Home /News /entertainment /

अशोक कुमार का था रामायण से गहरा कनेक्शन, निभाई थी ये अहम भूमिका

अशोक कुमार का था रामायण से गहरा कनेक्शन, निभाई थी ये अहम भूमिका

कोलकाता से वकालत पढ़े अशोक को फिल्में देखना बहुत पसंद था.

कोलकाता से वकालत पढ़े अशोक को फिल्में देखना बहुत पसंद था.

रामायण में बिना किसी किरदार को निभाए अशोक कुमार (Ashok Kumar)ने जो जानकारी दी . वो जानकारी लोगों के बेहद अहम थी, शो की शुरूआत में उन्होंने रामायण के महत्व और अर्थ को बेहद सरल शब्दों में समझाया दिया.

    मुंबई- लॉकडाउन (LockDown) में लोगों को घरों में ही रोकने के लिए सरकार हर मुमकिन कोशिश करने में लगी है. रामायण (Ramayan) पुराने दौर का वो सीरियल है, जिसको देखने के लिए लोग घर में लॉकडाउन हो जाया करते थे और टीवी के आगे हाथ जोड़कर बैठ जाते थे. रामायण का निर्माण और निर्देशन हिंदी सिनेमा के वेटरन फिल्ममेकर रामानंद सागर ने किया था. रामायण के नाम दुनिया में सबसे अधिक देखे जाने वाले टीवी शो का भी रिकॉर्ड है.  टीवी पर आने वाली इस रामायण में भगवान राम, सीता और लक्ष्मण के किरदार में दिखाई देने वाले एक्टर्स के साथ ही बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर रहे अशोक कुमार (Ashok Kumar) ने भी बहुत बेहद अहम भूमिका निभाई है.

    रामायण में बिना किसी किरदार को निभाए अशोक कुमार (Ashok Kumar) ने जो जानकारी दी . वो जानकारी लोगों के बेहद अहम थी. दरअसल, अशोक कुमार ने दर्शकों को शो की शुरूआत में रामायण के महत्व और अर्थ को बेहद सरल शब्दों में समझा दिया है और उन्हें रामायण से जुड़ी कई बातों से अवगत भी कराया.

    कर्तव्य, त्याग और प्रेम के आदर्श
    उन्होंने बताया गोस्वामी तुलसी दास ने जब रामायण अपनी प्रदेशिक भाषा अवधी में लिखी थी तो उस पर बहुत विवाद हुआ. लेकिन, गोस्वामी तुलसी दास ने अपना फैसला नहीं बदला क्योंकि उन्हें विश्वास था कि रामायण की कहानी आम इंसानों तक पहुंचनी चाहिए ताकि उसमें जो कर्तव्य, त्याग और प्रेम के आदर्श दिए गए हैं, उनसे एक आम इंसान को भी जिंदगी का सही मार्गदर्शन मिल सके.

    Ramayana, DD National, Ramayan released today on doordarshan, Ramayan trending on twitter, Ramayan watching photos tending on social media, Ramanand Sagar Ramayan, tv, entertainment, रामायण, डीडी नेशनल, दूरदर्शन पर आज रिलीज हुई रामायण, ट्विटर पर ट्रेंडिंग रामायण, सोशल मीडिया पर रामायण वायरल, रामानंद सागर रामायण, टीवी, मनोरंजन

    धार्मिक ग्रंथ होने के साथ ही सांस्कृतिक दस्तावेज
    एक्टर अशोक कुमार ने रामायण के बारे में बताया कि ये एक धार्मिक ग्रंथ होने के साथ ही सांस्कृतिक दस्तावेज है. ये रंग, नस्ल, मुल्क और जाति की सीमाओं को पार करके आम इंसानों के दिलों पर इतना गहरा प्रभाव डालती है कि हर आदमी रोजमर्रा की जिंदगी में इसकी शिक्षा और तालीम से फायदा उठा सकता है. यही कारण है कि संसार की करीब-करीब हर भाषा में इसका अनुवाद हो चुका है.

    विदेश में मिला रामायण को सम्मान
    जर्मनी, फ्रांस, इंग्लैंड, रूस, चीन, फ्रांस, थाईलैंड, इंडोनेशिया आदि में उतना ही सम्मान मिला है, जितना भारत में. रूस में पिछले कई सालों से रामायण का नाटक स्टेज पर खेला जा रहा है और इंडोनेशिया में रामायण उनकी लोक कथा का प्रमुख विषय है. इसका कारण है कि भारत ने दूसरों की धरती पर कब्जा करने के लिए कभी सेनाएं नहीं भेजीं, फौजें नहीं भेजीं. हमेशा भारत से गए शांति और दोस्ती के दूतों ने उनकी धरती पर नहीं उनके दिलों पर कब्जा किया. उन दूतों के साथ गई भारत के वीरों की कहानियां, और रामायण जैसे महाकाव्य.

    Ramayana, Mahabharat, Prasar Bharati to telecast Ramayan Mahabharat, DD National, tv, entertainment, रामायण, महाभारत, प्रसार भारती टेलीकास्ट करेगा रामायण महाभारत, डीडी नेशनल, टीवी, मनोरंजन

    पंडित जवाहर लाल नेहरू ने अपनी पुस्तक में किया जिक्र
    शो की शुरूआत में अशोक कुमार ने बताया कि उनका असर कितना गहरा था कि पंडित जवाहर लाल नेहरू ने अपनी पुस्तक डिस्कवरी ऑफ इंडिया में फ्रांस के एक इतिहासकार मिशलेट के विचार प्रकट किए हैं, जिसे जीवन के अनुभूतियों से प्यार हो, वो इस महाकाव्य रूपी सरोवर से अपनी प्यास बुझाये, जो सागर से भी विशाल है, जिसमें सूर्य का प्रकाश है, निरंतर शांति, एक अनंत मिठास है.

    विभिन्न भाषा में हुआ अनुवाद
    उन्होंने बताया कि सबसे पहले महर्षि बाल्मिकी ने संस्कृत भाषा में रामायण की रचना की. इसके बाद जब संस्कृत जब बोल-चाल की भाषा नहीं रही तो बार-बार संतों और कवियों ने इसे अपनी-अपनी भाषा में लिखा. दक्षिण की भाषा में रंगनाथ रामायण तेलुगु में लिखी गई. महर्षि कम्बर ने तमिल में, अनुत्छन ने मलयालम में और नागचंद्रन ने कन्नड में इसे लिखा. पूर्व में महाकवि कृतिबास ने से बंगला भाषा में लिखा और कृतिभाषी रामायण उनके जीवनकाल में ही घर-घर में गाई जाने लगी. महाराष्ट्र में संत एकनाथ ने ये गाथा बड़े भावपूर्ण अंदाज में गाई. जैसे की मैंने पहले कहा था कि उत्तर में गोस्वामी तुलसीदास ने इसे अवधी भाषा में लिखा.

    विश्वास जगाती है रामायण
    रामायण की कहानी इंसान के दिल में इस विश्वास, इस यकीन को मजबूत करती है कि जब कभी जुल्म की ताकतें मानवता और इंसानियत को अपने पैरों तले कुचलने की कोशिश करती हैं तो उस वक्त दुनिया के सामने कई ऐसी विभूति सामने आती हैं जो जुल्म का सामना केवल अपनी सच्चाई, आत्मविश्वास और प्यार की भावना से करता है.



    सच्चाई की होती है जीत
    रामायण की परंपरागत कथा इस बात पर आधारित है कि एक समय जब आत्ता शक्तियां रावण के रूप में प्रकट होती हैं, जो अपनी ताकत के नशे में चूर धरती को अपने पैरों तले रौंदता चला जा रहा है. उस समय ऋषि, मुनि, देवतागण भगवान विष्षु के पास गए और वो उनकी पुकार से उनकी सहायता का वचन देते हैं. इस कथा से एक इंसान को चलने की हिम्मत आती है. क्योंकि उसे विश्वास होता है कि आखिर में हमेशा सच्चाई की जीत होगी और सारे जहां में एक ही नारा गूंजता रहेगा और नारा होगा सत्यमेव जयते.

    कोलकाता से वकालत पढ़े अशोक को फिल्में देखना बहुत पसंद था. शुरू में वे एक्टर नहीं डायरेक्टर बनना चाहते थे. क्योंकि उन दिनों एक्टिंग को गंदा पेशा माना जाता था. 1940 के बाद के वर्षों में अशोक कुमार का क्रेज ऐसा था कि वे कभी-कभार ही घर से निकलते थे और जब भी निकलते तो भारी भीड़ जमा हो जाती और ट्रैफिक रुक जाता था. अशोक कुमार का नाम बॉलीवुड के फेमस अभिनेताओं में एक है.

    ये भी पढ़ें- सेल्फ आइसोलेशन में फैमिली प्लानिंग कर रहे हैं प्रियंका चोपड़ा-निक जोनास!

    Tags: Ashok kumar, Bollywood, Ramayan

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर