सुशांत सिंह राजपूत से ब्रेकअप के सदमे से उबरने में अंकिता लोखंडे को लगे थे ढाई साल, बताई दिल की बात

अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत का 2016 में हुआ था ब्रेकअप (फोटोः Instagram/lokhandeankita/sushantsinghrajput)

अंकिता लोखंडे और सुशांत सिंह राजपूत का 2016 में हुआ था ब्रेकअप (फोटोः Instagram/lokhandeankita/sushantsinghrajput)

अंकिता लोखंडे (Ankita Lokhande) का 2016 में सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) से ब्रेकअप हुआ था. अब सुशांत के निधन के 9 महीने बाद अंकिता ने ब्रेकअप (Ankita Lokhande breakup) के बाद की अपनी जिंदगी के बारे में बताया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 22, 2021, 6:43 PM IST
  • Share this:
नई दिल्लीः दिवंगत एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) और अंकिता लोखंडे (Ankita Lokhande) काफी लंबे समय तक रिलेशनशिप में रहे थे. 2016 में उनका ब्रेकअप हुआ था. खबरों में बताया गया था कि वे तब शादी के बंधन में बंधने वाले थे. हालांकि, ऐसा नहीं हुआ और दोनों अपने-अपने रास्तों पर चल पड़े. अब सुशांत की मृत्यु के नौ महीने बाद, अंकिता ने उनके साथ ब्रेकअप (Ankita Lokhande breakup) के बारे में बात की है. उन्होंने बताया कि सुशांत से ब्रेकअप के बाद उन्हें क्या कुछ झेलना पड़ा और कैसे वह इससे उभरीं.

अपने ब्रेकअप के पीछे के कारण के बारे में बात करते हुए, अंकिता ने बॉलीवुड बबल को बताया, 'मुझे लगा कि ऐसे समय में मौन रहना एक खासियत है, ताकि रिश्ते की पवित्रता पर असर न पड़े. मैं कोई ऐसी इनसान नहीं हूं जो अपने निजी जीवन का लोगों के सामने तमाशा बना दे. हां, लोगों ने मुझे गलत समझा. लोग आज मेरे पास आते हैं और मुझसे कहते हैं कि तुमने सुशांत को छोड़ा है' वे ऐसा कैसे जानते हैं? मेरी कहानी कोई नहीं जानता.'

अंकिता ने आगे कहा, 'मैं यहां किसी को दोषी नहीं ठहरा रही हूं. सुशांत ने अपनी पसंद को बहुत स्पष्ट कर लिया था, वह अपने करियर में आगे बढ़ना चाहते थे और उन्होंने यह चुना और आगे बढ़े. लेकिन ढाई साल तक मैंने काफी चीजों का सामना किया. 'मेरी मानसिक स्थिति ऐसी नहीं थी जिसमें मैं सिर्फ काम करती रहूं. मैं उस तरह की इनसान नहीं हूं जो आसानी से आगे बढ़ कर काम करना शुरू कर सके. इसलिए, मेरे लिए यह बहुत मुश्किल था, लेकिन मेरे परिवार ने मेरा बहुत साथ दिया.'

अंकिता ने आगे और कहा, 'मैं किसी को दोष नहीं दे रही हूं. उसने अपना रास्ता चुना, लेकिन मेरा तरीका अलग था. मैं प्यार, स्नेह के लिए तरस रही थी. मैंने उसे आगे बढ़ने का पूरा अधिकार दिया, लेकिन मैं अपने हालातों से बुरी तरह जूझ रही थी. खैर, मैं उससे बेहद मजबूती के साथ बाहर आ पाई. मुझे लगा कि सब कुछ खत्म हो गया है, लेकिन यह मेरे लिए यह शुरुआत थी और मैंने अच्छी चीजों के साथ शुरुआत की.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज