एंग्जाइटी और डिप्रेशन का शिकार थीं अनुराग कश्यप की बेटी आलिया कश्यप, शेयर किए डरा देने वाले अनुभव

फोटो साभार: @AaliyahKashyap

फोटो साभार: @AaliyahKashyap

आलिया कश्यप (Aaliyah Kashyap) इन दिनों एंग्जाइटी और डिप्रेशन वाला वीडियो खूब वायरल हो रहा है. उन्होंने वीडियो में बताया कि जब वह एंग्जाइटी और डिप्रेशन से गुजर रही थीं तब उनके दिमाग में अजीब-अजीब ख्याल आते थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 24, 2021, 6:49 PM IST
  • Share this:
मुंबई. फिल्ममेकर अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) की बेटी आलिया कश्यप (Aaliyah Kashyap) सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं. अपने यूट्यूब वीडियोज (Youtube Videos) के जरिए अक्सर चर्चाओं में रहने वाली आलिया का इन दिनों एंग्जाइटी और डिप्रेशन वाला वीडियो खूब वायरल हो रहा है. उन्होंने वीडियो में बताया कि जब वह एंग्जाइटी और डिप्रेशन से गुजर रही थीं तब उनके दिमाग में अजीब-अजीब ख्याल आते थे.

आलिया कश्यप (Aaliyah Kashyap) ने अपनी कहानी सुनाने के पीछे का कारण बताया है. उन्होंने कहा मैंने अपनी कहानी इसलिए बताई है कि अगर किसी और को भी उनके जैसा महसूस हो रहा है तो उन्हें प्रोफेशनल हेल्प लेनी चाहिए इससे काफी फर्क पड़ता है.

जब नवंबर में आलिया कोविड पॉजिटिव हुईं थी वह घर में क्वारंटीन थी, उस समय उनके मानसिक स्वास्थ्य पर सबसे ज्यादा असर बड़ा था. आलिया ने बताया तब से मैं इससे बाहर नहीं आ पा रही हूं. जो मेरे लिए बहुत अजीब है क्योंकि ज्यादातर मेरे लिए इससे बाहर आना आसान होता था. मैं थेरेपी लेती हूं या काउंसलिंग सेशन के जरिए एक महीने या कुछ हफ्तों के लिए ठीक हो जाती हूं. लेकिन नवंबर के बाद मेरे लिए यह बहुत मुश्किल हो रहा है.

Youtube Video

आलिया ने आगे बताया मैं बहुत लो महसूस कर रही हूं, हमेशा रोती रहती हूं और ऐसा लगता है जैसे मेरी जिदंगी का कोई उद्देश्य नहीं है जैसे कि मैं इस दुनिया में रहना नहीं चाहती हूं. मुझे लगता है मैं बाकि लोगों पर बोझ हूं और मेरे दिमाग में ये सारी नेगेटिव बातें सच नहीं हैं लेकिन ऐसा महसूस होता है.

आलिया ने वीडियो में बताया कि बीते साल दिसंबर में वह पूरी तरह से टूट गई थीं और कई पैनिक अटैक आने के बाद मुझे अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उस समय मेरे माता-पिता भी मेरे पास आ गए थे क्योंकि उन्हें मेरी चिंता हो रही थी. आलिया ने आगे बताया जनवरी तक उनके माता-पिता उनके साथ ही यूएस में रहे. उसके बाद उन्हें अच्छा महसूस होने लगा था लेकिन मार्च के आखिर आने तक फिर पहले जैसा महसूस होने लगा था. मैं अपने बेड से नहीं उठती थी, नहाती नहीं थी, मुश्किल से कुछ खाती थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज