अंगद बेदी और नेहा धूपिया PHOTOS में नहीं दिखाते अपनी बेटी का चेहरा, एक्टर ने बताई वजह

अंगद बेदी और नेहा धूपिया की बेटी मेहर का जन्म 2018 में हुआ था (फोटो साभारः Instagram/nehadhupia)

अंगद बेदी और नेहा धूपिया की बेटी मेहर का जन्म 2018 में हुआ था (फोटो साभारः Instagram/nehadhupia)

मशहूर कपल अंगद बेदी (Angad Bedi) और नेहा धूपिया (Neha Dhupia) सोशल मीडिया पर अपनी बेटी के साथ जो भी फोटो शेयर करते हैं, उसमें उनकी बेटी मेहर (Meher) का चेहरा छिपा रहता है. अब एक्टर अंगद ने इसकी वजह बताई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 17, 2021, 7:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बॉ़लीवुड (Bollywood) के मशहूर कपल अंगद बेदी (Angad Bedi) और नेहा धूपिया (Neha Dhupia) अपने फैंस के साथ अपनी जिंदगी के तमाम किस्से शेयर करते हैं. ये अपनी फोटोज और वीडियो के जरिए ऐसा करते हैं. वे अपने परिवार की प्यारी-प्यारी फोटोज भी शेयर करते हैं. इन फोटोज में कपल की बेटी भी नजर आती है. अगर आपने गौर किया हो, तो किसी भी फोटो में आपको इस कपल की बेटी का चेहरा नहीं दिखेगा. फैंस लंबे समय से इसकी वजह जानना चाह रहे थे. अब एक्टर ने ऐसा करने के पीछे की वजह बताई है.

नेहा और अंगद की बेटी का नाम है- मेहर. इनकी बेटी का जन्म 2018 में हुआ था. अब अंगद ने फोटोज में बेटी का चेहरा न दिखाने की वजह बताई है. उन्होंने बताया है कि वे फिल्म स्क्रूटनी से अपनी बच्ची को बचाए रखना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि, 'मुझसे फैंस रिक्वेस्ट करते हैं कि वे मेरी बेटी का चेहरा देखना चाहते हैं. लेकिन उसकी अपनी एक आईडेंटिटी है. अभी वह सिर्फ दो साल की है, जब वह 6 साल की हो जाए और हमसे पूछे कि हमने उसकी फोटोज हर जगह क्यों डाल रखी है?'

(फोटो साभारः Instagram/angadbedi)


वे आगे कहते हैं, 'हम बस उसे सुरक्षित रखना चाहते हैं. अगर वह फ्यूचर में चाहे तो अपनी फोटोज खुद शेयर कर सके. हम इस बारे में सवाल उठाने वाले कोई भी नहीं हैं. जब तक वे इन चीजों को लेकर पक्का नहीं होतीं, तब तक हम उसका चेहरा छिपाना चाहेंगे. एक दूसरी स्थिति में फोटोज को परखा जाता है, जो किसी एक तरह की छाप छोड़ती है. इससे बहुत प्रेशर होता है. हम उसे इससे दूर रखना चाहते हैं.'
इस पर आगे बात करते हुए अंगद कहते हैं, 'बड़ी होने पर अगर उनकी बेटी इस प्रेशर को लेना चाहेगी तो वह बिल्कुल इसके लिए फ्री है. हर किसी को अपने परिवार की सुरक्षा करनी चाहिए. मैं भी अपनी क्षमता के हिसाब से ऐसा करने की कोशिश करता हूं, लेकिन हमें समझना होगा कि हम ऐसे डिमांडिंग प्रोफेशन का हिस्सा हैं, जिसमें आपको मीडिया स्क्रूटनी का शिकार होना पड़ता है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज