लाइव टीवी

विरोध-प्रदर्शन के चलते राजस्‍थान के ज्‍यादातर थिएटरों से हटाई गई अर्जुन कपूर की 'पानीपत'

भाषा
Updated: December 10, 2019, 6:58 PM IST
विरोध-प्रदर्शन के चलते राजस्‍थान के ज्‍यादातर थिएटरों से हटाई गई अर्जुन कपूर की 'पानीपत'
पानीपत का राजस्‍थान में हो रहा है विरोध.

बॉलीवुड फिल्‍म 'पानीपत' (Panipat) में भरतपुर के तत्कालीन महाराजा सूरजमल के किरदार को गलत तरीके से दिखाए जाने का आरोप लगा है. राजस्‍थान (Rajasthan) में लोग फिल्‍म का विरोध कर रहे हैं.

  • Share this:
जयपुर. एक्‍टर अर्जुन कपूर (Arjun Kapoor) और कृति सेनन (Kriti Sanon) की फिल्‍म पानीपत (Panipat Movie) का राजस्‍थान (Rajasthan) में अब भी विरोध जारी है. इसका असर फिल्‍म के कारोबार पर पड़ना शुरू हो गया है. 'पानीपत' (Panipat) में भरतपुर के तत्कालीन महाराजा सूरजमल के किरदार को गलत तरीके से दिखाए जाने के विरोध के चलते इसे राजस्थान के उन आधे से अधिक सिनेमाघरों से इसे हटा लिया गया है जहां यह दिखाई जा रही थी.

सिनेमाघरों के प्रबंधन ने फिल्म के विरोध के चलते सिनेमाघरों में फिल्म को परदे से उतारने का निर्णय किया है. राजस्थान फिल्म ट्रेड एंड प्रोमोशन काउंसिल के महासचिव राज बंसल ने मंगलवार को कहा कि आधे से अधिक सिनेमाघरों में इस फिल्म का प्रदर्शन रोक दिया गया है. राजधानी जयपुर सहित अन्य स्थानों बीकानेर, नागौर, श्रीगंगानगर, जोधपुर, हनुमानगढ़ में फिल्म को कल से परदे से हटा लिया गया है.



उन्होंने बताया कि राज्य के 55-60 सिनेमाघरों में यह फिल्म प्रदर्शित हो रही थी. बंसल ने बताया कि इस पूरे मुद्दे पर सेंसर बोर्ड की भूमिका महत्वपूर्ण है और सेंसर बोर्ड के पास प्रमाणीकरण से पूर्व केन्द्र को एक कमेटी बनाकर फिल्म की स्क्रीनिंग करवानी चाहिए.

बंसल ने कहा कि सिनेमाघरों में सेंसर बोर्ड द्वारा पास की गई फिल्म का केवल प्रदर्शन किया जा रहा है. इस तरह के विवादों से व्यापार प्रभावित होता है और माहौल खराब होता है. इसी बीच जयपुर के एक सिनेमाघर से फिल्म हटने के बावजूद कुछ लोगों ने प्रदर्शन किया.

यह भी पढ़ें: ब्रेकअप को लेकर नेहा कक्‍कड़ का बड़ा खुलासा, कहा- मैं मरना चाहती थी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए जयपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 10, 2019, 6:53 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर