अभिनेता अनुपम खेर ने दी राहुल गांधी को सलाह, ज़ीरो से करें शुरूआत!

न्यूज़ 18 इंडिया के शो 'आर-पार' में अनुपम खेर ने बताया कि कैसे बॉलीवुड का राजनीतिक बंटवारा हो चुका है और राहुल गांधी में क्या कमियां है.

News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 12:36 PM IST
News18Hindi
Updated: May 16, 2019, 12:36 PM IST
न्यूज़ 18 इंडिया के शो पर आए अभिनेता अनुपम खेर इन दिनों अपनी पत्नी किरण खेर के लिए चुनाव प्रचार में व्यस्त नज़र आए हैं. अनुपम खुद को 'मोदीभक्त' मानते हैं और खुले आम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी नीतियों का समर्थन करते हैं. न्यूज़ 18 इंडिया के एंकर अमीश देवगन के साथ इस बातचीत के दौरान अनुपम खेर ने कई मुद्दों पर अपनी राय रखी और चुनाव के दौरान बॉलीवुड में फिल्मी अभिनेताओं के दो अलग अलग खेमे बन जाने को भी विस्तार से समझाया.

हिन्दू क्रांतिकारी हो सकता है लेकिन आतंकी नहीं : अनुपम खेर



अनुपम खेर ने नरेंद्र मोदी का समर्थन करते हुए कहा कि वो बतौर नागरिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व से प्रभावित हैं और राहुल गांधी को वो पीएम उम्मीदवार के लिए सही कैंडिडेट नहीं मानते.

अनुपम खेर ने कहा,"कांग्रेस 15 सालों से उन्हें (राहुल गांधी) अपना नेता बनाने की कोशिश कर रही है लेकिन वो लगातार विफल होते आए हैं. मुझे लगता है कि राहुल गांधी बतौर इंसान अच्छे हैं लेकिन प्रधानमंत्री बनने के लिए वो सही नहीं हैं. "

राहुल को सलाह

अनुपम खेर का मानना है कि साल 2014 में ही बॉलीवुड का बंटवारा हो गया था


इस विशेष बातचीत के दौरान राहुल गांधी को सलाह देते हुए अनुपम खेर ने कहा कि राहुल को चमचों ने घेर लिया है और उन्हें सही सलाह नहीं मिल रही है.राहुल को सलाह देते हुए वो कहते हैं,"राहुल को अगर कुछ करना है तो उन्हें ज़ीरो से शुरूआत करनी चाहिए. ज़मीन पर जाकर काम करना चाहिए और इस देश का, जो बदल चुका है, मिज़ाज समझना चाहिए."

बॉलीवुड का बंटवारा

बॉलीवुड में जहां कुछ अभिनेता नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते नज़र आए वहीं कुछ कलाकार लगातार भाजपा और नरेंद्र मोदी का विरोध कर रहे हैं. अनुपम का मानना है कि जब कोई एक व्यक्ति काम करता है तो उसका विरोध करने वाले कई लोग पैदा हो ही जाते हैं.

अनुपम ने कहा की बॉलीवुड का बंटवारा तो 2014 में ही हो गया था और ये सब असहिष्णुता और इनटोलेरेंस जैसे मुद्दे इसके बाद ही पैदा हुए.

वर्तमान में अपनी पत्नी के लिए बतौर सेलेब्रिटी प्रचारक काम कर रहे अनुपम खेर अपनी थिएटर सीरीज़ 'कुछ भी हो सकता है' को अमेरिका में प्रसारित कर रहे हैं और उन्हें इससे समर्थन भी मिला है.

ये भी पढ़ें : सनी देओल का साथ देने क्यों नहीं पहुंचे भाई बॉबी?
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

News18 चुनाव टूलबार

चुनाव टूलबार