दाभोलकर हत्याकांड में 7 साल बाद भी CBI असली मास्टरमाइंड तक नहीं पहुंच पाई: उर्मिला मातोंडकर

दाभोलकर हत्याकांड में 7 साल बाद भी CBI असली मास्टरमाइंड तक नहीं पहुंच पाई: उर्मिला मातोंडकर
उर्मिला मातोंडकर (फाइल फोटो)

एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) ने गुरुवार को कहा कि नरेंद्र दाभोलकर (Narendra Dabholkar) हत्याकांड में 7 साल बाद भी सीबीआई (CBI) असली असली मास्टरमाइंड को नहीं पकड़ पाई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 20, 2020, 8:31 PM IST
  • Share this:
मुंबई. बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत की जांच अब सीबीआई (CBI) के हाथों पहुंच गई है. वहीं, एक्ट्रेस उर्मिला मातोंडकर (Urmila Matondkar) ने गुरुवार को कहा कि नरेंद्र दाभोलकर (Narendra Dabholkar) हत्याकांड में 7 साल बाद भी सीबीआई (CBI) असली असली मास्टरमाइंड को नहीं पकड़ पाई है. बता दें कि सामाजिक कार्यकर्ता और महाराष्ट्र अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के संस्थापक नरेंद्र दाभोलकर की 20 अगस्त 2013 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.

कांग्रेस की तरफ से नॉर्थ मुंबई की सीट से लोकसभा 2019 का चुनाव लड़ चुकीं उर्मिला मातोंडकर ने ट्वीट कर लिखा, ''अब इस बात को सात साल हो चुके हैं जब नरेंद्र दाभोलकर को बेरहमी से मार दिया गया था. सीबीआई असली मास्टरमाइंड तक नहीं पहुंच पाई है. लेकिन ऐसे लोगों की आवाज अब और तेज गूंजेगी. आज मैं उन सभी महान लोगों को याद करती हूं जिनकी ऐसे ही हत्या कर दी गई थी- गोविंद पानसरे, एम कलबुर्गी और गौरी लंकेश.''


कौन थे दाभोलकर
गौरतलब है कि नरेंद्र अच्युत दाभोलकर पेशे से डॉक्टर थे. अंधविश्वास के खिलाफ समाज को जागृत करने का काम भी करते थे. इस क्रम में उन्होंने 1989 में महाराष्ट्र अंधविश्वास निर्मूलन समिति भी बनाई थी जिसके वो अध्यक्ष थे. सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में काम कर रहे दाभोलकर कई बार जान से मारने की धमकी मिल चुकी थी. 20 अगस्त 2013  को पुणे में जब वो मॉर्निंग वॉक पर निकले थे तब उनकी गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज