FLOP हीरो जो अडल्ट फिल्म बनाकर विवादों में छा गया

News18Hindi
Updated: August 28, 2019, 4:54 AM IST
FLOP हीरो जो अडल्ट फिल्म बनाकर विवादों में छा गया
हैप्पी बर्थडे दीपक तिजोरी.

यह अडल्ट फिल्म (Adult Film) मेल स्ट्रिपर्स (Male Strippers) पर बन रही थी. इस वजह से ये अपने कंटेंट के चलते विवादों में रही.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 28, 2019, 4:54 AM IST
  • Share this:
बॉलीवुड के हैंडसम और पॉपुलर साइड एक्टर्स में से एक दीपक तिजोरी (Deepak Tijori) आज यानी 28 अगस्त को अपना बर्थडे मना रहे हैं. हीरो बनने की तमन्ना से बॉलीवुड में कदम रखने वाले दीपक तिजोरी इंडस्ट्री के फेवरेट सपोर्टिंग एक्टर्स में से एक रहे हैं.

कहा जाता है कि दीपक ने काम के मामले में कभी भी किसी प्रोजेक्ट को ना नहीं कहा. उन्होंने अपने करियर की शुरुआत भी बतौर साइड एक्टर की. उनकी पहली फिल्म 'तेरा नाम मेरा नाम' (1988) थी. इस फिल्म में उनका छोटा सा रोल था. इसके बाद भी उन्हें जो किरदार मिले वह उन्हें निभाते आए. इस तरह वह एक सपोर्टिंग एक्टर के तौर पर पहली पसंद बन चुके थे.

deepak tijori

दीपक ने रेडिफ से एक बातचीत में अपने स्ट्रगल के दिनों की कहानी शेयर की थी. उन्होंने कहा, 'करीब तीन साल तक मैं प्रोड्यूसर्स से बात करने के लिए उनके ऑफिस के चक्कर काटता रहा. घंटों वहां बैठा करता था. कुछ छोटे रोल भी मिले. लेकिन वह किसी काम नहीं आए.' दीपक ने बताया कि स्ट्रगल के दिनों में उन्होंने होटल में मैनेजर की नौकरी भी की. लेकिन उन्होंने कभी मेहनत और मुश्किल के आगे घुटने नहीं टेके.

deepak tijori birthday

वह एक सपोर्टिंग एक्टर के तौर पर प्रोड्यूसर्स के फेवरेट रहे. इससे आप ये ना समझिए कि उन्हें हीरो बनने का मौका नहीं मिला. साल 1993 में आई फिल्म 'पहला नशा' में उन्हें ये मौका मिला. इस फिल्म आमिर और शाहरुख भी नजर आए थे. दीपक के अपोजिट पूजा भट्ट और रवीना टंडन थीं. अच्छी खासी स्टार कास्ट होने के बावजूद फिल्म बॉक्स ऑफिस पर पिट गई.

Deepak tijori birthday special
Loading...

हीरो के तौर पर फ्लॉप रहने के बाद उन्होंने डायरेक्शन में कदम रखने की सोची. लेकिन यहां भी उनकी पारी कुछ खास नहीं रही. साल 2003 में बतौर डायरेक्टर नई पारी खेलने की सोची. 'ऊप्स' नाम से उनकी यह अडल्ट फिल्म मेल स्ट्रिपर्स पर बन रही थी. इसके चलते ये अपने कंटेंट के चलते विवादों में रही. फिल्म को सेंसर बोर्ड की तरफ से भी हरी झंडी मिलने में मुश्किलें हुईं. 2.5 करोड़ रुपए के बजट में बनी यह फिल्म हिंदी और अंग्रेजी दो वर्जन में रिलीज हुई. इसके बाद दीपक 'फरेब', 'खामोश...खौफ की रात', 'टॉम डिक एंड हैरी' जैसी फिल्में दीं. लेकिन यहां वह कुछ यादगार काम करने में नाकाम रहे.

यह भी पढ़ें:

भारत आकर मशहूर हुई थी ये लड़की, आज भी पाकिस्तानी सरकार तारीफ करते नहीं थकती

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बॉलीवुड से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 28, 2019, 4:54 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...