दादा साहेब फाल्‍के पुरस्‍कार लेने से पहले अमिताभ बच्‍चन के मन में था ये बड़ा संदेह, देखें वीडियो

दादा साहेब फाल्‍के पुरस्‍कार लेने से पहले अमिताभ बच्‍चन के मन में था ये बड़ा संदेह, देखें वीडियो
अमिताभ बच्‍चन को मिला दादा साहेब फालके पुरस्‍कार.

अमिताभ बच्‍चन (Amitabh bachchan) को रविवार को राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) ने दादा साहेब फाल्‍के पुरस्‍कार (Dada Saheb Phalke Award) से सम्‍मानित किया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 29, 2019, 6:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. सदी के महानायक अमिताभ बच्‍चन (Amitabh Bachchan) को रविवार को राष्‍ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) ने हिंदी सिनेमा के सर्वोच्‍च सम्‍मान दादा साहेब फाल्‍के पुरस्‍कार (Dada Saheb Phalke Award) से सम्‍मानित किया. इस पुरस्‍कार को लेने के बाद अमिताभ बच्‍चन ने भारत सरकार, राष्‍ट्रीय फिल्‍म पुरस्‍कार के ज्‍यूरी सदस्‍यों और देश की जनता का आभार प्रकट किया. लेकिन दादा साहेब फाल्‍के पुरस्‍कार की घोषणा के वक्‍त अमिताभ बच्‍चन के मन में संदेह था. इसके बारे में उन्‍होंने अपने धन्‍यवाद भाषण में इसका जिक्र किया.

अमिताभ बच्‍चन ने इस दौरान कहा, 'मैं भारत सरकार, सूचना प्रसारण मंत्रालय और ज्‍यूरी के सदस्‍यों का आभार प्रकट करना चाहता हूं कि आपने मुझे दादा साहेब फाल्‍के पुरस्‍कार के योग्‍य समझा.'

 





अमिताभ बच्‍चन ने अपने संदेह के बारे में मजाकिया अंदाज में कहा, 'जब इस पुरस्‍कार की घोषणा हुई तो मेरे मन में एक संदेह उठा कि क्‍या यह संकेत है मेरे लिए कि भाई साहब बहुत काम कर लिया आपने अब घर बैठिए. लेकिन मैं कहना चाहूंगा कि अभी भी थोड़ा बहुत काम बाकी है, जिसे मुझे पूरा करना है आगे भी काम का अवसर मिलेगा.'



इस पुरस्कार का नाम धुंडीराज गोविंद फाल्के के नाम पर रखा गया है जिन्हें भारतीय सिनेमा का जनक कहा जाता है. यह पुरस्कार 1969 में शुरू हुआ था. इस पुरस्कार के तहत एक स्वर्ण कमल, एक शॉल और 10,00000 रुपये नकद प्रदान किए जाते हैं. यह पुरस्कार दिवंगत अभिनेता विनोद खन्ना को 2017 में दिया गया था.

यह भी पढ़ें: अमिताभ बच्‍चन को मिला दादा साहेब फाल्‍के पुरस्‍कार, बोले- मुझे अभी काम करना है
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading