NFA में नहीं पहुंच सके बीमार अमिताभ बच्चन अब 29 दिसंबर को मिलेगा दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड

NFA में नहीं पहुंच सके बीमार अमिताभ बच्चन अब 29 दिसंबर को मिलेगा दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड
अमिताभ बच्चन को 50वां दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड प्रदान किया जाएगा.

अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) ने रविवार को ट्वीट कर ये जानकारी दी थी तबीयत खराब होने के कारण वह 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में शिरकत नहीं कर पाएंगे, क्योंकि उनके डॉक्टर ने ट्रेवलिंग के लिए मना किया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 23, 2019, 2:50 PM IST
  • Share this:
मुंबई: खराब सेहत की वजह से बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) दिल्ली के विज्ञान भवन में हुए 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार (66th National Films Awards) में शिरकत नहीं कर सके, आज उन्हें फिल्म उद्योग में उनके योगदान के लिए सिनेमा क्षेत्र के सर्वोच्च सम्मान दादा साहब फाल्के पुरस्कार (Dadasaheb Phalke Award) से सम्मानित किया जाना था, लेकिन अब इस तारीख को आगे बढ़ा दिया गया है. सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने घोषणा की कि आगामी रविवार यानि 29 दिसंबर अमिताभ बच्चन को 50वां दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड प्रदान किया जाएगा.

समारोह के समापन के दौरान सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने घोषणा करते हुए बताया कि 29 दिसंबर को विजेताओं के साथ राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद मुलाकात करेंगे. इसी दौरान सदी के महानायक अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) को भी 50वां दादा साहेब फाल्के अवॉर्ड प्रदान किया जाएगा.

आपको बता दें कि 77 साल के अमिताभ बच्चन ने रविवार को ट्वीट कर ये जानकारी दी थी तबीयत खराब होने के कारण वह 66वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार समारोह में शिरकत नहीं कर पाएंगे, क्योंकि उनके डॉक्टर ने ट्रेवलिंग के लिए मना किया है. उन्होंने लिखा था, 'अमिताभ बच्चन ने ट्वीट किया, 'बुखार है... ! यात्रा की इजाजत नहीं है... दिल्ली में कल राष्ट्रीय पुरस्कार में शामिल नहीं हो पाऊंगा... बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है... मुझे अफसोस है...'



 
दादा साहेब फाल्के पुरस्कार का नाम धुंडीराज गोविंद फाल्के के नाम पर रखा गया है, जिन्हें भारतीय सिनेमा का जनक कहा जाता है. यह पुरस्कार 1969 में शुरू हुआ था. इस पुरस्कार के तहत एक स्वर्ण कमल, एक शॉल और 10,00000 रुपये नकद प्रदान किए जाते हैं.यह पुरस्कार दिवंगत अभिनेता विनोद खन्ना को 2017 में दिया गया था. परंपरागत रूप से राष्ट्रीय पुरस्कार विजेताओं को राष्ट्रपति द्वारा दिया जाता है. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद पुरस्कार विजेताओं के साथ चाय पार्टी पर 29 को करेंगे. 


आपको बता दें कि अक्षय कुमार की फिल्म पैडमैन को बेस्ट सोशल फिल्म के राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया. इसके साथ ही साउथ एक्ट्रेस कीर्ति सुरेश को 'महानती' फिल्म के लिए बेस्ट एक्ट्रेस, बेस्ट एक्टर कैटिगरी में आयुष्मान खुराना को अंधाधुन और विक्की कौशल को उरी: द सर्जिकल स्ट्राइक के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया.

बाल कलाकारों की कैटेगरी में इस बार मास्टर रोहित, मास्टर समीप सिंह रनौत, मास्टर ताल्हा अरशद और मास्टर श्रीनिवास को नेशनल अवॉर्ड से सम्मानित किया गया. कृति महेश मिद्या को 'पद्मावत' के 'घूमर गाने' के लिए बेस्ट कोरियोग्राफर का अवॉर्ड दिया गया. ये गाना एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण पर फिल्माया गया है. इस फिल्म को संजय लीला भंसाली ने डायरेक्ट किया है. वहीं, कन्नड़ फिल्म KGF को स्टंट कोरियोग्राफी में बेस्ट एक्शन डायरेक्शन अवॉर्ड मिला. स्टंट कोरियोग्राफर विक्रम मोरे को KGF के लिए अवॉर्ड मिला.

ये भी पढ़ें: अमिताभ बच्चन की तबीयत खराब, National Film Awards में नहीं होंगे शामिल
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading