'आर्टिकल 15' की रिलीज पर डायरेक्टर अनुभव सिन्हा ने लिखा ओपन लैटर, कही ये बात...

'आर्टिकल 15' की रिलीज पर डायरेक्टर अनुभव सिन्हा ने लिखा ओपन लैटर, कही ये बात...
फिल्म के पोस्टर से ली गई तस्वीर

यह फिल्म आयुष्मान खुराना अभिनीत इन्वेस्टिगेटिव ड्रामा है जो प्रत्येक व्यक्ति से समाज में बदलाव की मांग करती है और सभी से एक्शन लेने के लिए गुहार लगाती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: June 26, 2019, 10:13 PM IST
  • Share this:
अनुभव सिन्हा ने ट्विटर पर ब्राह्मण समाज के प्रोटेस्ट कर रहे लोगों को विश्वास दिलाते हुए एक स्टेटमेंट जारी किया है कि उनकी फ़िल्म में किसी ब्राह्मण का निरादर नहीं किया गया है. शेयर किए गए इस नोट में अनुभव ने यह भी कहा है कि मेरी हत्या या मेरी बहन और माँ के ख़िलाफ़ अपशब्द कहने से यह बात नहीं सुलझाई जा सकती और साथ ही करणी सेना और ब्राह्मण समाज को आश्वस्त किया है कि फ़िल्म में कही भी ब्राह्मण समाज का निरादर या बुरी भावना से कुछ नही दर्शाया गया.

अनुभव सिन्हा ने लिखा कि देश के सभी ब्राह्मण संगठनों को मेरा नमस्कार. साथ ही करणी सेना को भी. साथ ही मैं इस पत्र के माध्यम से आप के उन सभी सदस्यों को क्षमा भी करता हूं जिन्होंने असहमति और विरोध की मर्यादाओं का उल्लंघन किया. मेरी हत्या या मेरी बहनों और मेरी दिवंगत मां के बलात्कार की धमकियों से संवाद नहीं हो सकता. मेरा विश्वास है कि आप में से अधिकतर लोग इस प्रकार के विरोध का समर्थन नहीं करेंगे.





अनुभव ने आगे लिखा कि ये भविष्य में भी नहीं होना चाहिए. हम एक समाज हैं और हमें एक दूसरे का सम्मान रखना चाहिए. मेरी आगामी फिल्म भी इसी संदर्भ में ही है. सबसे पहले मैं आपको ये समझा दूं कि किसी भी फिल्म का ट्रेलर उसकी पूरी कहानी नहीं कह पाता है. संभव नहीं है. फिल्म के बहुत से टुकड़ों को जोड़कर एक आकर्षक कहानी बताने का प्रयास होता है. भविष्य में भी किसी ट्रेलर से पूरी फिल्म को न आंकें.





उन्होंने लिखा कि कोई भी फिल्म किसी भी समाज का निरादर करने का प्रयास करेगी ऐसी सम्भावना कम है. बहुत कम है. ये बात मैं अपने तमाम फिल्मकार साथियों की तरफ से भी कह रहा हूं. उनसे पूछे बिना पर मैं उन सबको तीस सालों से जानता हूं. ऐसा बहुत मुश्किल है. आप के अनुमान पर आधारित विरोध से न सिर्फ आपका समय नष्ट होता है बल्कि हमारा भी. आपका समय समाज कल्याण में व्यय होना चाहिए जैसा कि होता भी होगा मेरा पूरा विश्वास है.

अब फिल्म आर्टिकल 15 की बात करते हैं. मेरा विश्वास करें फिल्म में ब्राह्मण समाज का कोई निरादर नहीं किया गया है. आपको जानकार हर्ष होगा कि फिल्म के बनाए जाने में मेरे कई ब्राह्मण साथी भी हैं कई कलाकार भी. कोई कारण नहीं है कि ब्राह्मणों का निरादर किया जाए. वैसे मेरी पत्नी भी ब्राह्मण हैं सो मेरे पुत्र के अस्तित्व में भी ब्राह्मण समाते हैं. पढ़िए ये पूरा नोट...



गौरतलब है कि यह फिल्म आयुष्मान खुराना अभिनीत इन्वेस्टिगेटिव ड्रामा है जो प्रत्येक व्यक्ति से समाज में बदलाव की मांग करती है और सभी से एक्शन लेने के लिए गुहार लगाती है. हाल ही में रिलीज किए गए 'आर्टिकल 15' के इमोशनल और हार्ड-हीटिंग ट्रेलर ने अपनी सामाजिक रूप से संचालित कहानी के साथ दर्शकों को मोहित कर दिया है. इस ट्रेलर को काफी तारीफें मिल रही हैं.

वहीं फिल्म में आयुष्मान के अलावा ईशा तलवार, एम नसार, मनोज पाहवा, सयानी गुप्ता, कुमुद मिश्रा और मोहम्मद जीशान अयूब भी नज़र आएंगे. 'आर्टिकल 15' अनुभव सिन्हा और ज़ी स्टूडियोज़ द्वारा निर्देशित और निर्मित है और 28 जून को रिलीज के लिए तैयार है.

यह भी पढ़ें- संसद में पीएम नरेंद्र मोदी ने पढ़ा शेर, जावेद अख्तर ने दे दी ये नसीहत
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading