सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में आई दरार, बाहरी बनाम अंदरूनी की छिड़ गई है जंग

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद बॉलीवुड में आई दरार, बाहरी बनाम अंदरूनी की छिड़ गई है जंग
सुशांत सिंह राजपूत.

सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत ने फिल्म जगत को आत्मचिंतन करने पर मजबूर कर दिया है कि बाहरी लोगों को इस उद्योग में पैर जमाने में इतना संघर्ष क्यों करना पड़ता है, जिस पर कई निर्देशकों और अभिनेताओं का कथित रूप से नियंत्रण है.

  • Share this:
नयी दिल्ली. अपने आपको एक परिवार बताने वाले बॉलीवुड में अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद एक ऐसी दरार आ गई है, जिसे भरने में शायद काफी लंबा समय लग जाए. भाई-भतीजावाद, बाहरी-आतंरिक सदस्य से लेकर मुख्यधारा बनाम इंडी सिनेमा और यहां होने वाली कथित प्रताड़ना अब बहस के गर्म मुद्दे बन गए हैं और इसको लेकर हर कोई एक-दूसरे पर उंगली उठा रहा है तथा कीचड़ उछाल रहा है.

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत अपने बांद्रा स्थित अपार्टमेंट में 14 जून को मृत मिले थे. इसके बाद से ही बॉलीवुड जगत का हिस्सा बन पाने के लिए उनके समक्ष पेश हो रही परेशानियों और इस कारण उनके तनाव में होने की खबर हर जगह छा गईं. राजपूत (34) की मौत के सिलसिले में मुम्बई पुलिस अभी तक आदित्य चोपड़ा, संजय लीला भंसााली जैसे बड़े निर्माताओं सहित कई हस्तियां से पूछताछ कर चुके है.

यह मुद्दा सोशल मीडिया पर तो इतना गर्म है कि अदाकारा कंगना रनौत ने चोपड़ा, करण जौहर सहित कई बॉलीवुड हस्तियों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. वहीं तापसी पन्नू, स्वरा भासकर, अनुराग कश्यप और रणवीर शौरी भी अपने ट्विटर पर खुलकर अपने विचार व्यक्त कर रहे हैं. फिल्मकार अनुभव सिन्हा ने तो बॉलीवुड छोड़ने की घोषणा कर ट्विटर पर अपने नाम के आगे ‘नॉट बॉलीवुड’ लिख दिया. उन्होंने ट्वीट किया,‘‘ बहुत हुआ. मैं बॉलीवुड से इस्तीफा दे रहा हूं’.’’



इसके जवाब में निर्देशक सुधीर मिश्रा ने कहा, ‘‘ बॉलीवुड छोड़ो. भारतीय सिनेमा की ओर चलें. भारत से जुड़ी कहानी बयां करें. वहीं फिल्म ‘अलीगढ़’ के निर्देशक हंसल मेहता ने कहा, ‘‘ छोड़ दिया.’’ सुशांत की मौत के बाद से ही कंगना ने बॉलीवुड में कथित भाई-भतीजावाद और कार्टेल की कड़ी आलोचना की एवं आरोप लगाया कि सुशांत सिंह राजपूत इसी के शिकार हुए. कंगना ने कई बड़े बैनर और प्रोडक्शन हाउस पर सवाल उठाए थे.
इसके जवाब में पूजा भट्ट ने ट्वीट किया कि उनके परिवार के प्रोडक्शन हाउस को इस बहस में खींचा जा रहा है जिसने 2006 में आई अनुराग बसु की "गैंगस्टर" में कंगना रनौत को लॉन्च किया था. घटना ने एक बार फिर से फिल्म उद्योग में बाहरी बनाम अंदरूनी के विवाद को सामने ला दिया. राजपूत की मौत ने फिल्म जगत को आत्मचिंतन करने पर मजबूर कर दिया है कि बाहरी लोगों को इस उद्योग में पैर जमाने में इतना संघर्ष क्यों करना पड़ता है, जिस पर कई निर्देशकों और अभिनेताओं का कथित रूप से नियंत्रण है.

फिल्म निर्माता शेखर कपूर ने अपने हालिया पोस्ट में संकेत दिया कि सुशांत सिंह राजपूत को उद्योग के लोगों ने अकेला छोड़ दिया था. निर्देशक कपूर और अभिनेता राजपूत अपनी महत्वाकांक्षी फिल्म ‘‘पानी’’ के लिए साथ काम कर रहे थे, लेकिन बाद में फिल्म का काम रुक गया.

राजपूत की जासूसी पर आधारित फिल्म ‘‘डिटेक्टिव ब्योमकेश बख्शी’’ के निर्देशक दिबाकर बनर्जी ने बताया कि कैसे बाहरी लोगों को उद्योग में नाम कमाने के लिए दोगुनी प्रतिभा दिखानी पड़ती है और कड़ी मेहनत करनी पड़ती है.

अभिनेता रणवीर शौरी ने बिना किसी का नाम लिए, बॉलीवुड के उन शक्तिशाली लोगों पर सवाल खड़ा किया जो हर तरफ से बॉलीवुड को प्रभावित करते हैं.

शौरी ने कहा, ‘‘किसी को इस कदम के लिए दोषी ठहराना उचित नहीं होगा जो उन्होंने खुद उठाया है. वह एक उच्च दांव वाला खेल खेल रहे थे, जिसमें कोई या तो जीतता है या सब खो देता है. लेकिन बॉलीवुड के स्वयंभू द्वारपाल के बारे में कुछ कहना होगा.’’

कई लोगों ने बॉलीवुड में ताकतवर लोगों को बढ़ावा देने में मीडिया की भूमिका पर भी सवाल उठाए. अभिनेत्री रवीना टंडन ने कुछ कहानी साझा की कैसे वर्षों पहले झूठी कहानियां रची गईं. कैसे लोगों का करियर बर्बाद कर दिया जाता है.

अभिनेता अमोल पाराशर ने कहा कि राजपूत की मौत ने उनके जैसे युवा अभिनेताओं को हिलाकर रख दिया है, जिन्होंने परिवार से दूर रहकर बॉलीवुड में नाम कमाने के लिए काफी संघर्ष किया है. वहीं अभिनेता शेखर सुमन ने सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले की सीबीआई जांच की पुरजोर वकालत की. उन्होंने भी बॉलीवुड में भाई-भतीजावाद को लेकर सवाल उठाए.

उन्होंने कहा कि उनके और शाहरुख खान के अलावा, सुशांत ही ऐसे थे जिन्होंने टीवी कलाकार के रूप में शुरुआत की और उसके बाद बड़े पर्दे पर सफलता हासिल की. एक स्वाभिमानी व्यक्ति, जो दिग्गजों के अहंकार के आगे झुकने में विश्वास नहीं करता था, वह कई लोगों की आंखों में खटकने लगा होगा.

सुशांत की मित्र और अदाकारा रिया चक्रवर्ती ने एक ट्वीट कर सुशांत की मौत के मामले की सीबीआई जांच की मांग की. उन्होंने कहा कि सीबीआई जांच से पता चल सकेगा कि ऐसा कौन सा दबाव था जिसकी वजह से सुशांत ने आत्महत्या जैसा कदम उठाया. राजपूत के करीबी मित्र एवं निर्देशक छाबड़ा की फिल्म ‘दिल बेचारा’ सुशांत सिंह राजपूत की आखिरी फिल्म है, जो कोविड-19 के कारण बड़े पर्दे की जगह ‘हॉटस्टार’ पर रिलीज हो चुकी है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading