अंशुला कपूर को मिली अस्पताल से छुट्टी, बोनी कपूर ने बेटी की सेहत की दी जानकारी

अर्जुन और अंशुला का ऑनलाइन सेलिब्रिटी फंडरेजिंग प्लेटफॉर्म 'फैनकाइंड' महामारी में लोगों की मदद कर रहा है (फोटो साभारः Instagram/anshulakapoor)

अर्जुन और अंशुला का ऑनलाइन सेलिब्रिटी फंडरेजिंग प्लेटफॉर्म 'फैनकाइंड' महामारी में लोगों की मदद कर रहा है (फोटो साभारः Instagram/anshulakapoor)

बोनी कपूर (Boney Kapoor) की बेटी अंशुला कपूर (Anshula Kapoor) की तबीयत बिगड़ने पर उन्हें अस्पताल में एडमिट किया गया था. अब उनकी तबीयत ठीक है और उन्हें अस्पताल से छुट्टी भी मिल गई है.

  • Share this:

नई दिल्लीः बोनी कपूर (Boney Kapoor) की बेटी अंशुला कपूर (Anshula Kapoor) की तबीयत अचानक बिगड़ने के बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया था. वे मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में एडमिट थीं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अब अंशुला की तबीयत ठीक है. उन्हें अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है. बता दें कि 5 जून को तबियत बिगड़ने पर अंशुला को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अब बोनी कपूर ने बेटी के स्वास्थ्य की जानकारी दी है.

बोनी कपूर ने बताया कि उनकी बेटी अंशुला की तबीयत ठीक है. उन्होंने स्पॉटबॉय से बातचीत के दौरान कहा कि वे घर आ गई हैं और पूरी तरह स्वस्थ हैं. जिन्हें उनकी फिक्र थी, वे अब तनाव न लें.' बोनी का कहना है कि अंशुला अस्पताल में नियमित जांच और टेस्ट के लिए गई थीं. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, अंशुला शुगर और ब्लड की जांच कराने के लिए अस्पताल पहुंची थीं.

जाह्नवी कपूर भी अपनी बहन का हालचाल लेने के लिए अस्पताल गई थीं. कल रविवार को उन्हें हिंदुजा अस्पताल पहुंचते देखा गया था, जिसकी फोटोज सोशल मीडिया पर वायरल हुई थीं. अर्जुन कपूर (Arjun Kapoor) अपनी बहन अंशुला से बहुत करीब हैं.

(फोटो साभारः Instagram/anshulakapoor)

अर्जुन ने एक इंटरव्यू में अपनी बहन को लेकर कई खुलासे किए थे. उन्होंने कहा था, 'अंशुला ने मेरे लिए बहुत सेक्रिफाइज दिए हैं. वे अमेरिका से पढ़ने के बाद वापस आईं, ताकि मुझे अकेलापन महसूस न हो. उन्होंने घर की जिम्मेदारी उठा रखी है, ताकि मैं बेफिक्र होकर काम कर सकूं. पैरेंट्स के बिना रहना बहुत कठिन होता है.'

डीएनए की रिपोर्ट्स के अनुसार, अर्जुन और अंशुला का ऑनलाइन सेलिब्रिटी फंडरेजिंग प्लेटफॉर्म 'फैनकाइंड' महामारी में लोगों की मदद कर रहा है. भाई-बहन ने 1 करोड़ रुपये से अधिक जुटाए हैं और 30,000 से ज्यादा लोगों और उनके परिवारों को मदद पहुंचाई है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज