नेपोटिज्म पर बोलीं आलिया की मम्मी सोनी राजदान, 'जो ऐसा बोल रहे हैं क्या वो नहीं करेंगे'

नेपोटिज्म की बहस पर आलिया को ट्रोल किया जा रहा था.
नेपोटिज्म की बहस पर आलिया को ट्रोल किया जा रहा था.

सोनी राजदान (Soni Razdan) ने हाल ही में नेपोटिज्म (Nepotism) को लेकर तीखे वार किए. उन्होंने कहा कि आज जो भाई-भतीजावाद के बारे में बोल रहे हैं उनके खुद के भी एक दिन बच्चे होंगे और अगर वे इंडस्ट्री में शामिल होना चाहते हैं तो क्या वे उन्हें ऐसा करने से रोकेंगे?'

  • Share this:
मुंबई. सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के निधन के बाद बॉलीवुड इंडस्ट्री में एक नई बहस शुरू हुई. बॉलीवुड (Bollywood) में शुरू हुई नेपोटिज्म (Nepotism) की बहस के बाद इंडस्ट्री दो गुटों में बंट गयी है. कुछ सेलेब्स हैं, जो बॉलीवुड में हो रहे भाई-भतीजावाद पर जमकर बहस कर रहे हैं. नेपोटिज्म को लेकर उठ रहे सवालों के बीच और लगातार हो रही ट्रोलिंग को लेकर कई बॉलीवुड सितारों ने अपना सोशल अकाउंट बंद दिया है या तो कमेंट ऑप्शन हटा दिया. इस लिस्ट में आलिया भट्ट (Alia Bhatt) का नाम भी शामिल है. अब बॉलीवुड नेपोटिज्म को लेकर आलिया भट्ट की मां सोनी राजदान (Soni Razdan) सामने आई हैं.

सोनी राजदान (Soni Razdan) ने हाल ही में नेपोटिज्म (Nepotism) को लेकर तीखे वार किए. सोनी राजदान ने फिल्म निर्माता हंसल मेहता के उन सवालों का जवाब दिया है, जिसमें उन्होंने नेपोटिज्म को लेकर ट्विटर पर कई पोस्ट किये थे. सोनी राजदान ने ट्वीट किया, 'किसी चर्चित शख्सियत का बेटा या बेटी होने पर लोगों को आपसे उम्मीदें भी बहुत ज्यादा होती हैं. यह भी है कि आज जो भाई-भतीजावाद के बारे में बोल रहे हैं उनके खुद के भी एक दिन बच्चे होंगे और अगर वे इंडस्ट्री में शामिल होना चाहते हैं तो क्या वे उन्हें ऐसा करने से रोकेंगे?'


आलिया की मम्मी सोनी राजदान ने हंसल मेहता की बात का सपोर्ट करते हुए लिखा, 'कुछ लोगों को निशाना बनाते हुए बहस को छोटा कर दिया गया है. भाई-भतीजावाद खत्म होने से पहले हमें पाखंड और निहित स्वार्थ प्रचार को कम करने की दिशा में काम करना चाहिए. बुली करना बंद होना चाहिए.'



हाल ही में फिल्म निर्देशक हंसल मेहता ने ट्वीट कर लिखा था कि नेपोटिज्म की इस बहस को और ज्यादा व्यापक होना चाहिए. मेरिट सबसे ज्यादा देखी जाती है. मेरे बेटे को दरवाजे के भीतर कदम रखने दिया गया मेरी वजह से. और क्यों नहीं. लेकिन वो सर्वश्रेष्ठ काम का अहम हिस्सा रहा है क्योंकि वो टैलेंटेड है, डिसिप्लिन है, मेहनती है और उसमें भी मुझे जैसे गुण हैं. इसलिए नहीं कि वह मेरा बेटा है.

ये भी पढ़ें :- सुशांत ने जब TV पर देखी थी अपनी सुपरहिट फिल्म 'धोनी', सामने आया UNSEEN वीडियो

हंसल ने आगे लिखा कि वो फिल्में इसलिए नहीं बनाएगा क्योंकि मैं उन्हें प्रोड्यूस करूंगा. बल्कि इसलिए बनाएगा क्योंकि वो डिजर्व करता है. वो अपना करियर सिर्फ तब बना पाएगा अगर वो सर्वाइव कर सकेगा. अंततः वह खुद अपना करियर बनाने वाला है न कि उसके पिता. मेरी छाया का उसको बड़ा फायदा हो सकता है तो सबसे बड़ा नुकसान भी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज