ‘800’ सिर्फ उनके खेल की उपलब्धियां के बारे में हैं. मुरलीधरन ने कहा कि, उन्होंने देश में दशकों के लंबे संघर्ष के बावजूद ऐसा किया.

उन्होंने इस बात पर नाराजगी व्यक्त की कि उन पर तमिलों के खिलाफ होने का आरोप लगाया जा रहा है और कहा कि यह राजनीतिक कारणों और अज्ञानता के कारण ही है. तमिलनाडु के एक्टर विजय सेतुपति (Tamil actor Vijay Sethupathi) बायोपिक से अपने करियर को फिर से शुरू कर रहे हैं. कुछ राजनीतिक पार्टियों ने गुरुवार को आरोप लगाया कि मुरलीधरन ने तमिलों से विश्वासघात किया इसलिए सेतुपति को इसमें काम नहीं करना चाहिए.

मुरलीधरन ने कहा कि उन्होंने कभी भी मासूम लोगों के मारे जाने का समर्थन नहीं किया. उन्होंने बयान जारी कर कहा कि वह श्रीलंकाई गृहयुद्ध के दर्द को समझते हैं और उनके परिवार ने श्रीलंका में अपनी यात्रा ‘कूली’ के तौर पर की थी. उन्होंने कहा, ‘हम भी गृहयुद्ध से काफी प्रभावित रहे हैं.’



कुछ राजनीतिक पार्टियों ने गुरुवार को आरोप लगाया कि मुरलीधरन ने तमिलों से विश्वासघात किया इसलिए सेतुपति को इसमें काम नहीं करना चाहिए. एमडीएमके के महासचिव वाइको (Vaiko) ने आरोप लगाया कि मुरलीधरन को पूरी दुनिया में तमिल जाति से विश्वासघात करने के लिए जाना जाता है जिन्होंने श्रीलंकाई गृहयुद्ध के दौरान वर्ष 2009 में तत्कालीन राष्ट्रपति महिंदा राजपक्षे का समर्थन किया था.



राज्यसभा सदस्य वाइको ने कहा कि जब श्रीलंका में अपने बच्चों के लापता होने पर तमिल माएं भूख हड़ताल कर रही थीं तब मुरीधरन ने इसे नाटक कह उन्हें अपमानित किया था. उन्होंने तमिल एक्टर से इस फिल्म में काम करने से बचने की अपील की जिसमें कथित तौर पर विश्वासघाती का महिमांडन किया जाएगा.

पट्टाली मक्कली काती (पीएमके) के संस्थापक एस. रामादॉस ने कहा कि सेतुपति द्वारा मुरलीधरन की भूमिका निभाने की खबर ‘स्तब्ध’ करने वाली है. उन्होंने कहा, ‘एक्टर को लापरवाही से विश्वासघात के इतिहास का समर्थन नहीं करना चाहिए.’ रामादॉस ने आरोप लगाया कि क्रिकेटर मुरलीधरन तमिलों के विश्वासघाती और राजपक्षे बंधुओं के विश्वासपात्र थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज