अपना शहर चुनें

States

इनसाइडर होने के बाद भी मैंने काम के लिए कई दरवाजे खटखटाए: बॉबी देओल

बॉबी देओल  (फाइल फोटो)
बॉबी देओल (फाइल फोटो)

बॉबी देओल (BOBBY DEOL) के करियर के लिए साल 2020 खास कहा जाएगा, क्योंकि इस साल उन्होने 'क्लास ऑफ 83' और 'आश्रम'(AASHRAM) जैसी हिट दी. दोनों में बॉबी के काम की भी तारीफ की जा रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 27, 2021, 6:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. एक्टर बॉबी देओल (BOBBY DEOL) का आज जन्मदिन है. बॉबी के करियर के लिए साल 2020 खास कहा जाएगा, क्योंकि इस साल उन्होने 'क्लास ऑफ 83' और 'आश्रम'(AASHRAM) जैसी हिट दी. दोनों में बॉबी के काम की भी तारीफ की जा रही है. आपको बता दें कि पिछले कुछ समय से बॉबी स्क्रीन से दूर दिखाई दे रहे थे. दैनिक भास्कर को दिए एक इंटरव्यू में उन्होंने कहा, ‘मुझे काम मिलना बंद हो गया था. मैंने भी अपने करियर में बहुत स्ट्रगल किया है, उतार चढ़ाव देखा है. एक वक्त ऐसा आया था, जब मैं अपने करियर को गिवअप कर चुका था, लेकिन मेरा अनुभव सिर्फ यही सिखाता है कि कभी हार मत मानो. कभी भी स्ट्रगल के सामने घुटने मत टेको. अपने काम के प्रति ईमानदार रहें और बस हार्ड वर्क करते रहें.’

एक्टिंग से ब्रेक लेने के बाद दोबारा आने पर बॉबी ने कहा कि मेरी जिंदगी का टर्निंग प्वाइंट है 'रेस 3'. उसके बाद मुझे अक्षय कुमार के साथ हाउसफुल फिल्म मिल गई. 'रेस 3' के बाद से मुझे कई सारे अच्छे रोल ऑफर होने लगे. फिल्म इंडस्ट्री में छिड़ी इनसाइडर और आउटसाइडर की बहस पर बॉबी का मानना है कि अगर आप इनसाइडर हैं तो पहली फिल्म मिलना मुश्किल नहीं होता, लेकिन उसके बाद आपकी एक्टिंग, आपकी मेहनत ही से ही आपको काम मिलता है. इनसाइडर होने के बाद भी मेरे करियर में खराब समय आया और आज देखिए मैं जहां भी हूं बेहद खुश हूं.

इंटीमेट सीन देने से बचने वाले बॉबी से पूछा गया कि आश्रम वेब सीरीज में ऐसे सीन देना क्या उनके लिए मुश्किल था. उस पर उन्होंने कहा कि क्योंकि यह मेरे किरदार की डिमांड थी इसीलिए मैंने निभाया हालांकि मैं बहुत नर्वस था और अनक​​​​​​​म्फर्टेबल भी था. लेकिन मुझे अपने कैरेक्टर के साथ जस्टिस करना था. इसके अलावा सोशल मीडिया पर ट्रोलर्स को लेकर बॉबी का मानना है कि हर इंसान का अपना ओपिनियन होता है, अपनी सोच होती है. सब आपसे प्यार करेंगें जरूरी नहीं है, इसलिए मैं कभी अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर कमेंट्स नहीं पढ़ता. हालांकि मैं इस चीज का शुक्रगुजार हूं कि मुझे लोगों से प्यार ज्यादा मिला है और नफरत कम.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज